शहरवासियों के लिए अच्छी खबर ,वर्ल्ड हेरीटेज सिटी की सूची में शामिल ग्वालियर

ग्वालियर, । शहरवासियों के लिए अच्छी खबर है, क्योंकि यूनेस्को ने अर्बन लैंडस्केप सिटी प्रोग्राम के तहत ओरछा के साथ ग्वालियर को भी वर्ल्ड हेरिटेज सिटी की सूची में शामिल कर लिया है। यूनेस्को ने इस सूची को इंटरनेट मीडिया पर भी शेयर कर दिया है, जिस पर यूजर्स की सकारात्मक प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं। पर्यटन से जुड़े विशेषज्ञ इसे शहर के लिए बड़ी उपलब्धि मान रहे हैं। उनका कहना है हेरिटेज की सूची में आने के बाद ग्वालियर की शक्ल पूरी तरह से बदल जाएगी। कई विदेशी सैलानी ग्वालियर घूमने को विकल्प में मानते हैं। उनकी मंशा शहर में रुकने के जगह ओरछा पहुंचने की रहती है। अब लग रहा है वे ग्वालियर में भी कुछ दिन बिताना चाहेंगे। इस कार्य को पूरा करने के लिए स्मार्ट सिटी का साथ लिया जाएगा, जो कुछ दिनों पहले ही ग्वालियर अंचल को डिजिटल म्यूजियम की सौगात दे चुका है।

प्लानिंग से हाेगा कामः वर्ल्ड हेरिटेज सिटी की सूची में आने के बाद ग्वालियर को पूरी तरह से व्यवस्थित किया जाएगा। मानसिंह पैलेस, गूजरी महल और सहस्त्रबाहु मंदिर के अलावा अन्य धरोहराें का कैमिकल ट्रीटमेंट किया जाएगा। जिससे दीवारों पर उकेरी गई कला स्पष्ट दिखेगी और उसकी चमक भी बढ़ेगी। धरोहर तक पहुंचने वाले मार्ग को सुगम किया जाएगा। विशेष गार्ड नियुक्त किए जाएंगे, जो सैलानियों के पहुंचते ही उनका भारतीय परंपरानुसार स्वागत करेंगे। हर स्थल पर बैठने की व्यवस्था की जाएगी। सुरक्षा, सावधानी और संबंधित धरोहर की खूबियों के बोर्ड लगाए जाएंगे। शहर में गंदगी का निशान नहीं मिलेगा। विशेषज्ञों का कहना है कि शहर को वर्ल्ड हेरिटेज सिटी की सूची में शामिल करने के लिए मप्र पर्यटन विभाग ने कई बार यूनेस्को को प्रस्ताव भेजा। काफी कोशिशों के बाद इस प्रस्ताव को स्वीकृति मिली। इससे शहर आने वाले सैलानियों की संख्या में वृद्धि होगी आैर स्थानीय युवाओं को रोजगार अपने ही शहर में मिलेगा।

ग्वालियर और ओरछा का प्रदेश में महत्वपूर्ण स्थानः मप्र पर्यटन विभाग पीएस शिव शेखर शुक्ला ने बताया कि यूनेस्को ने ग्वालियर और ओरछा को हेरिटेज सिटी बनाने की स्वीकृति दे दी है। इससे संबंधित जानकारी इंटरनेट मीडिया पर भी शेयर कर दी है। ओरछा और ग्वालियर शहर ऐतिहासिक दृष्टिकोंण से मप्र में महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं। आगे दोनों शहरों की पुरातत्व संपदा को ध्यान में रखते हुए प्लान तैयार किया जाएगा। प्लान को पूरा करने के लिए स्मार्ट सिटी का सहयोग लिया जाएगा। धरोहरों की लोकप्रियता बढ़ाने और इनके संरक्षण के लिए स्थानीय लोगों को भी प्लान से जोड़ा जाएगा।

अमिताभ जैन होंगे छत्तीसगढ़ के नए चीफ सेक्रेटरी पदभार ग्रहण किया

रायपुर,/ भारतीय प्रशासनिक सेवा वर्ष 1989 बेच के अधिकारी श्री अमिताभ जैन ने आज छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव का पदभार ग्रहण किया। श्री जैन राज्य के 12 वें मुख्य सचिव के रूप में अपना पदभार बड़े ही सादगी के साथ ग्रहण किया। राज्य शासन द्वारा निवर्तमान मुख्य सचिव श्री आर.पी. मण्डल के सेवानिवृत्त होने के फलस्वरूप श्री अमिताभ जैन को मुख्य सचिव के पद पर पदस्थ किया गया है। श्री जैन संयुक्त मप्र में नब्बे के दशक में ग्वालियर में बतौर एडिशनल कलेक्टर पदस्थ रहे थे और गोरखी में बैठते थे ।

गौरतलब है कि श्री अमिताभ जैन छत्तीसगढ़ राज्य के है। वे केन्द्र में प्रतिनियुक्ति के दौरान लंदन स्थित भारतीय हाई कमीशन में मिनिस्टर (आर्थिक) भी रह चुके है, जहां उन्होंने भारत और ब्रिटेन के बीच व्यापार और निवेश को बढ़ाने का काम किया। उनकी स्कूल की पढ़ाई बालोद जिले के दल्ली राजहरा से हुई है। अविभाजित मध्यप्रदेश में 11वीं बोर्ड में वे टाॅपर रहे है। रायपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले श्री जैन ने एमटेक किया है। आईएएस के रूप में श्री जैन की पहली पोस्टिंग अविभाजित मध्यप्रदेश के जबलपुर में असिस्टेंट कलेक्टर लैंड रेवेन्यू मजिस्टेट के रूप में हुई। इसके बाद वे नीमच, सरगुजा, ग्वालियर में विभिन्न प्रशासनिक पदों का दायित्व संभाला। इसके बाद श्री जैन राजगढ़, छतरपुर और होशंगाबाद जिले के कलेक्टर रहे। श्री जैन रायपुर जिले के दो बार कलेक्टर रहे। श्री जैन इसके बाद छत्त्तीसगढ़ शासन में सचिव, प्रमुख सचिव और अपर मुख्य सचिव के रूप में विभिन्न महत्वपूर्ण विभागों के दायित्वों का बड़ी ही कुशलता के साथ निर्वहन किया है।

LPG Gas Cylinders Booking: अब एलपीजी सिलेंडर बुक कराना हुआ और भी आसान, WhatsApp पर फॉलो करें ये स्टेप्स 


इंडेन के ग्राहक 7718955555 पर कॉल कर एलपीजी सिलेंडर बुक कर सकते हैं


ग्राहक अब व्हाट्सऐप नंबर के माध्यम से भी अपना सिलेंडर बुक करा सकते हैं


LPG Gas Cylinders Booking: एलपीजी गैस सिलेंडर बुक करने के विकल्प की तलाश कर रहे लोगों के लिए अब अच्छी खबर सामने आई है. अब गैस सिलेंडर बुक कराना और भी आसान हो गया है. नए अपडेट के अनुसार, 1 नवंबर से डिलीवरी और एलपीजी सिलेंडर की बुकिंग का तरीका बदल गया है. अब इंडेन ने गैस रिफिल बुक करने के लिए ग्राहकों के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस के जरिए एक नया नंबर भी प्रदान किया है. इसके साथ ही ग्राहक अब व्हाट्सऐप के माध्यम से भी अपना सिलेंडर बुक करा सकेंगे.

ग्राहक अब बुकिंग के लिए सीधे वितरक या गैस एजेंसी से बात कर सकते हैं. इसके अलावा, कंपनी द्वारा जारी मोबाइल नंबर पर बात कर के भी बुकिंग कर सकते हैं. अगर ऑनलाइन माध्यम से करना चाहते हैं तो (https://iocl.com/Products/Indanegas.aspx) वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन बुकिंग कर सकते हैं. इसके साथ ही कंपनी के व्हाट्सऐप नंबर पर भी मैसेज कर बुकिंग कर सकते हैं. साथ ही इंडेन का ऐप डाउनलोड कर भी सिलेंडर की बुकिंग कर कर सकते हैं.

ऐसे की जा सकती है बुकिंग

यदि आप इंडेन के ग्राहक हैं तो नए नंबर 7718955555 पर कॉल करके एलपीजी सिलेंडर बुक कर सकते हैं. साथ ही अब व्हाट्सऐप के जरिए भी बुकिंग की जा सकती है. व्हाट्सऐप के जरिए बुकिंग करने के लिए आपको व्हाट्सऐप मैसेंजर पर REFILL लिखना होगा और इसे 7588888824 पर भेजना होगा. ध्यान रहे कि आपका व्हाट्सऐप नंबर आपका पंजीकृत मोबाइल नंबर ही हो.

100 स्मार्ट शहरों में डीएसी शुरू करेंगी तेल कंपनियां

एलपीजी गैस सिलेंडर की सुचारू डिलीवरी के लिए डिलीवरी ऑथेंटिकेशन कोड (डीएसी) ग्राहकों को एसएमएस के जरिए भेजा जाएगा. तेल कंपनियां सबसे पहले 100 स्मार्ट शहरों में डीएसी शुरू करेंगी. बता दें कि सिलेंडर की डिलीवरी (OTP) को डिलीवरी पर्सन के साथ शेयर करने के बाद ही की जाती है.

पीएम मोदी, गृह मंत्री शाह के स्पष्ट निर्देश, सिंधिया ने ही भाजपा की सरकार बनाई है : मंत्रिमंडल विस्तार में ध्यान रखा जाए…

मध्यप्रदेश में राजनैतिक उठापटक का बड़ा दौर आज उस समय शुरू हो जाएगा, जब मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार को चौथी बार स्थापित करने वाले राज्यसभा सदस्य ग्वालियर-चंबल के महाराजा ज्योतिरादित्य सिंधिया भोपाल पधार चुके होंगे। मप्र में हाल ही में हुए 28 विधानसभा उप चुनावों के नतीजों ने यह साबित कर दिया है कि 19 सीटों पर भाजपा की बड़ी जीत के पीछे किसी और का नहीं, बल्कि ज्योतिरादित्य सिंधिया का ही नाम सबसे बड़ा कारण था, वरना भाजपा के अपने अंदर ही अंदर 8-10 सीटों से ज्यादा चुनाव जीतने की स्थिति मतदान के एक सप्ताह पहले तक भी निर्मित नहीं हो पाई थी, जबकि ज्योतिरादित्य सिंधिया प्रारंभ से ही कह रहे थे कि हम कम से कम 20 सीटों पर चुनाव जीतेंगे। भाजपा में टिकटों को लेकर जो विरोधाभास की स्थिति बनी, उसकी वजह से भाजपा 2-3 सीटें हार गई और पूर्व मंत्री एदल सिंह कंसाना, जो पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के आदमी हैं, वे बड़बोलेपन के कारण हारे। जहां तक सवाल है पूर्व मंत्री इमरती देवी और गिर्राज दंडोतिया का तो इनके क्षेत्र में इनकी व्यक्तिगत छबि कमजोर होने की वजह से ये चुनाव हारे।
वरना महाराजा ने इन दोनों क्षेत्रों में कम दम नहीं लगाया था, चुनाव परिणामों के ठीक 19 दिन बाद आज नतीजों पर चर्चा इसलिए की जा रही है, क्योंकि सबको पता है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मप्र में चौथी बार भाजपा की सरकार बनवाई तो 28 विधानसभा क्षेत्रों के उपचुनावों में अपने प्रभाव को तथा जनता के आकर्षण को भाजपा की सरकार को स्थायी करने में झोंक भी दिया। चुनाव परिणामों के बाद पहली बार मप्र में शिवराज सरकार के राजनीतिक फैसलों पर भागीदारी करने के लिए भोपाल आने से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने सिंधिया को साफ संकेत देकर कहा है कि वह चिता न करें। भाजपा में उनके साथ कोई दोहरा मापदंड नहीं अपनाया जाएगा। यह लिखने में भी संकोच नहीं है कि संघ प्रमुख मोहन भागवत ने भी मप्र में भाजपा के बड़े नेताओं को स्पष्ट निर्देश दिया है कि सिंंधिया के साथ ‘आर्म ट्वस्टिंग’ नहीं किया जाएगा। मतलब स्पष्ट है कि मप्र में भाजपा के भीतर अब ज्योतिरादित्य सिंधिया का महत्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अथवा केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र तोमर से कम कभी नहीं आंका जाएगा। सूत्रों के अनुसार यदि यह बात लिखी जाए कि सिंधिया के 3 मंत्री हारे हैं तो उनके कोटे के 3 मंत्री फिर से बनाए जाएं और यदि ऐसा हुआ तो गोविन्द सिंह राजपूत और तुलसी सिलावट के अलावा सिंधिया के 3 नामों  मनोज चौधरी हाट पिपलिया से, जसपाल जज्जी अशोक नगर से और तीसरा भांडेर विधायक रक्षा सिरोनिया को मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है। हालांकि भाजपा का अपना संगठन वरिष्ठ विधायक मांधाता नारायण सिंह पटेल और पूर्व मंत्री रामपाल सिंह को मंत्रिमंडल में जगह देने की जद्दोजहद में जुटा हुआ है। सिंधिया भी नारायण सिंह पटेल को तथा रामपाल सिंह को मंत्रिमंडल में शामिल करने के लिए सहमत बताए जाते हैं। सूत्रों के अनुसार ज्योतिरादित्य सिंधिया, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तथा संगठन के सभी बड़े नेताओं से लंबी बातचीत करेंगे। समझा जाता है कि सिंधिया समर्थक मंत्रियों से जुड़े विभागों के निगम-मंडलों पर सिंधिया के सुझावों को महत्व दिया जाएगा। और तो और राज्य योजना मंडल में पहली बार ऐसा होगा कि 2 उपाध्यक्ष बनाए जाएंगे जिसमें एक नाम ज्योतिरादित्य सिंधिया से ही मांगा जाएगा। इस विशेष रिपोर्ट का लब्बोलुआब यह है कि सिंधिया का कद और पद दोनों से ज्यादा भाजपा के भीतर उनका विश्वास उप चुनावों के नतीजे के बाद बढ़ गया है। लेकिन साथ ही साथ गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा को राजनीति की दूसरी कतार के नेतृत्व के लिए भाजपा हाईकमान ने तैयार रहने को कह दिया है।

भोपाल की दिलेर दुल्हन:शादी से तीन दिन पहले मुंबई से डॉक्टर दूल्हे ने दहेज में मांगे 25 लाख; दुल्हन पहुंची थाने, FIR कराई

भोपाल

8 नवंबर को दूल्हे के पिता ने फ्लैट खरीदने के लिए ससुराल वालों से 25 लाख रुपए मांगे

डॉक्टर के माता-पिता भी बने आरोपित, गिरफ्तारी के लिए मुंबई जाएगी भोपाल पुलिस की टीम

भोपाल में एक दिलेर दुल्हन ने अपनी शादी से ठीक एक दिन पहले मुंबई निवासी होने वाले डाॅक्टर दूल्हे और उसके माता-पिता पर कोहेफिजा थाने में दहेज प्रताड़ना का केस दर्ज करा दिया। दहेज के मामले में मुंबई निवासी डॉक्टर अरबाज ने दहेज में 25 लाख रुपए मांगे। डॉक्टर और उसके माता-पिता ने 8 नवंबर को भोपाल लड़की के माता-पिता को फोन करके फ्लैट खरीदने के लिए 25 लाख रुपए की मांग की। साथ ही धमकाया कि रुपए नहीं मिले तो रिश्ता तोड़ देंगे। इसके बाद भी वह नहीं माने और लगातार रुपए भेजने का दबाव बनाने लगे।

कोहेफिजा पुलिस के मुताबिक, हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी निवासी युवती का रिश्ता परिजन ने मुम्बई के एक डॉक्टर से तय किया था। सगाई में वर पक्ष को दहेज में महंगी कार, फर्नीचर सहित अन्य सामान की राशि अदा कर दी गई थी। लॉकडाउन के कारण शादी की तारीख बढ़ाकर 29 नवंबर तय की गई थी। इसके पहले डॉक्टर और उसके माता-पिता ने युवती के पिता से फ्लैट के लिए 25 लाख की मांग रख दी। असमर्थता जताने पर वर पक्ष ने रिश्ता तोड़ दिया। शिकायत मिलने पर पुलिस ने अमानत में खयानत और दहेज एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है।

पुलिस ने बताया कि युवती कानून की पढ़ाई पूरी कर चुकी है। परिजन ने लॉकडाउन के पहले उसका रिश्ता नवी मुंबई में रहने वाले नजीर अहमद पटवे के डॉक्टर बेटे अरबाज से तय कर दिया था। शादी अप्रैल में होना थी, लेकिन लॉकडाउन के कारण शादी की तारीख आगे बढ़ाकर 29 नवंबर तक कर दी गई थी। युवती के व्यवसायी पिता माजिद खान बेटी की शादी की तमाम तैयारियां कर चुके थे। शादी के लिए होटल भी बुक करा लिया गया था।

इसके पहले आठ नवंबर को डॉक्टर के पिता ने फोन कर माजिद अली से फ्लैट खरीदने के लिए 25 लाख रुपये देने की मांग रख दी। माजिद अली ने इतनी बड़ी राशि का इंतजाम करने में असमर्थता जताई, तो डॉक्टर के परिजन ने रिश्ता करने से मना कर दिया। इसके बाद

दुल्हन के पिता मनाने के लिए मुंबई भी गए
13 नवंबर को माजिद अली परिवार के साथ नजीर अहमद से इस मसले पर बात करने के लिए मुंबई पहुंचे। वहां उन्होंने डॉक्टर अरबाज और उसके माता-पिता से रिश्ता न तोड़ने की मिन्नतें कीं, लेकिन ससुराल पक्ष के लोग 25 लाख की मांग पर अड़े रहे। तय तारीख के अंतिम समय शनिवार तक जब नजीर अहमद की तरफ से कोई जवाब नहीं मिला तो माजिद अली बेटी को लेकर कोहेफिजा थाने पहुंच गए। लड़के और उसके पिता-पिता पर केस दर्ज करा दिया।

दूध में शहद मिलाकर पीने से होते है जबर्दस्त फ़ायदे



मनुष्य के स्वास्थ्य के लिए दूध बहुत फायदेमंद होता है। दूध से विटामिन ए विटामिन डी व विटामिन बी मिलता है और इसके अलावा प्रोटीन और कैल्शियम भी प्रचुर मात्रा पाया जाता है। यदि दूध के अंदर शहद को डालकर पीया जाए तो इससे हमारे शरीर को बहुत लाभ होते हैं। दूध और शहद को मिलाकर पीने से यह एक औषधि की भांति काम करने लगता है। आज आप पढ़ेंगे इसके फायदे।

दूध में शहद मिलाकर पीने से होने वाले फायदे-

थोड़े गरम दूध में एक चम्मच शहद डालकर अच्छे से मिलाएं और इसका सेवन करें। ऐसा करने से आपकी पाचन क्रिया सही रहती हूं और कब्ज की समस्या से राहत मिलती है।

अगर आप तनाव में रहते है या आपके सिर में दर्द रहता है तो आप दूध में शहद को मिलाकर इसका सेवन करें। पीने से मनुष्य ऐसा करने से आपजो इन समस्याओं से राहत मिलेगा।

दूध में शहद मिलाकर पीने से आपकी नींद नहीं आने की प्रॉब्लम दूर होगी।

दूध में शहद मिलाकर पीने से शरीर के तंत्रिका तंत्र एवं कोशिकाएं व्यवस्थित रहती है। इसके अलावा इससे हड्डियां व मांसपेशियां मज़बूत होती है।

MP: उपचुनाव नतीजों के बाद सीएम शिवराज-ज्योतिरादित्य सिंधिया की मुलाकात, कैबिनेट विस्तार की अटकलें तेज 

मध्य प्रदेश में हुए उपचुनाव में बीजेपी को मिली जीत के बाद पहली बार  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan)  और बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के बीच मुलाकात हुई. एक बार फिर मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चाएं भी तेज होने लग गई है.


भोपाल. मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें एक बार फिर तेज हो गई हैं. इस बार इन अटकलों को हवा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) और बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) की सोमवार को भोपाल में हुई मुलाकात के बाद मिली है. उपचुनाव के नतीजों के बाद भोपाल पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया की इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात टल गई थी, लेकिन सोमवार को दोनों नेता ओरछा में शादी समारोह में शामिल होने से पहले सीएम हाउस में एक साथ बैठे. इतना ही नहीं सीएम हाउस में मुलाकात के बाद दोनों नेता केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल की बेटी के शादी समारोह में ओरछा विशेष विमान से एक साथ ही रवाना हुए.

इस मुलाकात के अब कई सियासी मायने लगाए जा रहे हैं. अटकलें लग रही हैं कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और सिंधिया के बीच संभावित मंत्रिमंडल विस्तार और निगम मंडलों में नियुक्ति को लेकर चर्चा हुई है. हालांकि सोमवार सुबह भोपाल एयरपोर्ट पर मीडिया से बात करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुलाकात के दौरान मंत्रिमंडल पर बातचीत होने से इनकार किया था और ये कहा था कि ये सीएम का विशेषाधिकार है. इस पर केंद्रीय नेतृत्व और सीएम फैसला लेंगे.

दिल्ली गए सीएम

खास बात यह है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया की मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री सोमवार शाम को ही दिल्ली रवाना हुए. दिल्ली में मुख्यमंत्री की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय नेतृत्व से मुलाकात प्रस्तावित है. यह माना जा रहा है कि भोपाल स्तर पर मंत्रिमंडल को लेकर हुई बातचीत के बाद अब मंत्रिमंडल के नामों को लेकर दिल्ली स्तर पर मंथन होना है. यही वजह है कि मुख्यमंत्री सिंधिया से मुलाकात के बाद दिल्ली रवाना हुए हैं.

कौन-कौन दावेदार ?

मंत्रिमंडल में किन चेहरों को जगह मिलेगी और कौन बाहर रह जाएगा इस पर सबकी निगाहें टिकी हैं. सिंधिया खेमे के दो मंत्री जिन्हें तय समय पर चुनाव ना होने की वजह से इस्तीफा देना पड़ा था उनमें तुलसी सिलावट और गोविंद राजपूत दोनों चुनाव जीत गए हैं, लेकिन फिर भी उन्होंने मंत्री पद की दोबारा शपथ नहीं ली है. वहीं सिंधिया खेमे के मंत्री गिर्राज दंडोतिया और इमरती देवी चुनाव हार चुके हैं. ऐसे में उन्हें मंत्री पद की जगह निगम मंडल में कब और कौन सी जिम्मेदारी दी जाएगी इस पर भी निगाहें टिकी है. माना जा रहा है कि सिंधिया इन सबको लेकर ही मुख्यमंत्री से लेकर संघ कार्यालय तक दौड़ लगा रहे है.

राशिफल: दिसंबर का पहला सप्ताह ग्रहों और नक्षत्रों के संदर्भ में 7 राशियों के लिए उत्कृष्ट है।

इस बार सप्ताह की शुरुआत कार्तिक पूर्णिमा के शुभ संयोग से हो रही है जिसमें चंद्रमा अपनी उच्च राशि में है। बुध इस सप्ताह अपने शत्रु ग्रह मंगल की राशि वृश्चिक में है लेकिन सूर्य के साथ रहेगा। इन परिस्थितियों में दिसंबर का पहला सप्ताह आप सभी के लिए कैसा रहेगा। आइए जानते हैं सदगुरु स्वामी आनंदजी से विवरण …
मेष राशि
आपकी राशि पर शुक्र की दृष्टि शारीरिक सुख में वृद्धि है। आपको अपने करियर में अच्छी खबर मिलेगी। उत्साह का संचार होगा। कई बड़े परिवारों से मिलने पर आनंद और भ्रम दोनों का अनुभव होगा। यात्रा। बदलते मौसम और थकान दोनों ही आपके स्वास्थ्य पर दिखाई देंगे। कोई व्यक्ति किसी रिश्तेदार के शब्दों को चोट पहुंचाएगा या आपको एक अजीब भावना से भर देगा। जलने वाले जलते रहें, आप अपने रास्ते पर चलेंगे। पारिवारिक कार्यक्रम में शामिल होने से, आंतरिक आत्मा मिश्रित और शिकायत दोनों अनुभवों से भर जाएगी। अजीब चीजें माता-पिता को नाराज करेंगी। आपको भौतिक चीजों और उपहारों से लाभ होगा, लेकिन आप उनका आनंद नहीं लेंगे। बुजुर्ग और अनुभवी लोग शामिल होंगे। लागत में वृद्धि होगी लेकिन यह आपको प्रभावित नहीं करेगा। शिक्षा में सकारात्मक खबरों की उम्मीद करने से आंतरिक शांति पूरी होगी।
शुभ रंग – केसरिया
शुभ अंक- 9
वृषभ
आय और जुगाड़ के नए स्रोत बनते हैं। अल्पकालिक निवेश बंद हो जाएगा। शेयर बाजार या शॉर्ट-टर्म ट्रेडिंग से लाभ होगा। कार्यभार घटेगा। रुके हुए काम को शुरू करना खुशी की बात होगी। जलने वाले पराजित होंगे। आत्मा और क्रोध से बचें। क्षेत्र की शक्ति बढ़ेगी। नेतृत्व के अवसर पृष्ठभूमि बनाएंगे। किसी भी चीज़ के बारे में डींग मत मारो। उत्कृष्ट गुणों का विकास होगा। पिता की ओर से या उसके लिए तनाव हो सकता है। भाई का सूखा स्वभाव शर्मनाक होगा। लापरवाही तनाव का कारण बनेगी। सरकारी बाधा कठिन हो सकती है। बचत में कमी से भ्रम की स्थिति पैदा हो सकती है। जलने से झुर्रियां पैदा होंगी। बुधवार को कार्य बाधित होगा। कोई और गलती करनी होगी। कोई बात या ख़बर ख़ुशी देगी। बहुप्रतीक्षित ऑपरेशन सफल होगा।
शुभ रंग – सफेद
शुभ अंक- 6
मिथुन राशि
इस सप्ताह व्यस्तता रहेगी। छोटी या बड़ी यात्रा का संयोग बन रहा है। बॉस को प्रशंसा मिलेगी, लेकिन उनके अलग-अलग दृष्टिकोणों से असहज होंगे। सीनियर की सलाह होगी संजीव की। किसी भी धार्मिक या आध्यात्मिक व्यक्ति का आशीर्वाद फलदायी होगा। आपके प्रयास क्षेत्र में रंग लाएंगे। सहयोगी देशों का पूर्ण सहयोग होगा। कोई मनोकामना पूरी होगी। विवाद बढ़ सकते हैं। अल्पकालिक निवेश या पूर्वानुमान हानि के जोखिम को इंगित करता है। किसी का अनादर करने से बचें। आपको अपने मामा से तनाव मिलेगा। पीठ और पैरों में दर्द हो सकता है। जीवनसाथी के स्वभाव में गुस्सा काम के दबाव से आएगा। आप अपने भाइयों और बहनों की प्रगति से खुश होंगे। यदि आप छोटी समस्याओं को दरकिनार करते हैं, तो आप घर का आनंद लेंगे।
शुभ रंग – हरा
शुभ अंक- 5
कैंसर
सूर्य और बुध की दृष्टि प्रभाव को बढ़ाएगी। स्वास्थ्य में कमजोरी के संकेत हैं। केतु की आंखें इस सप्ताह उलझ सकती हैं। व्यवसाय में स्थितियाँ मिली-जुली रहेंगी। परिवार सहयोग करेगा। आर्थिक स्थिति वैसी ही रहेगी। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। स्वास्थ्य मध्यम से बेहतर रहेगा। अच्छे कर्म होंगे। संगीत और साहित्य में रुचि बढ़ेगी। किसी करीबी के संदिग्ध व्यवहार से बेचैन रहेंगे। भौतिक सुख अच्छा रहेगा। मानसिक चिंताएं बढ़ेंगी। प्रतिष्ठा संभव है क्योंकि कुछ करीबी हैं। कल्पना बढ़ेगी और लागत बढ़ेगी। पिता के बगल वाले रिश्तेदार के साथ परेशानी आ सकती है। अनावश्यक टिप्पणियों से बचें। यदि आप अपने भाषण को नियंत्रित नहीं करते हैं, तो अनावश्यक भ्रम हो सकता है। बहस मत करो। आध्यात्मिकता में रुझान बढ़ेगा। पुराना निवेश चुकता होगा। व्यापार को नुकसान हो सकता है।
शुभ रंग- सफेद
शुभ अंक- 6
सिंह
आकांक्षाएं पूरी होती नजर आएंगी। किसी भी समझौते से लाभ होगा और राजस्व में वृद्धि होगी। बहुत से कर्म मौन से सिद्ध होंगे। किसी साथी की वजह से आपकी प्रतिष्ठा बनेगी। लंबी यात्रा सुखद और सफल साबित होगी और शुभ परिणाम प्राप्त होंगे। जिससे खुशी बढ़ेगी। आर्थिक सहायता प्राप्त होगी। आय में वृद्धि होगी और आप आनंद लेंगे। किसी करतब या संपर्क से लाभ होगा। कई अवसर होंगे, इसका लाभ उठाएं। तिल हथेलियों का निर्माण किसी भी विषम प्रजातियों के कारण होता है। यदि आप संघर्ष नहीं करते हैं, तो दर्द बढ़ सकता है। जीवनसाथी का अपार सहयोग मिलेगा। दोस्तों के साथ बातें करके आपको ख़ुशी मिलेगी। वकीलों, पत्रकारों और प्रकाशकों के लिए समय अच्छा है। आपका नाम मूल विचारों के साथ प्रतिध्वनित होगा। प्रोत्साहित किया जाएगा।

टी.वी.,फिल्म कलाकार 🔹मेरे लिए काम ही पूजा है : भूपेन्द्रसिंह पैमाल


➖➖➖➖➖➖
मुबंई।कहते है कि इन्सान जब ठान लेता है कि उसे क्या करना है, क्या बनना है और जब उसे अच्छे लोगों का सपोर्ट मिल जाता है, अपनी लगन मेहनत से वह कुछ बन कर देश का नाम रोशन करता है। जैसे महान राष्ट्रपति अब्दुल कलाम साहब, अभिनय की दुनिया कि मिसाल दूं तो एक शिक्षक किसान का बेटा धर्मेन्द्र आज सफल स्टार है। राजेन्द्र कुमार ने जब सफल फिल्में दी तो जुबली कुमार बन गये और राजेश खन्ना ने जब सफल फिल्में की तो वे सुपर स्टार बन गये। अपनी आवाज के कारण महानायक अमिताभ बच्चन को रेडियो वालों ने बाहर का रास्ता दिखाया था आज वे रेडियो वाले उनकी आवाज के लिए तरसते हैं। आज वे महानायक है। नए लोगों को सही मौका मिलना चाहिये क्या भरोसा कब वो अच्छा कलाकार बन जाये।
इंदौर में जन्मे पले-बढ़े हुए स्कूल-कॉलेज के जलसों में अभिनय किया। कई प्रोडक्ट के लिये मॉडलिंग भी कि और कई धारावाहिकों में अभिनय जैसे ये है मोहब्बतें, बेहद, ना हौंसला हारेंगे हम, इश्कबाज, दिल वाले ओबेरॉय में इंदौर के कलाकार भूपेन्द्रसिंह पैमाल आज किसी परिचय के मोहताज नहीं है। हाल ही में डायरेक्टर आलोक श्रीवास्तव की रिलीज हुई फिल्म इनकाउंटर में भी अभिनय किया है। भूपेन्द्र सिंह ने हमें बताया मैं इन्दौर सहित देश के कई शहर जैसे दिल्ली, मुंबई, कोलकाता सहित कई जगह पर मॉडलिंग कर चुके हैं। कई शो में वे जज भी बने हैं। पिताजी चाहते थे मैं उनके कारोबार में हाथ बंटाऊं पर मेरा मन अभिनय करने का था सो मैं इस लाईन में आ गया। चालीस से ज्यादा मॉडलिंग शो कर चुका हूं। कई धारावाहिक भी किये। अब मेरा खुद का प्रोडक्शन हाऊस है। मेरे बड़े भाई देव पैमाल मिस्टर इंडिया के साथ टॉप रुप मॉडल रह चुके हैं।
हमारे देश में (लॉक-डाउन) के समय तो फिल्म इंडस्ट्री का पैंटर्न ही बदल गया। स्क्रीप्ट राइटरों को नई-नई कहानियों पर काम करना होता है। फिल्म एवं टेलीविजन इंडस्ट्री को बहुत नुकसान भी हुआ। इस कठिन समय में महानायक अमिताभ बच्चन, सोनू सुद, अक्षय कुमार, नाना पाटेकर जैसे अभिनेताओं ने दरिया दिल दिखाकर जनमानस की मदद भी की। कई नए कलाकार डिप्रेशन में चले गये, कईयों ने आत्महत्या भी की। मैं हमेशा आने वाले कलाकरों को कहता हूं अभिनय की शुरुआत अपने घर से शुरू करें। एक अच्छा इन्सान अच्छा कलाकार वह अपने परिवार से ही बनता है। अभिनय तो अंतर आत्मा से ही निकलता है। मेरे लिये तो अभिनय ही पूजा है या ये कहूं कि अभिनय का काम मेरे लिए पूजा है। आज नये कलाकारों को कई अच्छे अवसर मिल रहे यूट्यूब के साथ वेब सिरीज में भी नये कलाकारों को चान्स मिल रहा है। नए-नए धारावाहिक बन रहे हैं। मैं फिल्मों में ऐसा अभिनय करना चाहता हूं कि परिवार के लोग एक साथ बैठकर देखे, मेरे अभिनय की चर्चा हो। आज वेबसीरीज में ज्यादातर गाली-गलौच होती है वह मुझे पसंद नहीं है। इसलिये वेब सीरीज के कई ऑफर्स मैंने छोड़ दिये। हाल ही में जल्दी ही एक बड़े बजट की फिल्म करने जा रहा हूं। मैं सब तरह के रोल करना चाहता हूं। आप रूला तो सकते है पर हंसाना बहुत मुश्किल है। जल्दी ही फिल्म एवं टीवी सीरियल के लिये अच्छा वक्त आने वाला है। फिल्म एवं टीवी के कई दिग्गज हमें वक्त से पहले छोड़कर चले गये। मुझे बहुत दुख है। मैं अच्छे निर्माता-निर्देशों की फिल्में करना चाहता हूं। भले ही कम फिल्में करूं मगर जो भी करूंगा फिल्में ही करूंगा काफी लोगों से बात चल रही है… बस समय का इन्तजार है।


——––__