तबाही मचा देगा तीसरा विश्व युद्ध, दुनिया के तीन तानाशाह दे रहे सिग्नल, भविष्यवाणी सुन कांप जाएगी रूह

आज सबसे पहले उन SIGNALS की बात करेंगे जिनके सामने आने के बाद तीसरे वर्ल्ड वॉर की आशंका Highest level पर पहुंच गई है. पिछले 24 घंटे में
ये Feelers ये संकेत दावोस से लेकर यूक्रेन तक और यूरोप से लेकर नॉर्थ कोरिया तक में देखने को मिले हैं. धमकी वाले इन सैंपल्स को रिलीज़ करने वाले कितने dictators है. जंग के चैप्टर में कौन सा नया फियर फैक्टर जुड़ा हुआ है. ये आपको बताएंगे लेकिन पहले इन संकेतों को तस्वीरों के साथ समझना जरूरी है.

पहला सिग्नल दावोस से आया,जहां US के अरबपति जॉर्ज सोरोस ने चौंकानेवाला बयान दिया.सोरोस ने कह दिया कि यूक्रेन जंग के बाद वर्ल्ड वॉर थ्री शुरु होने वाली है. सोरोस ने ये भी कहा कि अगर पुतिन को नहीं रोका गया तो फिर civilization भी नहीं बचेगी. सोरोस ने शी जिनपिंग और पुतिन को डिक्टेटर करार दे दिया. दूसरा सिग्नल भी वर्ल्ड इकॉनोमिक फोरम से ही सामने आया. NATO चीफ ने पुतिन को वॉर्निंग दी कहा कि हमारा डिप्लॉयमेंट बढ़ा है.हमारे सैनिक हर सिचुएशन से निपटने को तैयार हैं

तीसरा सिग्नल ईस्टर्न यूरोप से आया.जहां अमेरिका से अपने सैनिकों की संख्या बढाने की बात कही गई है..खासकर बाल्टिक देशों में अमेरिका से अपने एडिशनल ट्रूप्स को डिप्लॉय करने की मांग की गई. चौथा सिग्नल कोरिया peninsula से आया.जहां प्रेसिडेंट बाइडेन के कोरिया और जापान विजिट के ठीक बाद नॉर्थ कोरिया की तरफ से Ballistic Missiles का टेस्ट किया गया..जवाब में साउथ कोरिया ने जबरदस्त वॉर ड्रिल्स को अंजाम दियापांचवां सिग्नल चीन से सामने आया.जहां ताइवान को लेकर जिनपिंग के खौफनाक इरादों का खुलासा हुआ,एक ऑडियो टेप लीक हुआ. जिसमें ताइवान पर कब्जे का पूरा चाइनीज प्लान डिकोड हुआ.

किसने की WW3 पर सबसे नई भविष्यवाणी ?

दुनिया को जंग में झोंकनेवाला छठा सिग्नल बेलारूस से सामने आया..प्रेसिडेंट लुकाशेंको ने UN चीफ को चिट्ठी लिखी..इसमें कहा गया कि अगर NATO की यूक्रेन को सप्लाई लाइन जारी रही.तो फिर तीसरा विश्वयुद्ध निश्चित है. इन सारी बातों को वर्ल्ड वॉर के इन सिग्नल्स को डिटेल में आपको बताएंगे इन्हें लेकर वेस्टर्न कंट्रीज की तरफ से क्या काउंटर रिएक्शन देखने को मिले..ये भी समझेंगे.मगर सबसे पहले पुतिन और जिनपिंग को लेकर दावोस से जिस तरह के रिएक्शन सामने आए उन्हें लेकर में स्पेशल रिपोर्ट देखते हैं

दुनिया के तीन तानाशाह विश्व युद्ध कराएंगे ?

क्या यूक्रेन जंग से ही वर्ल्ड वॉर शुरू होगी ? किम-जिनपिंग-पुतिन मानव सभ्यता होगी खत्म ?

अब तक नेता..इंटेलिजेंस एजेंसियों के चीफ और टीवी पर कयामत के दिन की धमकियां की जा रही थीं.बड़ी बड़ी मिसाइलों का डर दिखाकर.आधे कॉन्टिनेंट के सफाये..और देशों को खात्मे की बातें हो रही थी. लेकिन अब बड़ी बड़ी कंपनियों को चलानेवाले..अरबपतियों ने भी यूक्रेन युद्ध पर दुनिया के अंत की बातें करना शुरू कर दिया. इनमें सबस नया नाम अमेरिका के बिजनेसमैन. जॉर्स सोरोस का है.वर्ल्ड इकॉनोमिक फोरम में सोरोस की डिनर स्पीच. दुनियाभर की सुर्खियों में है. सोरोस ने कहा यूक्रेन पर रूसी हमले ने यूरोप को अंदर तक हिला दिया. ये जंग तीसरे विश्वयुद्ध की शुरुआत है.आगे की जंग इतनी भयानक होगी कि हमारी सभ्यताएं बच नहीं पाएंगे. हमें पूरी ताकत के साथ जंग को जल्दी खत्म करना होगा
सभ्यता तभी बचेगी जब जल्द से जल्द पुतिन को हराएंगे

यानी जिन बातों को अमेरिका और नाटो दबी जुबान में कहता है.समझता है..उसे अमेरिका के बिजनेसमैन खुलकर कह रहे हैं.इसका मतलब ये है कि ग्राउंड पर सिचुएशन बहुत खराब है और पुतिन के पीछे हटने होने की कोई उम्मीद नहीं लेकिन ओपन सोसायटी फाउंडेशन के फाउंडर.सोरोस यहीं नहीं रुके उन्होंने एशिया के सुपरविलेन का भी नाम लियास्पीच में जिनपिंग की बात कही.सोरोस बोले जिनपिंग और पुतिन दोनों तानाशाह हैं.दोनों नेता खुले समाज के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं. पुतिन-जिनपिंग की साझेदारी की कोई सीमा नहीं है.दोनों लीडर्स में कई सारी समानताएं भी हैं.वो डराकर लोगों पर राज करते हैं.इसका अंजाम ये होता है कि कई गलतियां कर बैठते हैं

दो लीडर्स का नाम सोरोस ने लिया लेकिन तीसरा तानाशाह भी है.जिसकी वजह से दुनिया पर. जंग के बादल मंडरा रहे हैं.किम जोंग की मिसाइलें. एक बार फिर अंडरग्राउंड दुनिया से बाहर निकल चुकी हैं.साउथ कोरिया ने दावा किया कि बाइडेन की ट्रिप के खात्मे के फौरन बाद किम जोंग ने बैलेस्टिक मिसाइलों का टेस्ट किया इनमें इंटर कॉन्टिनेंटल मिसाइल भी मौजूद थी यानी हालात संगीन हैं.तुनकमिजाज तानाशाह.दुनिया की तबाही फैलाने वाला सामान तैयार कर चुके हैं.

http://thenewslight.com/TNL51179
Connect with us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!