मुंबई में दाऊद के गुर्गों पर छापे : 20 ठिकानों पर एनआईए की जांच, हाजी अली दरगाह का प्रबंध ट्रस्टी सुहैल खंडवानी और सलीम फ्रूट हिरासत में

एनआईएन ने आज मुंबई में पाकिस्तान स्थित गैंगस्टर दाऊद इब्राहिम के सहयोगियों और कुछ हवाला ऑपरेटरों के खिलाफ मुंबई में एक दर्जन से अधिक स्थानों पर छापामारी शुरू की। छापेमारी के बीच एनआईए ने हाजी अली व माहिम दरगाह के प्रबंध ट्रस्टी सुहैल खंडवानी व सलीम फ्रूट को हिरासत में लिया है।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी की यह कार्रवाई मुंबई के नागपाड़ा, गोरेगांव, बोरीवली, सांताक्रूज, मुंब्रा, भिंडी बाजार और अन्य जगहों पर जारी है। कई हवाला ऑपरेटर और ड्रग तस्कर दाऊद से जुड़े थे। एनआईए ने इस संबंध में फरवरी में केस दर्ज किया था। इनके खिलाफ छापों की कार्रवाई आज शुरू की गई। सलीम फ्रूट को घर पर मारे गए छापे के दौरान पकड़ा गया। सलीम फ्रूट के ठिकाने पर छापे के दौरान महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद किए गए हैं। इनके अलावा माहिम इलाके से कय्यूम नाम के एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है।

नवाब मलिक से भी जुड़ा है मामला
एनआईए के सूत्रों के अनुसार यह छापेमारी जेल में बंद महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक से भी संबंधित है। मंत्री नवाब मलिक को दाऊद की बहन हसीना पारकर से जमीन खरीदने व उससे जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया गया है। गृह मंत्रालय के आदेश पर एनआईए ने दाऊद इब्राहिम, उसके अवैध कारोबार करने वाले गिरोह ‘डी कंपनी’ के खिलाफ केस दर्ज किया था। डी कंपनी संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित आतंकी संगठन है।

यूएन ने दाऊद इब्राहिम को भी 2003 में वैश्विक आतंकी घोषित किया था। वह 1993 में हुए मुंबई धमाकों का मुख्य आरोपी है। वह कभी पाकिस्तान तो कभी अन्य देशों में ठिकाने बदलकर रहता है। एनआईए ने बयान जारी कर कहा कि दाऊद के सहयोगियों और कुछ हवाला ऑपरेटर के ठिकानों पर छापों की कार्रवाई जारी है।

छोटा शकील का साला है सलीम फ्रूट
सलीम फ्रूट छोटा शकील का साला है। शकील अपने गुर्गों के जरिए अवैध वसूली का गिरोह चलाता है। सलीम को 2006 में संयुक्त अरब अमीरात से भारत भेजा गया था। तब से वह जेल में बंद है। उसे जेल से ही एनआईए ने हिरासत में लिया।

http://thenewslight.com/TNL50612
Connect with us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!