इस दिन से शुरू होगा माघ माह, जानें इस माह में पड़ने वाले व्रत और त्योहार

Magh Month 2022 Vrat: हिंदू पंचाग के अनुसार हर माह की पूर्णिमा के बाद नए माह की शुरुआत होती है. अभी पौष माह (Paush Month) चल रहा है और पौष माह की पूर्णिमा (Paush Month Purnima 2022) 17 जनवरी के दिन है 18 जनवरी से नए मास की शुरुआत होगी. नए माह की शुरुआत होते ही तिथि के अनुसार व्रत और त्योहार भी शुरू हो जाते हैं. प्रदोष व्रत, सकंष्टी चतुर्थी, अमावस्या आदि व्रत हर माह पड़ते हैं. आइए जानते हैं माघ माह में आने वाले व्रत और त्योहार के बारे में. 

माघ माह के व्रत और त्योहार (Magh Month Vrat And Festival)

-18 जनवरी को शुरू होगा माघ माह. 

-21 जनरवरी- माह का पहला व्रत सकट चौथ या लंबोदर संकष्टी चतुर्थी. इस दिन गणेश जी की पूजा-अर्चना की जाती है. 

-23 जनवरी को सुभाष चंद्र बोस जयंती है.

-25 जनवरी को कालाष्टमी है. इस दिन काल भैरव भगवान की पूजा-उपासना की जाती है. 

-26 जनवरी को गणतंत्र दिवस है.

– 28 जनवरी को षटतिला एकादशी है. इस दिन भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है. 

– 30 जनवरी को गांधी जी पुण्यतिथि है.

– 30 जनवरी को मेरु त्रयोदशी और प्रदोष व्रत है. इस दिन भगवान शिव की अराधना की जाती है. 

-30 जनवरी को मासिक शिवरात्रि है. 30 जनवरी को भगवान शिव के दोनों प्रिय व्रत एक साथ ही पड़ेंगे. ज्योतिष अनुसार अविवाहित लड़कियों और लड़कों को मासिक शिवरात्रि का व्रत अवश्य रखना चाहिए. 

-31 जनवरी को अमावस्या है. इस स्नान-दान का विशेष महत्व है. 

-1 फरवरी को मौनी अमावस्या है. पितरों का तर्पण और दान आदि से पितरों का आशीर्वाद प्राप्त होता है. 

-2 फरवरी को माघ अमावस्या है. इस दिन भी पितरों के लिए पूजा आदि की जाती है. 

-2 फरवरी से गुप्त नवरात्रि प्रारंभ है. मां दुर्गा को समर्पित गुप्त नवरात्रि में भक्त मां को प्रसन्न करने के लिए व्रत आदि रखते हैं. 

-4 फरवरी को विनायक चतुर्थी है. इस दिन भगवान गणेश जी की पूजा आदि की जाती है. 

 -5 फरवरी को वसंत पंचमी और सरस्वती पूजा है. इस दिन मां सरस्वती की पूजा आदि की जाती है. 

-6 फरवरी को स्कंन्द षष्ठी है. इस दिन कार्तिकेय भगवान की पूजा की जाती है. 

-7 फरवरी को रथ सप्तमी और नर्मदा जयंती है.

-7 फरवरी को भीष्म अष्टमी है.

-8 फरवरी को मासिक दुर्गाष्टमी और मासिक कार्तिगाई है. मां दुर्गा की पूजा की जाती है. 

-10 फरवरी को रोहिणी व्रत है. 

-12 फरवरी को जया एकादशी है. मान्यता है कि एकादशी की रात्रि जागरण से साधक पर भगवान की विशेष कृपा प्राप्त होती है. 

-13 फरवरी को कुंभ संक्राति और भीष्म द्वादशी है.

– 14 फरवरी को प्रदोष व्रत है.

-16 फरवरी को गुरु रविदास और ललिता जयंती है.

-16 फरवरी को माघ पूर्णिमा है. इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है. 

http://thenewslight.com/TNL48986
Connect with us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!