ओलावृष्टि:सीएम ने कहा 50 फीसदी नुकसान तो 30 हजार प्रति हेक्टेयर मिलेगा मुआवजा

अशोकनगर । किसानों को इस दुख की घड़ी में संकट के पार निकालेंगे। बेमौसम बारिश एवं ओलावृष्टि से फसलों को हुए नुकसान की राहत राशि एवं बीमा राशि का किसानों को शीघ्र भुगतान कराएंगे। यह बात प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज चौहान ने शुक्रवार को अशोकनगर जिले की तहसील मुंगावली के ग्राम बजावन में  बेमौसम वर्षा  एवं ओलावृष्टि से प्रभावित फसलों के निरीक्षण के दौरान कही।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्राम के किसानों से संवाद करते हुए कहा कि दुख की इस घड़ी में किसानों के दुख दर्द में शामिल होने के लिए ग्राम बजावन में आया हूं। मैं किसानों के दुख दर्द को भलीभांति जानता हूं। किसान अपने पसीने से फसलों को सींचता है, तभी अन्न का दाना मिल पाता है। इसी बीच यदि फसलों पर प्राकृतिक आपदा का कहर बरसता है तो फसलें चौपट हो जाती हैं। जिससे किसानों के सपने चकनाचूर हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि फसलों को जो नुकसान पहुंचा है, उसकी भरपाई राहत राशि तथा बीमा राशि दिलाकर पूरी की जाएगी। उन्होंने कमिश्नर एवं कलेक्टर को निर्देश देते हुए कहा कि फसलों के नुकसान के सर्वे का कार्य 18 जनवरी तक पूर्ण कराया जाए। सर्वे का कार्य पूर्ण ईमानदारी से हो यह सुनिश्चित किया जाए। सर्वे उपरांत सूची पंचायतों में लगाई जाए। जिससे कृषक सूची को देख सके। यदि किसी को आपत्ति हो तो उसका निराकरण किया जा सके। उन्होंने कहा कि जिन किसानों का 50 प्रतिशत से ज्यादा नुकसान हुआ है उन किसानों को 30 हजार रूपये प्रति हेक्टेयर राहत राशि दिलाई जाएगी। साथ ही फसल बीमा के अंतर्गत फसलों को नुकसान हुआ है उसमें 25 प्रतिशत एडवांस राशि तथा शेष 75 प्रतिशत की राशि फसल आकलन के उपरांत दिलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि मैंने स्वयं खेतों में जाकर फसल नुकसानी का जायजा लिया है।
हजारीलाल की गेहॅू की फसल का लिया जायजा
मुख्‍यमंत्री ने कृषक हजारीलाल के खेत में पहुंचकर गेहॅू फसल का अवलोकन कर हजारीलाल से चर्चा की। कृषक ने बताया कि ओलावृष्टि से गेहूं की फसल को काफी नुकसान हुआ है। साथ ही मेरी बेटी की शादी अगले माह होना तय हुई है। मैं बहुत परेशान हूं। इस पर मुख्यमंत्री ने पीड़ित कृषक को दिलासा दिलाते हुए कहा कि बिटिया की शादी है तो उसका भी इंतजाम हम करवाएंगे, ताकि बेटी की शादी में कोई दिक्कत न आए। इसकी बिल्कुल भी चिंता न करें।
राजकुमारी बाई को बंधाया ढांढस
मुख्‍यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कृषक राजकुमारी बाई के खेत में पहुंचकर सरसों की फसल के नुकसानी का जायजा लिया। इसी दौरान राजकुमारी बाई ने रोते हुए फसल नुकसान के बारे में बताया। मुख्‍यमंत्री ने कृषक राजकुमारी बाई को ढांढस बधाते हुए अपने कंधे से लगाकर भरोसा दिलाया कि फसल नुकसान की भरपाई कर संकट से निकालकर ले जाऊंगा।
मुख्‍यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने लोगो से कहा कि कोविड-19 की तीसरी लहर के संकट को देखते हुए गांव में टीकाकरण से शेष रह गये हो तथा 15 से 18 वर्ष के बच्चों समेत सभी पात्र नागरिक टीका जरूर लगवा लेना और मास्क लगाकर रहना। कोविड की तीसरी लहर आ गई है, उससे भी हम सभी को बचाव एवं सावधानी बरतना जरूरी है। सभी ग्रामीणजन कोविड अनुकूल व्यवहार एवं गाईडलाईन का पालन करें।
जमीन पर बैठकर प्रभारी मंत्री ने सुनी समस्‍याएं
ऊर्जा मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री प्रद्युम्‍न सिंह तोमर ने ग्राम बजावन में मुख्‍यमंत्री के कार्यक्रम में शिरकत की। इस दौरान उन्‍होंने कार्यक्रम स्‍थल पर ग्रामीणों के बीच जमीन पर बैठकर उनकी समस्‍याएं सुनी तथा निराकरण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये।
इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री प्रद्युम्‍न सिंह तोमर, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्यमंत्री श्री बृजेंद्र सिंह यादव, सांसद डॉ. के पी यादव, अशोकनगर विधायक श्री जजपाल सिंह जज्जी, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण उपाध्यक्ष राज्यमंत्री श्री अजय प्रताप सिंह यादव, भाजपा जिलाध्‍यक्ष श्री उमेश रघुवंशी, ग्वालियर संभाग कमिश्नर श्री आशीष सक्सेना, कलेक्टर श्रीमती आर उमामहेश्वरी ,पुलिस अधीक्षक श्री रघुवंश सिंह भदोरिया सहित संबंधित अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि तथा ग्रामीणजन उपस्थित थे।

http://thenewslight.com/TNL48931
Connect with us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!