इम्यूनिटी बूस्ट करने से लेकर कब्ज तक, करीना कपूर की डायटीशियन ने बताए कटहल के बीज के फायदे

कोरोना वायरस की दूसरी लहर से बचने के लिए सभी लोग इन दिनों अपने इम्यून सिस्टम को दुरुस्त करने की कोशिश कर रहे हैं। कुछ लोग अपनी डाइट में इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फलों और हेल्दी ड्रिंक्स का सेवन कर रहे हैं तो तमाम लोग देसी नुस्खों के जरिए प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा रहे हैं। जैसा कि आप जानते ही हैं हमारा शरीर एक प्राकृतिक प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया (Natural immune response) के साथ पैदा होता है, जिसे अक्सर जन्मजात प्रतिरक्षा (Innate immunity) भी कहा जाता है। इम्यून सिस्टम के जरिए ही हम सभी तरह के हानिकारक बैक्टीरिया और वायरस के खिलाफ लड़ पाते हैं।

कोरोना में हम और आप शरीर में मौजूद इम्यून सिस्टम की न सिर्फ शक्ति को पहचान गए हैं बल्कि उसके महत्व से भी अच्छे से रूबरू हो चुके हैं। इसलिए हमें हर हाल में इसे मजबूत बनाना है। देश की जानी-मानी पोषण विशेषज्ञ ने भी लोगों को यह सुझाव दिया है कि अब हमें हमारे पारंपरिक आहार को जीवन शैली में अपनाना चाहिए। मशहूर न्यूट्रिशनिस्ट ने हाल ही में कटहल के बीजों पर एक पोस्ट शेयर की है, जिसमें उन्होंने बताया कि कैसे पुराने समय में लोग इस तरह के हेल्दी फूड्स खाते थे, जिससे इम्यूनिटी बेहतर होती थी।

इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग बनाने के लिए वैसे तो हम कई तरह के खाद्य पदार्थों का सेवन कर सकते हैं। जैसे नट्स, फ्रूट और हरी सब्जियां और कुछ हेल्दी ड्रिंक्स। सेलिब्रिटी डायटीशियन और न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर कहती हैं कि देखा जाए तो पिछले 2 दशकों में हमने अपने आहार में खास ध्यान नहीं दिया है।

तमाम लोग अब हेल्दी मौसमी खाद्य पदार्थ (Seasonal foods) पकाने की बजाए विदेशी फूड आइटम्स और बेकिंग वीडियो को देख अपना समय जाया करते हैं। ऐसा कर कहीं न कहीं हम अपनी सेहत के साथ समझौता कर रहे हैं और उसमें से इम्यून सिस्टम का कमजोर होना भी एक है।

हम ऐसे कई फूड्स को भूल चुके हैं जो हमारी इम्यूनिटी से संबंधित थे। सही मायने में हमें अपने पारंपरिक फूड आइटम्स के बारे में भी जानकारी होना जरूरी है जो हमारे लिए कई तरह से सेहतमंद है।

पारंपरिक फूड से ही जीती जा सकेगी कोविड की जंग

पोषण विशेषज्ञ का कहना है कि अच्छी बात ये है कि अब इस प्रोसेस को बदला जा सकता है। कोरोना काल काल हमें एक बार फिर अपनी जड़ों से जुड़ जाना चाहिए यानी पारंपरिक फूड को अपनी जीवनशैली का हिस्सा बनाने पर जोर देना चाहिए। उन्होंने कहा कुछ लोगों को भले ही ये यात्रा चुनौतीपूर्ण लगे लेकिन सेहत के लिए यही फायदेमंद रहेगी। क्योंकि इसी तरह से हमें अपनी जन्मजात प्रतिरक्षा (innate immunity) को मजबूत बना सकेंगे।

यकीनन जब आप अपने सादा आहार को डेली रूटीन में अपनाते हैं तो सेहत में फायदे भी देखते हैं। दिवेकर ने हाल ही में एक पोस्ट में कुछ पुराने फूड आइटम्स का जिक्र किया है जिनके जरिए हम अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत बना सकते हैं।

रुजुता ने कहा, अपने खानपान की दिनचर्या में हमें अपने खोए हुए फूड आइटम्स का सेवन फिर से शुरू कर देना चाहिए। इस यात्रा में एक कदम आगे बढ़ते हुए सबसे पहले आपके खानपान से गायब फूड्स को वापस लाना होगा।

पोषण विशेषज्ञ ने कटहल के बीज को बताया इम्यूनिटी के लिए रामबाण

रुजुता ने इम्यूनिटी बढ़ाने वाले एक खास पारंपरिक फूड से लोगों का परिचय करवाया है। उन्होंने अपने सोशल पेज पर लिखा, मैं आपको एक फूड के बारे में बता रही हूं जिन्हें अठालय या कटहल के बीज के नाम से जाता है।

ये सब्जी या करी के रूप में भी पकाए जा सकते और चावल के साथ खाए जा सकते हैं। आप चाहें तो इन्हें भूनकर या भाप में पकाकर साथ में नमक और काली मिर्च डालकर स्वादिष्ट स्नैक के रूप में खा सकते हैं।

कटहल के पोषक तत्व

कटहल के बीज में पोटेशियम, प्रोटीन, आयरन और कैल्शियम काफी मात्रा में होता है। 3.5 औंस में 7 ग्राम प्रोटीन, 38 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 1.5 ग्राम फाइबर होता है। यह एक व्यक्ति के सेवन के संदर्भ में 6 प्रतिशत है। इसके अलावा कटहल के बीज में जिंक, विटामिन और फाइबर का भी समृद्ध स्रोत हैं। ये न सिर्फ आपके खान-पान में नयापन लाते हैं बल्कि इनके सेवन से आपके ऊतकों (tissues) की ताकत भी बढ़ती है।

कटहल के बीज न सिर्फ इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कारगर हैं बल्कि इसके अलावा भी इसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं।

कटहल के बीजों में मौजूद फ्लेवेनॉइड तत्व भी कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकता है। एक वैज्ञानिक अध्ययन की मानें, तो यह खराब कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) को कम करके एचडीएल यानी अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में सहायक हो सकता है।कटहल के बीज खाने के फायदे आयरन की कमी के कारण होने वाली एनीमिया की समस्या में भी मददगार हो सकते हैं।स्किन के लिए भी कटहल के बीज फायदेमंद होते हैं। ये थियामिन और राइबोफ्लेविन जैसे विटामिन से समृद्ध होते हैं। ये दोनों ही विटामिन त्वचा के लिए जरूरी माने जाते हैं। इसी आधार पर शोध में कहा गया है कि कटहल के बीज के लाभ में त्वचा को स्वस्थ बनाना भी शामिल है।शोध के अनुसार, कटहल के बीज को में मौजूद फाइबर हमारे पाचन क्रिया को दुरुस्त रखने में सहायक हो सकते हैं।कटहल के बीज के सेवन से कैंसर की समस्या से भी बचाव किया जा सकता है।इसके सेवन से डायरिया यानी दस्त की समस्या से भी छुटकारा मिलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *