कहां आग लगाना चाहते हैं कमलनाथ ? कार्यकर्ताओं से बोले- हमारे पास मौका है आग लगा दो !

भोपाल: पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हड़कंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे एक पत्रकार को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ ने कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओँ यही मौका है आग लगाने का…

भोपाल(इजहार): पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हड़कंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे एक पत्रकार को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ ने कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओँ यही मौका है आग लगाने का…

विधायक उमंग सिंघार के खिलाफ एफआइआर के संदर्भ में हनीट्रैप की पेन ड्राइव होने संबंधी बयान के बाद शुक्रवार शाम को कांग्रेस के लिए एक और मुश्किल खड़ी हो गई। इंटरनेट मीडिया पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ का वीडियो वायरल हो गया, जिसमें वे किसानों के मुद्दे को भुनाने और आग लगाने की बात कह रहे हैं। कांग्रेस की ओर से इस वीडियो को संपादित कर तैयार करने की सफाई दी गई है।

उधर, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बयान जारी किया है। उन्होंने कहा कि कमल नाथ जी की तस्वीर लगाकर और आवाज एडिट कर इसे जारी किया गया है। यह फेक वीडियो है। भाजपा की यही डर्टी पॉलिटिक्स है, भाजपा की आइटी सेल इसमें माहिर है। कांग्रेस इसकी शिकायत साइबर सेल में करेगी। मामले में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि वे प्रदेश को तोड़ना चाहते हैं। आपदा में भी यह सिर्फ बातें करते हैं। कांग्रेस की ओर से वीडियो को झूठा बताने का बयान भाजपा नेता लोकेंद्र पाराशर के ट्वीट पर आया है। यह वीडियो उन्होंने ही ट्वीट किया था।

कांग्रेस में संदेही की तलाश

वीडियो वायरल होने के बाद कांग्रेस में उस व्यक्ति की खोज शुरू हो गई है, जिसके माध्यम से विधायक दल की बैठक का वीडियो सार्वजनिक हो गया। चिंता इस बात की है कि पार्टी फोरम की बैठक का वीडियो संपादित करने की नौबत भी तब आई, जब इसे किसी अपने ने ही बाहर भेजा होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *