कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार के बंगले में फंदे पर मिला शव; सुसाइड नोट में लिखा- तुम गुस्से में बहुत तेज हो, अब सहन नहीं होता

पूर्व वन मंत्री और गंधवानी से कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार के शाहपुरा स्थित बंगले में रविवार को महिला ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। महिला की पहचान सोनिया भारद्वाज (39) के रूप में हुई है। वह हरियाणा की रहने वाली थी। पर्स से सुसाइड नोट भी मिला है। इसमें महिला ने सिंघार के नाम का जिक्र किया है। साथ ही, अफसोस जताया है कि वह उसकी जिंदगी का हिस्सा नहीं बन पाई। सुसाइड नोट में लिखा है- तुम गुस्से में बहुत तेज हो, अब सहन नहीं कर सकती। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। हालांकि पुलिस का कहना है कि सुसाइड नोट में खुदकुशी के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया गया है। पूर्व मंत्री उमंग सिंघार ने कहा, मैं खुद हैरान हूं, उसने ऐसा क्यों किया, वो मेरी अच्छी मित्र थी।

शाहपुरा टीआई महेंद्र मिश्रा के मुताबिक शाहपुरा में मकान नं. 238 पूर्व मंत्री उमंग सिंघार का निजी मकान है। सोनिया भारद्वाज हरियाणा के अंबाला के बलदेव नगर की रहने वाली थी। महिला का पति संजीव अंबाला में रहता है। महिला का 20 साल का बेटा आर्यन है। बताया जाता है कि महिला 25 दिन से उमंग सिंघार के बंगले पर रह रही थी। वह पहले भी दो बार आ चुकी थी। पुलिस ने बताया, महिला बंगले पर बने ऑफिस में रुकती थी। बंगले पर नौकर गणेश अपनी पत्नी गायत्री के साथ रहता था। उसकी पत्नी ही बंगले की साफ-सफाई और महिला को खाना देने का काम करती थी। बताया जाता है कि पूर्व मंत्री की सोनिया से दिल्ली में मुलाकात हुई थी।

रविवार सुबह महिला गई, तो अंदर से दरवाजा बंद था। उसने यह बात अपने पति को बताई। मामले की जानकारी उमंग सिंघार को दी गई। उन्होंने परिचितों को बंगले पर भेजा। दरवाजा खुलवा कर देखा, तो महिला दरवाजे के ऊपर बनी ग्रिल से बंधे दुपट्‌टे से फंदा बनाकर लटकी थी। जब तक उसे उतारा, उसकी मौत हो चुकी थी।

इसकी सूचना पुलिस को दी गई। एएसपी राजेश भदौरिया के मुताबिक मृतका के परिजनों को सूचना दे दी गई है। उनके आने के बाद शव का पोस्टमॉर्टम होगा। रिपोर्ट आने के बाद ही कार्रवाई की जाएगी। एएसपी के मुताबिक महिला के पास से मिले सुसाइड नोट में बेटे आर्यन के बारे में लिखा है। साथ ही, उमर सिंघार का भी जिक्र है। उसमें लिखा है कि अब सहन नहीं होता है, गुस्से बहुत तेज हैं। किसी बात का स्पष्ट जवाब नहीं देते हैं। मामले में पूर्व मंत्री के भी बयान लिए जाएंगे। सुसाइड नोट की हैंड राइटिंग भी जांची जाएगी। पुलिस ने बताया, सोनिया ने सुसाइड नोट में अपने बेटे का जिक्र करते हुए लिखा- मैं तुम्हारे लिए कुछ नहीं कर पाई। जान दे रही हूं। आई लव यू।

इधर, पूर्व मंत्री उमंग सिंघार ने कहा, मैं 3 दिन से अपने विधानसभा क्षेत्र में था। कोरोना मरीजों की सेवा कर रहा था। मुझे आज ही जानकारी मिली और मैँ तत्काल भोपाल आ गया। मैं खुद हतप्रभ हूं कि उसने ऐसा क्यों किया। वो मेरी बहुत अच्छी मित्र थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *