बस स्टैडों पर बसें खडी हो गई, टैंपो भी नहीं चले, यात्री स्टैंडों पर पहुंचे और बसें तलाशते रहे

ग्वालियर। शहर सहित गांव में फैल रहे कोविड 19 के संक्रमण के चलते सार्वजनिक यात्री वाहनों पर प्रतिबंध लगा दिया गया।  बस स्टैडों पर बसें खडी हो गई। टैंपो भी नहीं चले, लेकिन यात्री स्टैंडों पर पहुंचे और बसें तलाशते रहे। भिंड, मुरैना सहित आसपास के कब्जों जाने वाले यात्री परेशान रहे। इसके अलावा टैंपो व आटो बंद किए जाने का चालकों ने विरोध किया।शहर में तेजी से कोविड-19 का संक्रमण फैल रहा है। इस संक्रमण के बीच बस व आटो को चलने की इजाजत थी, लेकिन लेकिन इन वाहनों में भीड़ नियंत्रण व बचाव के कोई इंतजाम नहीं थे। गांव तक भी कोविड-19 का संक्रमण पहुंच गया। बसों से लोग गांव से शहर आ रहे थे और शहर से गांव जा रहे थे। इससे बसों में भी संक्रमण का खतरा था। ग्रामीण रूटों पर पर्याप्त संख्या में सवारियां मिल रही थीं। भयावह स्थित को देखते हुए बसों के पर रोक लगा दी। बसें होने से यात्री परेशान रहे। कोविड-19 के कर्फ्यू के चलते सवारियों की संख्या 40 फीसद रह गई थी।

      राजस्थान व उत्तर प्रदेश जाने वाली बसें 1 मई से बंद कर दी थी। शहर से इन राज्यों में जाने वाली करीब 120 बसें खड़ी थी, लेकिन लोग मुरैना, भिंड व दतिया तक जाने वाली बसों में वहां तक पहुंच रहे थे और उसके बाद दूसरे प्रदेश में जाने के लिए दूसरे साधन पकड़ रहे थे, लेकिन अब जिलों में जाने वाली बंसें भी बंद हो गई हैं। वहीं रेलवे स्टेशन पर यात्रियों का आना-जाना है। इन यात्रियों को सार्वजनिक वाहन नहीं मिल पा रहे हैं।भारतीय प्राइवेट ट्रांसपोर्ट मजदूर संघ ने इस फैसले का विरोध किया है। स्टेशन पर यात्रियों का आना जाना है। ऐसे में आटो बंद किए जाते हैं तो लोगों को परेशानी होगी। साथ ही आटो चालकों की रोजी पर भी संकट आएगा। आटो को दो सवारियां बिठाने के साथ चलाने की इजातत दी जाए और यात्रियों से कोविड-19 की गाइड लाइन का पालन कराया जाएगा। महासंघ के अध्यक्ष नरेंद्र कुशवाह ने कलेक्टर को इस समस्या से अवगत कराया है।

शताब्दी एक्सप्रेस सहित 18 ट्रेनें रद-

कोरोना महामारी के कारण लोग अब अपने घरों में ही क्वारंटाइन हैं। ऐसे में ट्रेनों को यात्री काफी कम संख्या मिल रहे हैं। यात्रियों की कम संख्या को देखते हुए रेलवे बोर्ड ने 18 ट्रेनों को रद कर दिया है। वहीं चार ट्रेनों के फेरों को कम किया है।

रेलवे बोर्ड ने ट्रेन क्रमांक 06151 चेन्नई सेंट्रल से हजरत निजामुद्दीन को 15 से 29 मई तक, (06152) हजरत निजामुद्दीन से चेन्नई सेंट्रल को 17 से 31 मई, (06167) तिरूवन्न्तपुरम सेंट्रल से हजरत निजामुद्दीन को 11 से 25 मई एवं (06168) हजरत निजामुद्दीन से तिरूवन्न्तपुरम को 14 से 28 मई, (02751) नांदेड-जम्मूतवी को सात से 28 मई, (02752) जम्मूतवी से नांदेड को नौ से 30 मई, (02001) हबीबगंज से नई दिल्ली और (02002) नई दिल्ली से हबीबगंज ट्रेन को नौ मई से अगले आदेश तक रद किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *