आयुर्वेद की ओर लौटने लगे लोग:आयुष क्वाथ और गुडुची घन वटी की बढ़ी डिमांड, विभाग ने 1.5 लाख पैकेट मांगे 

डाॅक्टर बोले- आयुष क्वाथ व वटी हैं इम्युनिटी बढ़ाने की सबसे अच्छी दवा, हर उम्र में असरदार

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए लोग आयुर्वेद की ओर लौटने लगे हैं। आयुष विभाग के आयुष क्वाथ और गुड़़ुची (गिलोय) घन वटी, अश्वगंधा वटी आदि दवाओं की डिमांड बढ़ गई है। जींद के सिविल अस्पताल स्थित आयुष विभाग बिल्डिंग में सुबह से लेकर दोपहर बाद तक आने वाले मरीज कहते हैं- डाॅक्टर साहब काढ़ा के पाउच दे दो, साथ में गिलोय वटी भी।

अब विभाग ने मुख्यालय को आयुष क्वाथ के डेढ़ लाख पैकेट भेजने की डिमांड भेजी है। यह जन आरोग्य कवच को किसी भी उम्र का व्यक्ति ले सकता है और कोई साइड इफेक्ट नहीं है। कंटेनमेंट जोन में भी काढ़ा व गिलोय वटी बांटी जा रही हैं।

आयुष विभाग की डाॅ. रितेश के मुताबिक दालचीनी, लोंग, गिलोय, काली मिर्च आदि का मिश्रण है, जो शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है, जिसे घर में भी बनाया जा सकता है।

डाॅक्टर बोले- आयुष क्वाथ व वटी हैं इम्युनिटी बढ़ाने की सबसे अच्छी दवा, हर उम्र में असरदार

जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डाॅ. सुशीला सिंह ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए अंदरूनी शक्ति बढ़ाने की जरूरत है। इम्युनिटी बढ़ाने के लिए आयुर्वेद नुस्खे व दवाएं कारगर हैं। च्यवनप्राश का सेवन करें, सुबह-शाम योग करें। खाने में आंवला, नींबू आदि विटामिन सी युक्त फल जरूर खाएं।

गिलोय, नीम की दातुन करें। संतुलित आहार लें। दिन में कम से कम दो से तीन बार गर्म पानी पीएं, बासी भोजन न खाएं, योग व प्राणायाम व कपालभाति करें। नाक में सरसों का तेल, देसी घी की बूंदें डालें। कोरोना वैक्सीन जरूर लगवाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *