सिर्फ 21 दिन में ही लगेंगे स्पुतनिक के दो टीके, जानें- कितनी असरदार है नई वैक्सीन

भारत में कोरोना के खिलाफ देशव्यापी टीकाकरण अभियान 16 जनवरी को शुरू हुआ। रूसी टीके स्पुतनिक वी के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी के साथ ही भारत के पास अब इस महामारी के खिलाफ तीन-तीन टीके हो चुके हैं। नेशनल रेगुलेटर यानी ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया (DCGI) के आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण (EUA) ने इससे पहले सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) की कोविशिल्ड और भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड (BBIL) द्वारा निर्मित “Covaxin” को मंजूरी दी थी।

स्पुतनिक वी (लिक्विड) को माइनस 18 डिग्री सेल्सियस तापमान पर स्टोर किया जाता है। हालांकि, इसके सूखे प्रारूप को 2-8 डिग्री सेल्सियस पर स्टोर किया जा सकता है। इसके लिए कोल्ड-चेन इन्फ्रास्ट्रक्चर में निवेश करने की आवश्यकता नहीं है। आरडीआईएफ के अनुसार, स्पुतनिक वी को 55 देशों में 150 करोड़ से अधिक लोगों के उपयोग के लिए अनुमोदित किया गया है। वैक्सीन की कीमत 10 डॉलर प्रति शॉट से कम रखने का प्रस्ताव है। हालांकि भारत में इसकी कीमत क्या होगी, यह तय नहीं हो सका है।

आपको बता दें कि पहले दोनों टीकों की तरह इसका इस्तेमाल भी 18 साल अधिक उम्र के लोगों पर किया जा सकेगा। हालांकि भारत में अभी सिर्फ 45 साल से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण हो रहा है। स्पुतनिक वी की दूसरी खुराक 21 दिनों के अंतराल पर देनी है। भारत में फिलहाल 28 दिनों के अंतराल पर दूसरी खुराक दी जा रही है। 

मिल रही जानकारी के मुताबिक, स्पुतनिक वी की 0.5 मिली की दो खुराक में इंट्रामस्क्युलर रूप से दिया जाना है। टीके को -18 डिग्री सेल्सियस पर स्टोर करना होगा। अभी रेड्डी लैब रूस से टीके का आयात करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *