नई गाइडलाइन; इंदौर-भोपाल समेत 11 जिलों में होली पर गेर-जुलूस नहीं निकलेंगे, शादियों में भी सीमित लोग ही बुला सकेंगे

CM शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को कहा कि कोरोना की रफ्तार कम नहीं हो रही। इंदौर भोपाल समेत 11 जिलों में रोजाना 20 से ज्यादा केस आ रहे हैं। इसलिए यहां होली पर गेर और जुलूस निकालने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। त्योहार पर मामूली संख्या में ही इकट्‌ठा हो पाएंगे। शादी और अंतिम संस्कार जैसे कार्यक्रमों में भी आने वाले लोगों की संख्या सीमित ही रहेगी।

हालांकि संख्या को लेकर अभी सरकार ने स्पष्ट नहीं किया है। इन जिलों में जनसुनवाई भी स्थगित की जा सकती है, जो कलेक्टर के विवेक पर निर्भर करेगा। रोजाना 20 से अधिक मरीज वाले जिलों में इंदौर, भोपाल के अलावा जबलपुर, ग्वालियर, खरगोन, उज्जैन, सागर, बैतूल, रतलाम, छिंदवाड़ा और खंडवा शामिल है। यहां प्रतिबंध लागू होंगे।

इधर, अशोकनगर में होने वाले करीला माता मेले को भी रद्द कर दिया गया है। जिन जिलों में केस 20 से कम आ रहे हैं, वहां पाबंदियों को लेकर फैसला जिला स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी पर छोड़ दिया गया है।

सीएम द्वारा बैठक में बताया गया कि रतलाम में राजस्थान और गुजरात सीमा पर चेकिंग प्वाइंट बनाए गए हैं। अशोकनगर में हर साल होने वाला होली मेला इस साल स्थगित कर दिया गया है। इसी तरह निवाड़ी जिले की सीमा उत्तर प्रदेश से लगी है। झांसी में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे में मुख्यमंत्री ने कहा कि सीमा पर चेकिंग प्वाइंट पर सतर्कता बरती जाए।

अगले सात दिन तक दिन में दो बार बजेगा सायरन

जागरूकता के लिए अगले एक सप्ताह तक रोजाना सुबह 11 बजे और शाम को शहरी क्षेत्रों में दो मिनट के लिए सायरन बजाए जाएंगे। मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग ओर सैनिटाइजिंग को लेकर अपील की जाएगी। इसके बाद रोको-टोको अभियान भी चलेगा।

जीवन शक्ति अभियान भी चलेगा

औद्योगिक विकास निगम द्वारा मुफ्त में फेस मास्क वितरण किया जाएगा। यह वितरण उन लोगों को किया जाएगा, जो मास्क नहीं पहनते हैं और उन पर जुर्माना किया गया है।

महाराष्ट्र से लगे जिलों में विशेष सतर्कता के निर्देश

देश में सबसे ज्यादा संक्रमित महाराष्ट्र में सामने आ रहे हैं, इसलिए महाराष्ट्र से लगे जिलों में विशेष सतर्कता रखी जाए। CM ने सोमवार को मंत्रालय से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी जिलों की कोराना पर बनी क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों के सदस्याें से बात की। इस दौरान विधायक और सांसद भी मौजूद रहे। CM ने कहा कि जनप्रतिनिधि और अफसर भी मास्क लगाएं।

बैठक में CM ने कहा – जनप्रतिनिधि और अफसर ‘मेरा मास्क मेरी सुरक्षा’ स्लोगन के साथ सोशल मीडिया पर भी पोस्ट करें। इसको लेकर जन जागरण अभियान भी चलाएं। रोज सुबह 11 बजे और शाम 7 बजे खुद मास्क लगाकर लोगों को भी मास्क लगाने की समझाइश दें। उन लोगों को रोकें-टोकें, जिन्होंने मास्क नहीं लगाए। इसमें धर्मगुरु भी सहयोग करें।

प्रदेश में इंदौर से 27% और भोपाल से 25% केस आ रहे
इस अवसर पर स्वास्थ्य के अपर मुख्य सचिव माेहम्मद सुलेमान ने बताया कि प्रदेश में कोरोना के इंदौर से 27% और भोपाल से 25% केस आ रहे। यह चिंताजनक है और दोनों शहरों में ज्यादा सतर्क रहने और एहतियात बरतने की जरूरत है। बैठक में गृह मंत्री डा. नरोत्तम मिश्र और स्वास्थ्य मंत्री डा. प्रभुराम चौधरी भी उपस्थित थे।

स्व-सहायता समूह करेंगे मास्क की आपूर्ति
काेरोना काल में मास्क बनाने का काम स्व-सहायता समूहों की महिलाओं को दिया गया था। मुख्यमंत्री ने कलेक्टरों से कहा कि मास्क लगाने का अभियान फिर से शुरू किया जा रहा है। ऐसे में ज्यादा से ज्यादा मास्क स्व-सहायता समूहों से बनवाएं।

विहिप नेता खगेंद्र भार्गव की गाड़ी पर हमला, हालात तनावपूर्ण, प्रशासन ने लगाया कर्फ्यू

विदिशा:  हाल ही में विदिशा के मुरवास में सरपंच पति की वन माफिया द्वारा ट्रैक्टर से कुचलकर हत्या कर दी गई थी. अब रविवार को गांव में फिर से तनाव की स्थिति बन गई है. दरअसल रविवार को विश्व हिंदू परिषद के एक नेता पीड़ित परिजनों से मिलने गांव जा रहे थे. उसी दौरान रास्ते में एक वर्ग विशेष के लोगों द्वारा विहिप नेता की गाड़ी पर हमला कर दिया गया. इस दौरान गोली चलने की भी खबर है. इस घटना के बाद स्थिति तनावपूर्ण हो गई है.

बता दें कि विश्व हिंदू परिषद के प्रांत संगठन मंत्री खगेंद्र भार्गव रविवार को पीड़ित परिवार से मिलने गांव गए थे. इसी दौरान रास्ते में वर्ग विशेष के दर्जनभर से ज्यादा लोगों ने विहिप नेता की गाड़ी पर हमला कर दिया. हमलावरों ने विहिप नेता की गाड़ी पर पथराव किया. इस दौरान गोली चलने की भी बात कही जा रही है. घटना की गंभीरता को देखते हुए मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है.

VHP ने किया बयान जारी

विहिप नेता की गाड़ी पर हुए हमले के बाद हिंदूवादी संगठन ने एक बयान जारी कर नाराजगी जाहिर की है. बयान में कहा गया है कि मुरवास लटेरी – संतराम बाल्मिकी को श्रद्धांजलि देने गये, विहिप प्रान्त संगठन मंत्री खगेन्द्र भार्गव की गाड़ी पर अचानक हमला और फायरिंग की गई.वहीं विहिप नेता पप्पू वर्मा ने इस घटना को बहुत ही गम्भीर बताया है और प्रशासन से तुरंत हमला करने वाले आरोपियों पर कार्रवाई की मांग की है. विहिप नेता ने यह चेतावनी भी दी है कि “अगर प्रशासन कार्रवाई नहीं करता है तो हिंदू समाज खुद उत्तर देगा.”

प्रशासन ने लगाया कर्फ्यू

घटना के बाद मुरवास में दो समुदायों के बीच विवाद के हालत पनप गए हैं. ऐसे में स्थिति को देखते हुए कलेक्टर पंकज जैन ने मुरवास में कर्फ्यू लगा दिया है. साथ ही जिला मुख्यालय से बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स मुरवास में तैनात कर दी गई है. इतना ही नहीं प्रशासन के आला अधिकारी भी मौके पर मौजूद हैं और हालात पर नियंत्रण करने की कोशिश कर रहे हैं.

क्या है मामला

बता दें कि हाल ही में लटेरी के मुरवास गांव में वन माफिया ने सरपंच आशादेवी के पति संतराम बाल्मिकी की ट्रैक्टर से कुचलकर हत्या कर दी थी. दरअसल प्रधान पति ने वन माफिया द्वारा वन विभाग की जमीन कब्जाने की शिकायत प्रशासन से कर दी थी. जिसके बाद से ही दोनों पक्षों में विवाद चल रहा था. आरोपी के वर्ग विशेष से जुड़े होने के चलते इस घटना से माहौल सांप्रदायिक हो गया है. भाजपा नेताओं ने भी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रशासन पर दबाव बनाया हुआ है.

कट्‌टा अड़ाकर बदमाशों ने लूटा, शिकायत कर लौट रहे थे तेज रफ्तार डंपर ने कुचल दिए भाई-बहन, दोनों की मौत

ग्वालियर/एक युवक के साथ अजीब घटना हुई है। पहले बाइक सवार बदमाशों ने कट्‌टा अड़ाकर उससे नकदी छीन ली। जब वह शिकायत कर लौट रहा था तो तेज रफ्तार डंपर ने भाई-बहन छीन लिए। डपंर ने बाइक पर सवार उसके बहन-भाई को पहिए के नीचे रौंद दिया। हादसे में शरीर से पहिया गुजरने के कारण मौके पर ही दोनों की मौत हो गई। यह दिल दहला देने वाली घटना भिंड के गोहद स्थित जखारा गांव में हुई है, जबकि लूट ग्वालियर के हस्तिनापुर और भिंड के गोदह सीमा पर भयपुरा में हुई थी। इस घटना के बाद लूट और हादसे का शिकार दीपेश ने पुलिस पर सुनवाई नहीं करने और इसे हादसा नहीं हत्या बताया है। गोहद पुलिस मामले की जांच कर रही है।

उपनगर मुरार के श्रीनगर कॉलोनी निवासी दीपेश गोयल पुत्र कमलेश गोयल रविवार को अपनी बाइक से गोहद भिंड के हरियापुरा गांव पहुंचे थे। यहां उनके फूफा रहते हैं। फूफा ने उसे उसे भैंस खरीदने के लिए 85 हजार रुपए दिए थे। रुपए लेकर दीपेश वापस मुरार के लिए आने को निकला था। अभी वह भिंड के गोहद और ग्वालियर के हस्तिनापुर गांव की सीमा भयपुरा पर था तभी बाइक से आए चार नकाबपोश बदमाशों ने उस पर कट्‌टा तान दिया। कट्टा अड़ाकर बदमाश बाइक, 85 हजार रुपए व मोबाइल लूट लिया। जब उसने विरोध करने का प्रयास किया तो बदमाशों ने दीपेश की मारपीट भी की। वारदात के बाद पीड़ित ने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही गोहद (भिंड) व हस्तिनापुर थाना (ग्वालियर) पुलिस मौके पर पहुंची और जांच के बाद बदमाशों की सर्चिंग की। पर किसी ने भी मामला दर्ज नहीं किया।

लूट के बाद भाई-बहन को भी खोया

सोमवार को दीपेश की मदद के लिए उसका भाई 22 वर्षीय रोहित गोयल और बहन 24 वर्षीय प्रियंका गोयल उसकी मदद के लिए पहुंचे। गोहद थाना में मामले की शिकायत करने के बाद सोमवार दोपहर वापस लौट रहे थे। अभी वह गोहद के जखारा गांव की रोड पर पहुंचे थे कि तभी सामने से आए तेज रफ्तार डंपर ने दीपेश के भाई-बहन की बाइक में टक्कर मार दी । हादसे के बाद भागने के चक्कर में चालक ने डंपर की स्पीड बढ़ा दी। जिस कारण रोहित और प्रियंका के ऊपर से डंपर के पहिए गुजर गए और उनकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद चालक डंपर छोड़कर भाग गया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई है। शवों को निगरानी में लिया जा रहा है।

हत्या का लगाया आरोप
इस मामले में घटना स्थल पर रो रहे दीपेश ने उसके बहन-भाई की हत्या का आरोप लगाया है। उसका कहना है कि लूट करने वालों को सीसीटीवी फुटेज आने के बाद पहचान हो जाती इसलिए उन्होंने डंपर से मेरे बहन-भाई को कुचलकर हत्या की है।

पेट्रोल पंप पर मिले हैं CCTV फुटेज

इसी बीच पुलिस को पता चला कि बदमाश लूटी गई बाइक व मोबाइल इकहरा पेट्रोल पंप के पास छोड़ गए हैं। इसका पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और बाइक व मोबाइल जब्ती में ले लिया। अब पुलिस पेट्रोल पंप पर लगे CCTV कैमरे की फुटेज खंगाल रही है। यहां फुटेज मिले हैं।

रिटायर्ड कैप्टन से अंडा कारोबारी ने उधारी में लिए सात लाख रुपए हड़पे; बोला- अब रुपए वापस मांगे तो अच्छा नहीं होगा

सेना के रिटायर्ड कैप्टन को उनके ही दोस्त ने धोखा देकर 7 लाख रुपए का चूना लगा दिया है। लॉकडाउन में बिजनैस में घाटा होने की बात कहकर दोस्त ने रुपए मांगे थे। जब लौटाने का समय आया तो मुकर गया। जान से मारने की धमकी दी है। घटना मुरार के सूरी नगर की है। घटना की शिकायत पीड़ित ने मुरार थाना में की है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

मुरार थाना क्षेत्र के सूरी नगर निवासी रामबाबू पुत्र लाल सिंह सेंगर सेना से कैप्टन के पद से सेवानिवृत्त हैं। 20 साल से उनकी दोस्ती नगर निगम कॉलोनी निवासी जसपाल सिंह सरदार से है। जसपाल सिंह अंडा कारोबारी हैं। मुरार आर्मी में थोक में अंडा सप्लाई करते हैं। कुछ समय पहले जसपाल सिंह ने अपने रिटायर्ड कैप्टन दोस्त को बताया कि लॉकडाउन में उनका व्यवसाय कुछ चल नहीं रहा है इसलिए उसे 7 लाख रुपए की जरूरत है। जिस पर रामबाबू ने उसे 7 लाख रुपए दे दिए। 6 महीने बीतने के बाद जब उन्होंने रुपए वापस मांगे तो दोस्त टरकाता रहा। कभी बिजनैस तो कभी घर की स्थिति ठीक नहीं होने का हवाला देता रहा।

चेक दिया वो भी हुआ बाउंस

जब काफी समय बीत गया तो उन्होंने उस पर रुपए वापस करने के लिए दबाव बनाया तो जसपाल ने उसे साढ़े छह लाख रुपए का चेक दे दिया और कुछ समय बाद बैंक में लगाने को कहा। उसकी बात मानकर दो माह बाद उन्होंने चेक लगाया तो चेक बाउंस हो गया। जब उन्होंने पैसा वापस मांगा तो जसपाल ने रुपए देने से इनकार कर दिया। साथ ही धमकाया कि वापस आया तो अच्छा नहीं होगा। परेशान रिटायर्ड कैप्टन मुरार थाने पहूंचे और मामले की शिकायत की। शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।

सिंधु नदी के मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच 2 साल बाद कल होगी बैठक

भारत और पाकिस्तान के अधिकारियों के बीच 23-24 मार्च को सिंधु जल के मुद्दे पर बैठक होगी. जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 के हटने और कोरोनावायरस शुरू होने के बाद दोनों देशों के बीच यह पहली बैठक होगी. स्थायी सिंधु आयोग की 116वीं बैठक नई दिल्ली में होने जा रही है. इस बैठक के दौरान लद्दाख जलविद्युत परियोजना सहित जल साझा किए जाने के कई अहम मुद्दों पर चर्चा होने वाली है. भारत ने अनुच्छेद-370 हटने के बाद से लद्दाख में कई जलविद्युत परियोजनाओं को मंजूरी दी है.

स्थाई सिंधु आयोग की बैठक सालाना होती है. सिंधु जल संधि के प्रावधानों के तहत, दोनों आयुक्तों को साल में कम से कम एक बार क्रमवार तरीके से भारत और पाकिस्तान में मुलाकात करनी होती है. पीटीआई भाषा के मुताबिक, भारत ने पिछले दो सालों में लेह के लिए दुर्बुक श्योक (19 मेगावाट), शांकू (18.5 मेगावाट), निमू चिलिंग (24 मेगावाट), रोंगडू (12 मेगावाट), रतन नाग (10.5 मेगावाट), वहीं करगिल के लिए मंगदुम संग्रा (19 मेगावाट), करगिल हुंदेरमन (25 मेगावाट) और तमाशा (12 मेगावाट) परियोजनाओं को मंजूरी दी है.

भारत ने पाकिस्तान को इन परियोजनाओं के बारे में जानकारी दे दी है और माना जा रहा है कि बैठक के दौरान इन पर चर्चा हो सकती है. भारत की तरफ से बैठक में शामिल होने जा रहे सिंधु आयुक्त पीके सक्सेना ने बताया कि चिनाब नदी पर भारत की जलविद्युत परियोजनाओं के डिजाइन पर इस्लामाबाद की चिंताओं पर बातचीत की जाएगी. पीके सक्सेना के साथ केंद्रीय जल आयोग, सेंट्रल इलेक्ट्रिसिटी अथॉरिटी और नेशनल हाइड्रोइलेक्ट्रिक पॉवर कारपोरेशन के उनके सलाहकार भी शामिल होंगे.

पिछले साल की बैठक हुई थी रद्द

इससे पहले यह बैठक मार्च 2020 में होनी थी लेकिन कोरोनावायरस महामारी के कारण इसे रद्द कर दिया गया था. संधि पर हस्ताक्षर के बाद यह पहली बार है जब बैठक को रद्द किया गया था. भारत ने जुलाई 2020 में पाकिस्तान को सिंधु जल संधि से जुड़े मुद्दों पर चर्चा के लिए डिजिटल माध्यम से बैठक का प्रस्ताव दिया था, लेकिन पाकिस्तान अटारी सीमा चौकी पर ही बैठक करने पर अड़ा हुआ था.

पीके सक्सेना ने पीटीआई को बताया था कि स्थिति में सुधार के बाद यह बैठक आयोजित की जा रही है, इसमें कोविड संबंधी सभी प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा. भारत और पाकिस्तान के बीच 1960 में सिंधु जल संधि हुई थी. इस समझौते के प्रावधानों के अनुसार पूर्वी नदियों- ब्यास, रावी और सतलुज के जल पर भारत का, तथा पश्चिमी नदियों – सिंधु, चिनाब और झेलम के जल पर पाकिस्तान का अधिकार है.

ग्वालियर मैं साइबर फ्रॉड डाक्टर के खाते से 50 हजार की ठगी

ग्वालियर. । मोबाइल पर आई लिंक को खोलते ही डाक्टर के खाते से 50 हजार स्र्पये निकल गए। डाक्टर को ठगी का अहसास हुआ तो क्राइम ब्रांच पहुंचकर शिकायत की। विजय नगर के डाक्टर संध्या व पुलकित अहूजा एक हॉस्पिटल का संचालन करते हैं। कुछ दिन पहले वह एक साइट सर्च कर रही थी जिस पर उनकी नजर मेला नाम लिंक पर पड़ी। इस पर उन्होंने ऑनलाइन खरीदारी की तो बिल बना 5615 स्र्पये। जिसका भुगतान उन्होंने ऑनलाइन कर दिया पर भुगतान करने के बाद उन्हें सामान डिलेवर्ड नहंी हुआ। जिसको लेकर उन्होंने गुस्से में आकर लिंक का स्क्रीन शॉट फेसबुक पर डाल दिया। तभी उनके पास एक फोन आया कि कंपनी की बदनामी हो रही है आप पोस्ट हटा दीजिए और मैं एक लिंक भेज रहा हूं उस पर क्लिक करने पर आपके खाते में पैसा वापस आ जाएंगे। उन्होंने फेसबुक से लिंक हटा दी मोबाइल पर लिंक आई उसे खोला तो उनके खाते से 49 हजार 851 स्र्पये कट गए। तब उन्हें ठगी का अहसास हुआ तो क्राइम ब्रांच में शिकायत की। खासबात यह है‍ कि शहर में इस तरह से रोजना ठगी हो रही है। लेकिन न लोग जागरूक नहीं हाे पा रहे हैं। वे अनजान व्‍यक्ति द्वारा भेजी गई गई लिंक को खोलते हैं और उनके खाते से रुपए गायब हो जाते हैंं। पुलिस भी इन ठगों तक नहीं पहुंच पाती। ऐसे में लोगों को चूना तो लग ही जाता है।

एयरपोर्ट पर शख्स के सिर से झमाझम बरसने लगा ‘सोना’, जानिए क्या है पूरा मामला

एयरपोर्ट पर तस्करी के लिए तस्कर नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं. एक ऐसा ही मामला चेन्नई इंटरनेशनल एयरपोर्ट से सामने आया है जहां दुबई से आए दो यात्रियों की जब चैंकिंग की गई तो सुरक्षाकर्मी भी हैरान रह गए. दरअसल सुरक्षाकर्मियों ने जब दोनों की तलाशी ली तो उन्हें कुछ शक हुआ. जिसके बाद दोनों यात्रियों का ‘मुंडन’ कराया तो हर कोई दंग रह गया.

एक रिपोर्ट के मुताबिक दोनों यात्रियों ने सिर पर विग पहनी हुई थी और उसके नीचे सोना छिपा रखा था. जैसे ही दोनों का मुंडन कराया तो उनके सिर से सोना गिरने लगा. इसके बाद कस्टम अधिकारियों ने 7 और यात्रियों को पकड़ा जिनमें से तीन के सिर में से सोना और चार के सिर में से विदेशी करेंसी मिली. इस जांच के दौरान कुल 14 यात्री पकड़े गए हैं.

इन तस्करों के पास से ढ़ाई करोड़ से अधिक की कीमत का सोना बरामद किया गया और साथ ही 24 लाख रुपए की विदेशी करेंसी जब्त की गई. जिन यात्रियों के सिर से सोना पकड़ा गया है वो शारजाह जाने की जुगत में लगे थे. दोनों यात्री जब एयरपोर्ट पर उतरे तो सुरक्षाकर्मियों ने देखा कि उनके बाल कुछ ज्यादा चमक रहे थे. ऐसे में पुलिस दोनों यात्रियों के बाल हिलाने लगी. जिससे ये पता चल गया कि दोनों ने विग पहनी हुई है.

पुलिस ने तुरंत विग को निकलवाया तो विग में सोने गिरने लगा था. वहीं एक शख्स ने तो शरीर के अंदरुनी भाग में सोना छिपाया हुआ था. आपको बता दें कि ये कोई ऐसा पहला वाकया नहीं, जब तस्करों ने तस्करी के लिए इस तरह का अनूठा तरीका खोजा हो. इससे पहले भी तस्करी से जुड़े कई मामले ऐसे आए हैं. जिनके बारे में सुनकर किसी के भी होश उड़ना लाजिमी है.

लॉकडाउन पर फिर बैठक होगी, CM ने दिए 8वीं तक के स्कूल 1 अप्रैल से नहीं खुलने के संकेत

कोरोना की बढ़ती रफ्तार के बीच रविवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि होली को लेकर सोमवार को क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक में फैसला किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने 8वीं तक के स्कूल 1 अप्रैल से नहीं खुलने के संकेत दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस तरह से कोरोना केस बढ़ रहे हैं, उससे नहीं लगता कि छोटे बच्चों के लिए स्कूल खोले जा सकते हैं। इसे लेकर भी जल्द बैठक की जाएगी। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन को लेकर भी एक बार फिर बैठक की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा है, प्रदेश के अन्य शहरों की तुलना में इंदौर, भोपाल और जबलपुर में पिछले माह की तुलना में ज्यादा केस आ रहे हैं। 23 मार्च को संकल्प अभियान होगा। इस दिन प्रदेश में सुबह 11 और शाम 7 बजे सायरन बजेगा। आमजन 2 मिनट का संकल्प लेंगे, जिसमें मास्क का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना शामिल है। बता दें कि 29 मार्च को होली है, जबकि 28 मार्च रविवार को मुस्लिमों का त्योहार शब-ए- बारात है। इसके अलावा अप्रैल माह में रंगपंचमी और रमजान का महीना शुरू होगा।

1 साल से बंद हैं प्राइमरी-मिडिल स्कूल
कोरोना के बिगड़ते हालात को देखते हुए 1 अप्रैल से 8वीं तक के स्कूल खोलने को लेकर संशय है। इसे लेकर 18 मार्च को हुई बैठक में निर्णय नहीं हुआ। बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि स्कूलों को लेकर अलग से बैठक करेंगे। मुख्यमंत्री ने एक बार फिर कहा है, जल्दी बैठक कर निर्णय लेंगे।

बता दें, मध्यप्रदेश में 1 अप्रैल से पहली से 8वीं तक के स्कूल फिर से खुलने की तैयारी स्कूल शिक्षा विभाग ने कर ली थी। यही वजह है, नए शिक्षण सत्र के लिए सभी स्कूलों में दाखिला शुरू हो गया है।

जरूरत हुई, तो मैं खुद गोले बनाऊंगा
मुख्यमंत्री ने कहा, सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए पहले भी उपाय किए गए थे। इसका जनता ने पालन भी किया था। अब फिर से इसकी आवश्यकता महसूस की जा रही है। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए दुकानों के सामने ग्राहक के खड़े होने के लिए गोले बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि वे खुद भी इस कार्य को देखेंगे और जरूरत पड़ी तो वे खुद भी गोले बनाएंगे।

सीएम का नारा- ‘मेरी होली, मेरे घर’

मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘मेरी होली- मेरे घर’ के नारे को त्योहार पर दिनचर्या में उतारा जाएगा। इससे पहले, बुरहानपुर कलेक्टर प्रवीण सिंह ने ‘माझा परिवार-माझा होली’ का नारा दिया था। सीएम ने कहा कि त्यौहार पारिवारिक स्तर पर सावधानी के साथ मनाए जाएं। संक्रमण को रोकना हम सभी के हाथ में हैं।

कांग्रेस का तंज- अब सायरन का शिगूफा
पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अजय यादव ने कहा कि कोरोना संक्रमण के मामले में मध्यप्रदेश सरकार गंभीर नहीं है। उन्होंने कहा है कि ताली-थाली के बाद अब मुख्यमंत्री द्वारा सायरन बजाने की अपील का शिगूफा छोड़ा है। सरकार की लापरवाही का परिणाम है। संक्रमण प्रदेश में 100- 200 से बढ़ते-बढ़ते 1300 के पार पहुंच गए हैं। सरकार एक तरफ कोरोना काल में बड़े- बड़े आयोजन कर रही है, जिसमें मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता 4-5 हजार लोगों की भीड़ इकट्ठा कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण फैलने की मुख्य वजह यही है। सरकार इसे छुपाने के लिए नया शिगूफा लाई है।

रिटायर्ड SP से 33.35 लाख की ठगी:रेत खदान में पार्टनर बनाकर लाखों कमाने का दिया लालच; रुपए मांगने पर कहा- अब मत आना नहीं तो मारकर फिंकवा देंगे

ग्वालियर में EOW के रिटायर्ड SP को उनके ही दो पार्टनर रेत खदान में साझेदारी का झांसा देकर 33.35 लाख रुपए ठग लिए। जब वे कारोबारियों के यहां रुपए मांगने पहुंचे, तो आरोपियों ने कहा, अब वापस यहां मत आ जाना, नहीं तो मरवाकर फिंकवा देंगे। इसकी शिकायत रिटायर्ड SP ने विश्वविद्यालय थाना में की थी। जांच के बाद पुलिस ने आरोपियों पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। घटना शहर के बलवंत नगर थाटीपुर में वर्ष 2017 से 2021 के बीच की है।

थाटीपुर स्थित E-77 बलवंत नगर निवासी ओम प्रकाश मित्तल (69) EOW से रिटायर्ड SP हैं। 9 साल पहले वह ग्वालियर से ही रिटायर्ड हुए हैं। उन्होंने शिकायत में बताया, वह छतरपुर जुड़ीपुर निवासी राजकुमार पटेल पुत्र रामअवतार पटेल से पहले से परिचित हैं। राजकुमार उनके बेटे पीयूष मित्तल के साथ फर्म राज कंस्ट्रक्शन में साझेदार हैं। उसमें ओपी मित्तल भी साझेदार हैं। वर्ष 2017 में राजकुमार अपने बड़े भाई सुरेंद्र पटेल के साथ आया। उसने बताया कि एक बड़ी रेत खदान का ठेका उन्हें मिल रहा है। वह उन्हें उसमें साझेदार बना सकते हैं। ऐसे में ओपी मित्तल भी तैयार हो गए। बदले में तय हुआ कि रिटायर्ड SP EOW उन्हें 33.35 लाख रुपए अभी दे दें। शेष रकम वह खुद लगाएंगे। उनका कंपनी में हिस्सा होगा और हर महीना लाखों की इनकम होगी।

हर महीने दो लाख रुपए का दिया लालच
दोनों कारोबारियों ने रिटायर्ड SP को हर महीने दो लाख रुपए देने का वादा किया। ओपी मित्तल ने अपने विभिन्न बैंक खातों से RTGS और NEFT के जरिए 33.35 लाख रुपए राजकुमार और सुरेन्द्र के खाते में जमा करा दिए। इसके बाद न तो रकम वापस मिली और न ही हर महीने दो लाख रुपए लाभ मिला। पहले बात करने पर दोनों कारोबारी कहते रहे कि रेत खदान का काम लटक गया है। इसके बाद आज कल की कहकर टालते रहे।

फोन उठाना किया बंद, घर पहुंचे, तो दी हत्या की धमकी

जब रुपए लिए 3 साल से ज्यादा समय हो गया, तो आरोपी कारोबारियों ने फोन रिसीव करना ही बंद कर दिया। इस पर रिटायर्ड SP EOW उनके घर पहुंचे। यहां राजकुमार और सुरेन्द्र ने कहा कि कौन से पैसे। तुमसे हमने रुपए नहीं लिए। अब वापस यहां आया, तो तुझे मार कर फिकवा देंगे। इसके बाद रिटायर्ड SP ने मामले की शिकायत पुलिस में की। पुलिस ने दोनों आरोपियों पर धोखाधड़ी की FIR दर्ज कर ली है। पुलिस अफसरों का कहना है कि जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी।