Hathras Case: मृत युवती के भाई और आरोपित की कॉल डिटेल से आया नया मोड़, दोनों में हुई 104 बार बातचीत

लखनऊ, । हाथरस कांड में मंगलवार को सबसे बड़ा मोड़ सामने आया है। मृत युवती के भाई और घटना के मुख्य आरोपित संदीप सिंह की कॉल डिटेल से पता चला है कि दोनों नंबरों पर लंबी बातचीत हुई है। 13 अक्टूबर 2019 से मार्च 2020 के बीच इन नंबरों पर 104 से अधिक कॉल हैं। कुल कॉल अवधि पांच घंटे से अधिक हैं। कॉल डिटेल से साफ है कि दोनों नंबरों पर लगातार बातचीत की गई है।

मृत युवती के भाई और घटना के मुख्य आरोपित संदीप सिंह की कॉल डिटेल सामने आने के बाद इसे लेकर कई सवाल भी खड़े हो रहे हैं। सवाल यह भी उठ रहा है कि जब युवती और आरोपित संदीप सिंह के घरों का फासला ज्यादा नहीं है तो मोबाइल के जरिये दोनों नंबरों पर इतनी बातचीत की वजह आखिर क्या है। कॉल डिटेल से यह भी स्पष्ट हुआ है कि युवती के भाई के नंबर से आरोपित संदीप सिंह के नंबर पर 62 बार और संदीप के नंबर से युवती के भाई के मोबाइल पर 42 बार काल की गई।

दोनों नंबरों की लोकेशन चंदपा थाना क्षेत्र :

 कॉल डिटेल की समीक्षा में यह भी सामने आया है कि अधिकतर कॉल के दौरान दोनों नंबरों की लोकेशन चंदपा थाना क्षेत्र की ही है। एक मोबाइल युवती के भाई की आइडी पर और दूसरा संदीप सिंह की आइडी पर है। कॉल डिटेल से अब यह स्पष्ट हो रहा है कि युवती के भाई व मुख्य आरोपित के बीच पुरानी जान-पहचान है। पुलिस कॉल डिटेल के आधार पर भी अपनी छानबीन करने के साथ ही इसे लेकर मुख्य आरोपित से पूछताछ की तैयारी भी कर रही है। हालांकि पुलिस अधिकारी इसे लेकर कुछ बोलने से इनकार कर रहे हैं।

मोबाइल कॉल की सीडीआर से खुलेगा राज :

 हाथरस केस में आरोपितों और पीड़ित पक्ष के मोबाइल नंबरों की कॉल डीटेल अहम भूमिका अदा कर सकती है। माना जा रहा है कि जांच एजेंसी इसका जल्द राजफाश करेगी। बताया जा रहा है कि जांच एजेसियों ने चारों आरोपितों के मोबाइल फोन की कॉल डीटेल निकलवाई है। साथ ही पीड़ित के परिवारीजन के नंबरों की भी सीडीआर निकलवाई है। पुलिस जांच रही है कि वारदात वाले दिन आरोपितों और पीड़ितों के परिवारीजन की लोकेशन कहां-कहां थी। आरोपित का परिवार लगातार कहा रहा है कि घटना के वक्त वे वहां मौजूद नहीं थे। बताया जा रहा है कि पुलिस यह भी जांच कर रही है कि आरोपित और पीड़ित पक्ष के बीच फोन पर बात होती थी या नहीं। इस बीच यह भी कॉल डीटेल में सामने आई है कि आरोपी संदीप और पीड़िता के भाई के बीच 104 बार और करीब पांच घंटे बात हुई है।

एसआइटी बुधवार को सौंप सकती है जांच रिपोर्ट :

 हाथरस कांड की जांच करने के लिए गठित गठित विशेष जांच दल (एसआइटी) बुधवार को योगी सरकार को जांच रिपोर्ट सौंप सकती है। गृह सचिव भगवान स्वरूप की अध्यक्षता में गठित एसआइटी ने अपनी जांच लगभग पूरी कर ली है। सूत्रों का कहना है कि एसआइटी ने पुलिसकर्मियों समेत करीब 100 लोगों के बयान दर्ज किए हैं। कई अन्य पुलिसकर्मियों की लापरवाही भी सामने आई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर 30 सितंबर को गृह सचिव की अध्यक्षता में एसआइटी गठित की गई थी। एसआइटी में डीआइजी चंद्र प्रकाश व एसपी पूनम बतौर सदस्य शामिल हैं। एसआइटी ने हाथरस में युवती के परिवार से मुलाकत करने के साथ ही कई बिंदुओं पर सिलसिलेवार जांच की है। सरकार हाथरस कांड की सीबीआइ जांच कराने की सिफारिश भी कर चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *