बॉम्बे हाई कोर्ट से रिया चक्रवर्ती को मिली जमानत, अभी जेल में ही रहेगा शोविक

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच के दौरान सामने आए ड्रग्स मामले में गिरफ्तार अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) को आज यानी बुधवार को बॉम्बे हाई कोर्ट (Bombay High Court) ने अपना फैसला सुनाते हुए जमानत दे दी है. हालांकि उनका भाई शोविक चक्रवर्ती अभी जेल में ही रहेगा, क्योंकि कोर्ट ने उसकी जमानत अर्जी खारिज कर दी है.

रिया चक्रवर्ती समेत पांच लोगों की जमानत याचिका को लेकर आज बॉम्बे होई कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया. रिया के अलावा सैमुअल मिरांडा और दीपेश सावंत को भी कोर्ट ने बेल दी है. वहीं शोविक और अब्दुल परिहार की जमानत याचिका को कोर्ट ने खारिज कर दिया है. फिलहाल, इन दोनों को अभी जेल में ही रहना पड़ेगा.

देश से बाहर नहीं जा सकती रिया

रिया चक्रवर्ती को एक लाख रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दी गई है. इतना ही नहीं उन्हें देश से बाहर जाने की भी इजाजत नहीं है. उन्हें अपना पासपोर्ट जमा कराना होगा. इसके अलावा एनसीबी जब भी रिया को पूछताछ के लिए बुलाएगी, उन्हें हाजिर होना पड़ेगा.

अपना फैसला सुनाते हुए कोर्ट ने कहा कि अगर रिया, मुंबई से बाहर जाती हैं तो उन्हें जांच अधिकारियों को पहले सूचित करना होगा. साथ ही रिया को जमानत देने से पहले कोर्ट ने यह भी कहा कि रिया को रिहाई के बाद दस दिनों तक अपने पास के पुलिस स्टेशन में अपनी उपस्थिति दर्ज करानी होगी. कोर्ट की पूर्व अनुमति के बिना रिया देश के बाहर यात्रा नहीं करेंगी.

रिया के वकील का बयान

रिया को जमानत मिलने के बाद उनके वकील सतीश मानशिंदे ने कहा कि हम माननीय बॉम्बे हाई कोर्ट द्वारा रिया को बेल दिए जाने के आदेश खुश हैं. सत्य और न्याय की जीत हुई है. जस्टिस सारंग वी कोतवाल ने उन तथ्यों और कानून को स्वीकार किया जो कि उनके सामने प्रस्तुत किए गए. रिया की गिरफ्तारी और हिरासत पूरी तरह से अनुचित और कानून की पहुंच से परे थी. तीन केंद्रीय एजेंसियों द्वारा हाउंडिंग और विच हंट किया गया. हम सत्य के लिए प्रतिबद्ध हैं. सत्यमेव जयते.

कोर्ट ने 29 सिंतबर को सुरक्षित रख लिया था फैसला

इस मामले में 29 सितंबर को जस्टिस सारंग वी कोतवाल की सिंगल जज बेंच ने सुनवाई की थी. सुनवाई पूरी होने के बाद जस्टिस सारंग ने रिया समेत अन्य लोगों की जमानत याचिका पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था. दरअसल, इस सुनवाई के दौरान नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने सभी आरोपियों की जमानत याचिका का कोर्ट में विरोध किया था. एनसीबी की तरफ से दलील दी गई थी कि यह अपराध हत्या या गैर इरादतन हत्या से भी बदतर है.

रिया और शोविक पर ड्रग्स सिंडिकेट चलाने का आरोप है. एनसीबी ने जांच में पाया कि रिया और शोविक मुंबई के कई बड़े ड्रग्स पैडलर के संपर्क में थे. यह दोनों सैमुअल मिरांडा के जरिए इन पैडलर से ड्रग्स खरीदकर सुशांत को देते थे. ड्रग्स मामले में एनसीबी ने अभी तक करीब 20 लोगों को गिरफ्तार किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *