शनि की साढ़ेसाती का इन तीन राशियों पर है असर, शनि के मार्गी होने पर ये करें उपाय


ज्योतिष शास्त्र में शनि को प्रभावशाली ग्रह माना गया है. शनि के राशि परिवर्तन से सभी जातकों पर इसका गहरा प्रभाव पड़ता है. शनि जब एक राशि परिवर्तन से सभी जातकों पर इसका गहरा प्रभाव पड़ता है. शनि जब एक राशि को छोड़कर दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं तब कुछ राशि को पर शनि का साढ़ेसाती सवार हो जाती है.

बताते चलें कि शनिदेव 29 सितंबर की सुबह 10 बजकर 28 मिनट से मार्गी हो गए हैं. इससे पहले शनि 11 मई 2020 को वक्री हुए थे. जिनकी जन्मकुंडली में शनिदेव की अशुभ स्थिति थी उनके लिए बहुत बड़ी राहत की खबर है.

बताया जा रहा है कि मकर और कुंभ राशि के स्वामी शनि मेष राशि में नीचराशि के और तुला राशि में उच्चराशि के माने गए हैं. इनके वक्री और मार्गी होने का प्रभाव जनमानस पर प्रत्यक्ष दिखाई देता है.
ज्योतिष के मुताबिक इस बार 12 राशियों में से तीन राशियों पर इस प्रभाव देखने को मिलेगा.

जिसमें धनु, मकर और कुंभ राशि शामिल हैं. कहा जा रहा है कि धनु पर साढ़ेसाती का अंतिम चरण, मकर राशि पर दूसरा चरण और कुंभ राशि पर पहला चरण चल रहा है. इसके अलावा मिथुन और तुला राशि पर शनि की ढैय्या चल रही है.

करें ये उपाय-
शनिवार की शाम को पीपल के वृक्ष में जल चढ़ाएं और सरसों के तेल का दीपक जलाएं.

शनिदेव को शनिवार के दिन तेल अर्पित करें.

इसके अलावा आप शनिदेव को खुश करने के लिए नियमित तौर पर हनुमानजी की पूजा और हनुमान चालीसा का पाठ करें.

इसके अलावा काले या नीले रंग के वस्त्र धारण करें और गरीबों को दान दें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *