अगर ऐसे संकेत हों , लक्ष्मी की बरकत होने वाली है 

आइए जानते हैं कौन से होते हैं ये संकेत

देवी-देवता जब हम पर खुश या फिर अप्रसन्‍न होते हैं तो वे किसी न किसी माध्‍यम से हमें इस बात का संकेत देते हैं। आज हम बात करेंगे माता लक्ष्‍मी के प्रसन्‍न होने की। मां लक्ष्मी जब हम पर प्रसन्‍न होती हैं, तो वह हमें कुछ ऐसे संकेत देती हैं जो हमें खुश करते हैं और सुकून देते हैं। मां लक्ष्‍मी के प्रसन्‍न होने का अर्थ है कि आने वाले वक्‍त में हमें धन लाभ होगा। आइए जानते हैं कौन से होते हैं ये संकेत…

इन अंगों का फड़कना

कुछ अंगों का फड़कना सौभाग्‍य का सूचक माना जाता है। इन अंगों फड़कने से आपको धन का लाभ होता है। इनमें से यदि आपकी भृकुटी या फिर बाजू का मध्‍य भाग अगर फड़कता है तो आपको बेहद खुश हो जाने की जरूरत है। इन अंगों का फड़कना लक्ष्‍मी प्राप्ति का संकेत माना जाता है। अगर कभी आपके भी ये अंग फड़कें तो समझ जाना चाहिए कि मां लक्ष्‍मी आप पर मेहरबान हैं और जल्‍द ही आपको धन लाभ होने वाला है।

तोता उड़कर आ जाए घर

अगर कहीं से आपके घर में तोता उड़कर आ जाए तो इसे सौभाग्‍य से जोड़कर देखा जाता है। घर में तोते का आगमन बेहद शुभ माना जाता है। तोते को लक्ष्‍मी प्राप्ति के संकेत के तौर पर देखा जाता है। तोते का बोलना और पंख फड़फड़ाना बहुत ही अच्‍छा माना जाता है।

काली चींटियां मुंह में चावल लाती दिखें

अगर कहीं आपके घर में काली चींटियां मुंह में चावल भरकर लाती हुई दिख जाएं तो आपको खुश हो जाना चाहिए। इसका अर्थ है जल्‍द ही मां लक्ष्‍मी खुद चलकर आपके भंडार भरने के लिए आपके घर पधारने वाली हैं। आपको कहीं से बड़ी मात्रा में धन की प्राप्ति होने वाली है।

अगर आपके माथे पर
छिपकली गिर जाए

अगर कभी आपके माथे पर छिपकली गिर जाए तो घबराने की जरूरत नहीं है, बल्कि आपको खुश हो जाना चाहिए। माथे पर छिपकली का गिरना धन के आगमन का प्रतीक माना जाता है। माथे पर छिपकली का गिरना आपके भाग्‍य में परिवर्तन का संकेत है। ऐसा होने पर आपको मां लक्ष्‍मी प्रणाम करके उन्‍हें धन्‍यवाद कहना चाहिए।

घर के सामने गाय आकर बोले

अगर कभी आपके घर के सामने आकर गाय बोलने लगे तो इसे सुख, समृद्धि और सौभाग्‍य का प्रतीक मानना चाहिए। गाय द्वार पर आए तो उसका स्‍वागत करना चाहिए और उसको खाने के लिए हरा चारा डालना चाहिए। गाय अगर उसको पूरा खा लेती है तो समझ जाना चाहिए कि मां लक्ष्‍मी आप पर प्रसन्‍न और मेहरबान हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *