170 करोड़ के नए शौचालय अंतरिक्ष में भेजेगा नासा, चंद्रमा और मंगल पर प्रयोग के लिए हो रहा परीक्षण

वाशिंगटन, । अमेरिकी अंतरिक्ष अनुसंधान एजेंसी नासा 2.3 करोड़ डॉलर (करीब 170 करोड़ रुपये) मूल्य के शौचालय इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (ISS) में भेजेगा। वहां पर इनके इस्तेमाल के अनुभवों के आधार पर इनके चंद्रमा और मंगल ग्रह पर इस्तेमाल की संभावना तलाशी जाएंगी।

अन्य सामान के साथ ये शौचालय 29 सितंबर को वर्जीनिया के नासा की वैलप्स फ्लाइट फैसिलिटी से अंतरिक्ष यान के जरिये भेजे जाएंगे। भेजे जा रहे स्पेस टॉयलेट को यूनिवर्सल वेस्ट मैनेजमेंट सिस्टम का नाम दिया गया है, ये छोटे और सुविधाजनक हैं। इस समय जो टॉयलेट आइएसएस में स्थापित हैं, उनसे ये 65 प्रतिशत छोटे और 40 प्रतिशत हल्के हैं। इसी टॉयलेट को ओरियन अंतरिक्ष यान में भी इस्तेमाल किया जाएगा, जो अंतरिक्ष यात्रियों के दस दिन के अभियान पर चंद्रमा पर ले जाएगा और वापस लेकर आएगा।

मूत्र को शोधित करने की है व्यवस्था

इस नए टॉयलेट में मल और मूत्र को शोधित करने की भी व्यवस्था है। मूत्र को शोधित कर पुन: इस्तेमाल योग्य पानी में बदला जाएगा, जरूरत पड़ने पर अंतरिक्ष यात्री इसी पी भी सकेंगे। जबकि मल को बाद में फेंक दिया जाएगा।

नासा की अंतरिक्ष यात्री जेसिका मीयर ने बताया है कि हम मूत्र, पसीने और अन्य तरल पदार्थो की 90 प्रतिशत मात्रा तक शोधित कर लेते हैं, जिन्हें हम बाद में इस्तेमाल में ले लेते हैं। धरती पर पानी का शोधन हवा के जरिये होता रहता है लेकिन अंतरिक्ष में ऐसा नहीं हो पाता।

अंतरिक्ष से वोट डालेंगी NASA की अंतरिक्ष यात्री

नासा के अंतरिक्ष यात्री केट रूबिंस ने कहा कि वह अपना अगला वोट अंतरिक्ष से देने की योजना बना रही है। केट रूबिंस ने शुक्रवार को द एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि वह पृथ्वी से 200 मील से अधिक दूर अंतरिक्ष से अपना अगला वोट डालने की योजना बना रही है। रुबिन रूस के स्टार सिटी में मॉस्को के ठीक बाहर है, जो अक्टूबर के मध्य में लॉन्च के लिए दो कॉस्मोनॉट्स के साथ तैयारी कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *