प्रेम प्रसंग को लेकर शिवपुरी के गांगुली गांव में गोलियां चलीं………..

शिवपुरी. जिले के सुरवाया थानांतर्गत ग्राम गांगुली गुरुवार दोपहर करीब 12 बजे गोलियों की तड़तड़ाहट से सहम उठा। दरअसल, दो गांव से आए करीब डेढ़ दर्जन लोगों ने फिल्मी अंदाज में बंदूक और पिस्टल से ग्राम गांगुली निवासी सेवाराम गुर्जर के परिवार के लोगों पर ताबड़तोड़ कई फायरिंग की। घटना में घटना में सेवाराम के बड़े भाई राज महेंद्र (40) पुत्र पंजाब सिंह गुर्जर की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 7 अन्य लोग घायल हो गए। तीन की हालत नाजुक होने पर ग्वालियर रैफर किया गया है।घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी गाडिय़ों में सवार होकर हथियार लहराते हुए भाग निकले। बताया जाता है, इस दौरान हमलावरों ने वर्षा को साथ ले जाने के लिए इधर-उधर काफी खोजा, लेकिन जब वह नहीं मिली तो वह सेवाराम के परिवार की एक महिला को जबरन ले जाने लगे, लेकिन गांव वालों के सामने वह उस महिला को नहीं ले जा पाए। घटना से गांव में दहशत व तनाव का माहौल है। सुरक्षा की दृष्टि से गांव में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। इधर, पुलिस ने इस मामले में भारत, बिल्लू पप्पू, नीलम गुर्जर सहित डेढ़ दर्जन लोगों के खिलाफ हत्या, हत्या के प्रयास सहित अन्य गंभीर धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया है। घटनाक्रम में 8 नामदर्ज व अन्य लोगों पर हत्या व हत्या के प्रयास का केस दर्ज किया है।

दो माह पूर्व साथ ले आया था महिला को
जानकारी के मुताबिक ग्राम गांगुली निवासी सेवाराम गुर्जर (25) और ग्राम छिरारी थाना करैरा निवासी वर्षा गुर्जर (22) के बीच प्रेमप्रसंग था। करीब चार साल पहले वर्षा का विवाह अमोला क्षेत्र के नयाखेड़ा गांव निवासी मोहरसिंह गुर्जर के साथ हुआ था। लेकिन, वर्षा का सेवाराम से मिलना-जुलना जारी रहा। सेवाराम वर्षा को उसकी सहमति से अगस्त 2020 को अपने गांव ले आया और दोनों ने शपथ पत्र के आधार पर साथ रहने की सहमति जताते हुए शादी कर ली।

महिला ने ससुराल जाने से किया था मना
इधर, वर्षा के गायब होने पर ससुराल पक्ष ने अमोला थाने में 15 अगस्त 2020 को गुमशुदगी दर्ज कराई थी। इस दौरान महिला के ससुराल और मायके पक्ष को पता चल गया था कि वर्षा सेवाराम के साथ रह रही है। 4 सितंबर 2020 को महिला पुलिस ने गांगुली गांव जाकर वर्षा को अपने ससुराल चलने को कहा, लेकिन उसने साथ चलने से मना कर दिया और सेवाराम के साथ ही रहने की बात कही। इसके बाद पुलिस वापस लौट गई।

समाज की भी नहीं सुनी, सेवाराम के साथ रही
बताते हैं, जब वर्षा ने ससुराल जाने से इनकार कर दिया तो उसके घर और ससुराल वालों ने परिवार, रिश्तेदार और समाज के लोगों के साथ पंचायत कर इस बात का प्रयास किया कि सेवाराम, वर्षा को छोड़ दे, ताकि वह वापस ससुराल आ जाए। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। सेवाराम के परिजनों के मुताबिक वर्षा सेवाराम की पत्नी के रूप में रहने की जिद पर अड़ गई। वह किसी भी कीमत पर वापस ससुराल नहीं जाना चाहती।

फोन पर सेवाराम को दी थी धमकी
सेवाराम ने अस्पताल में मीडिया से बात करते हुए बताया, वर्षा के पति मोहरसिंह गुर्जर और उसके अन्य रिश्तेदार पिछले तीन-चार दिन से उसे फोन पर धमका रहे थे कि वह वह जल्द ही उसके गांव आकर उसे मार डालेंगे।

नीलम ने आकर मार दी गोली…
गंभीर रूप से घायल राजवीर ने बताया, मैं घटना के वक्त भैंस का दूध दूह रहा था। अचानक से लोग हाथों में हथियार लेकर गोलियां चलाते हुए आए। इन्हीं में शामिल नीलम पुत्र गब्बर सिंह गुर्जर ने उसे गोली मार दी।

इनको लगी गोली…
घटना में सेवाराम का भाई राजवीर (25) और परिवार के बलराम (16) पुत्र नंदकिशोर गुर्जर, मुनीराम (30) पुत्र सीताराम गुर्जर, मंजेश (35) पत्नी केशव गुर्जर, अनूप (25) पुत्र कप्तान सिंह गुर्जर, आकाश (6) पुत्र केशव गुर्जर, छोटू (13) पुत्र मुनीराम गुर्जर को गोली और बंदूक के छर्रे लगे हैं। सभी को पहले जिला अस्पताल लाया गया, जहां मंजेश, मुनीराम, राजवीर की हालत गंभीर देखते हुए ग्वालियर रैफर कर दिया गया।

जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी होगी

मामला एक महिला को लेकर है। घायलों का उपचार चल रहा है, हमने आरोपियों को पकडऩे के लिए कई टीमों के साथ संभावित ठिकानों पर घेराबंदी कर रहे हैं। घायलों के बयानों के आधार पर हत्या, हत्या के प्रयास सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया है। जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी होगी।

  • गजेंद्र कंवर, एएसपी, शिवपुरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *