मानसून सत्र का आठवां दिन: सभापति की कर्रवाई, हंगामा करने वाले सांसदों को एक हफ्ते के लिए किया निलंबित


संसद में मानसून सत्र का आज आठवां दिन है। राज्यसभा में आज विपक्षी सांसदों के हंगामे का मुद्दा उठा। सभापति ने हंगामा करने वाले सांसदों के खिलाफ कार्रवाई की। उन्होंने हंगामा करने वाले सांसदों को एक हफ्ते के लिए सदन से निलंबित कर दिया है.

नई दिल्ली. संसद में मानसून सत्र का आज आठवां दिन है। राज्यसभा सभापति उप राष्ट्रपति वैकेया नायडू ने सदन की कार्यवाही हंगामा करने वाले 8 सांसदों को निलंबित कर दिया है। इन सांसदों में डेरेक ओ ब्रायन, संजय सिंह, राजू साटव, केके रागेश, रिपुन बोरा, डोला सेन, सयद नाजिर हुसैन और इलामरन करीम के नाम शामिल हैं। इन्हें सदन की कार्यवाही से एक हफ्ते के लिए निलंबित किया गया है। इसके साथ ही उप-सभापति के खिलाफ विपक्ष ने अविश्वास प्रस्ताव लेकर आया था, जिसे अब खारिज कर दिया गया है। 

बता दें कि राज्यसभा में बीते दिन रविवार को कृषि से जुड़े दो विधेयकों के पास होने के दौरान विपक्ष के सांसदों ने हंगामा किया था। टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने रूल बुक फाड़ दी थी। इतना ही नहीं विपक्षी सांसदों ने वेल में आकर नारेबाजी की और उपसभापति हरिवंश का माइक निकालने की कोशिश की थी।

Derek O Brien, Sanjay Singh, Raju Satav, KK Ragesh, Ripun Bora, Dola Sen, Syed Nazir Hussain and Elamaran Karim suspended for one week for unruly behaviour with the Chair: Rajya Sabha Chairman M Venkaiah Naidu pic.twitter.com/JUs9pjOXNu

— ANI (@ANI)

लोकसभा में बना नया रिकॉर्ड

संसद में रविवार को एक और नया रिकॉर्ड बना। लोकसभा में जनहित से जुड़े जरूरी मामलों पर बहस (मैटर्स ऑफ अर्जेंट पब्लिक इंपोर्टेंस) या जीरो आवर पहली बार आधी रात तक चली। कई सांसदों और लोकसभा सचिवालय से अधिकारियों ने बताया कि ’17 अप्रैल 1952 में लोकसभा के गठन के बाद पहली बार ऐसा हुआ है।’

लोकसभा की कार्यवाही रविवार को दोपहर बाद 3 बजे शुरू हुई थी। प्रश्नकाल (क्वेश्चन आवर) के बाद रात 10.30 बजे जीरो आवर शुरू हुआ, जो रात 12.34 बजे तक चला। जीरो आवर में बहस के लिए सांसदों को पहले से प्रश्न बताने की जरूरत नहीं होती।

सदन में हंगामा करने वाली घटना से खफा सभापति वैकेया नायडू

राज्यसभा के सभापति ने सदन में रविवार को हुई घटना पर कहा कि ‘राज्यसभा के लिए सबसे खराब दिन था। कुछ सांसदों ने पेपर को फेंका। माइक को तोड़ दिया। रूल बुक को फेंका गया। इस घटना से मैं बेहद दुखी हूं। उप-सभापति को धमकी दी गई। उनपर आपत्तिजनक टिप्पणी की गई।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *