कमलनाथ का ग्वालियर दौरा: “टाईगर अभी जिंदा है ……….. “

कमलनाथ का ग्वालियर दौरा हो गया है और कांग्रेस का कार्यकर्ता भी जिंदा हो गया है. आज की भीड़ देखकर तो यही लगता है, जनता अब सामंतवादी ताकतों से मुक्त होना चाहती है. किसी को उम्मीद नहीं थी, करीब साठ सत्तर हजार आदमियों की भीड़ जुट जायेगी.

नौजवानों और कार्यकर्ता का जोश इससे दस गुना अधिक बढ़ गया है. और यह उत्साह विपक्ष को ठंडे वस्ते में डालने में कारगर होगा.

कहा यह जा रहा है की ग्वालियर चंबल सिंधिया परिवार का गढ़ है. परंतु इस गढ़ में कांग्रेस की कितनी भूमिका रही होगी यह आज की रैली ने सिद्ध कर दिया है.

जनता सब समझ रही है धोखा तो हुआ है कमलनाथ की सरकार और कांग्रेस के कार्यकर्ता के साथ. यही वह प्लस पोइंट है. कमलनाथ के साथ, आवाज में खनक है और खनक सच्चाई के साथ हमेशा रहती है.

दूसरी तरफ भाजपा की सरकार है जो लूट में मिली है. डकैती डाली गई, कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के हक पर. ग्वालियर चंबल संभाग में जितने महाराज के प्यादे जो चुनाव लड़ रहे. जनता में जमीन खो चुके हैं.

रही सिंधिया परिवार के गढ़वाली बात तो यह तो केवल नकाब है. हकीकत में गढ़ तो ग्वालियर में बहुत पहले बजरंगी भाईजान ने ध्वस्त कर दिया था. भागकर इनको गुना का रुख करना पड़ा था. इसबार गुना की जनता ने भी आईना दिखा दिया है.

अब तो ओछी राजनीति की चालें बची हुई हैं. सब जानते हैं ऐसी राजनीति की उम्र बहुत कम होती है.

फिर सब जनता पर छोड़िये जनता बहुत समझदार हो गई है. और असली वोटर तो नौजवान है जो धारा का रुख मोड़ देता है और आज कमलनाथ के साथ नवयुवकों का जोश देखने लायक था. कह सकते हैं फिर से एक और क्रांति होने जा रही है, ग्वालियर चंबल संभाग से इंतजार करिये ” टाईगर अभी जिंदा है ” और शिकार करके रहेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *