जन सुनवाई के दिन भी जिलधीश् को लोगों से मिलने की फुर्सत नहीं : धैर्यवर्धन शर्मा


शिवपुरी अपर् कलैक्टर के ऑफिस के बाहर एक घंटे से खड़े हैं मृतक बाबू वृंदावन के परिजन और रिश्तेदार । भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य धैर्यवर्धन ने प्रशासनिक हठधर्मिता पर बेहद अफ़सोस जताया है । मृतक के परिजनों की बात सुन् ने के लिए भी संवेदन शीलता नहीं दिखा पा रहे हैं अफसर ।
ज़िला शिवपुरी भारतीय् जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता धैर्यवर्धन ने कहा कि शिवपुरी कलेक्टर ने हाई कोर्ट की अवमानना की ,
और गाज निर्दोष बाबू पर गिरायी ।
आत्महत्या कर चुके शिक्षा विभाग के क्लर्क् श्री वृंदावन शर्मा की गाज भी सिर्फ बाबुओ पर गिराने की तयारी में है पुलिस , प्रशासन ।
ज़िला शिक्षा अधिकारी मिस्टर कटियार ही असली खलनायक है उसको बचाने में लगी मशीनरी ।
भाजपा नेता के अनुसार अब तक का सबसे भ्रष्ट ज़िला शिक्षा अधिकारी हैं कटियार ।
पिछ्ली सरकार में पोस्टिंग कराकर आया यह बेरहम अफ्सर विभाग मे आतंक का पर्याय था ।
बाप बड़ा न् भैया
सबसे बड़ा रुपैया , इसी सिद्धान्त् पर काम कर रहा है यह बेरहम अधिकारी ।

यूँ ही नहीं कर लेता है कोई आत्महत्या ?

पहले ऐफ आई आर हो फिर जान्च हो । धैर्यवर्धन ने कहा कि वे पुलिस की कार्यप्रणाली पर कोई संदेह उत्पन्न नहीं कर रहे इसलिए कोई हस्तक्षेप नहीं किया । पर यदि निष्पक्ष कार्यवाही नहीं हुई तो वे चुप नहीं बैठेंगे । इसके पहले भी पिछोर मे शिक्षक मनोज पुरोहित ने भी पुलिस की प्रताडना से तंग आकर आत्महत्या की थी । सुसाइड नोट होने के बावजूद भी पुलिस ने जान्च मे लीपापोती करके दोषियो को बचा लिया है । शिवपुरी ज़िला कर्मचारियो की आत्महत्या के लिए जाना जाने लगा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *