गुरूजियों ने मांगी 1997 से वरिष्ठता, विरोध प्रदर्शन कर दिया ज्ञापन


शिवपुरी:- शिक्षा विभाग में 1997 से बच्चों को पढ़ाकर शिक्षा की अलख जगाने वाले गुरूजी अब अपनी वरिष्ठता को लेकर मुखर होने लगे हैं। गुरूजी से बने प्राथमिक शिक्षकों ने रविवार को अपने प्रदेश व्यापी आंदोलन के क्रम में डिप्टी कलेक्टर मनोज गरवाल को मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन जिलाध्यक्ष नंद किशोर पाण्डेय के नेत्रत्व में सौंपा। गुरूजियों की अपनी एक मात्र मांग 1997 से वरिष्ठता को लेकर कहना है कि जव अन्य वर्गों को नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता का लाभ दिया गया तो हमें आज तक इस लाभ से क्यॅॅू वंचित रखा गया।
म.प्र. गुरूजी संविदा अध्यापक संघ के जिलाध्यक्ष नंद किशोर पाण्डेय ने बताया कि यह ज्ञापन संघ के प्रदेशाध्यक्ष गजेन्द्र सिंह गुर्जर के आव्हान पर जिलाधीश के प्रतिनिधि शिवपुरी डिप्टी कलेक्टर मनोज गरवाल को सौंपा है। अगर हमें वरिष्ठता का लाभ नही दिया गया तो संघ आंदोलन करने को वाध्य होगा।
गुरूजियों के इस आंदोलन को कर्मचारी कांगे्रस के जिलाध्यक्ष राजेन्द्र पिपलौदा, प्रांतीय शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष राज कुमार सरैया, राज्य कर्मचारी संघ के संभागीय उपाध्यक्ष विपिन पचैरी, कर्मचारी कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष अरविन्द सरैया, आजाद अध्यापक संघ के जिलाध्यक्ष सुनील वर्मा, अध्यापक कांग्रेस के जिलाध्यक्ष अमरदीप श्रीवास्तव, पेंशन बहाली संघ के जिलाध्यक्ष जनक सिंह रावत एवं प्रदेश कोर कमेटी के सदस्य मनमोहन रावत ने भी समर्थन किया है।
ज्ञापन में प्रमुख रूप से जयकुमार शर्मा, प्रवक्ता मनोज शर्मा, अमर सिंह कोटिया, फतेह सिंह गुर्जर, धर्मेन्द यादव, सुनील शर्मा, मनोज शर्मा, नरेश शर्मा, रामकुमार शर्मा, रामखिलोना यादव, राकेश रजक, नरेन्द्र अग्रवाल,महेन्द्र पुरी गोस्वामी, रोशन कुशवाह, अनिल दांगी, जितेन्द्र शर्मा, गजेन्द्र सिकरवार, अनिल बाजपेयी, अशोक श्रीवास्तव, हरगोविन्द रावत, गोविन्द मित्तल, रमाकांत भार्गव, नरेन्द्र शर्मा, श्रीमती कृष्णा गौतम, मंजूलता शर्मा, संगीता भार्गव, आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *