शिवपुरी कांग्रेस द्वारा बैठक का आयोजन 14 दिसंबर को ज्ञापन देंगे भारत बचाओ आंदोलन के तहत दिल्ली में


शिवपुरी कांग्रेस कमेटी द्वारा नई दिल्ली में 14 तारीख को भारत बचाओ आंदोलन के तहत विरोध प्रदर्शन स्वरूप मध्य प्रदेश के लाखों कांग्रेश जन दिल्ली में धरना देकर केंद्र सरकार के प्रदेश सरकार के प्रति सौतेला व्यवहार करने के कारण ज्ञापन देंगे जिसमें पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ-साथ लाखों कांग्रेस जन शिरकत करेंगे इस सिलसिले में एक बैठक का आयोजन सिद्धार्थ लड़ा के घर पर किया गया इसमें बैठक की अध्यक्षता राम कुमार शर्मा ने की इसमें बहुत संख्या में कांग्रेसजनों ने बैठक में हिस्सा लिया प्रमुख प्रमुख रूप से भरत रावत ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष अनिल उत्साही प्रांतीय सचिव कांग्रेस सेवादल युवा कांग्रेसी नेता सिद्धार्थ लड़ा पिछड़ा वर्ग के पदाधिकारी रमेश बंजारा वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अशफाक खान एवं सरवन धाकड़ के अलावा बहुत से कांग्रेस कांग्रेसियों ने शिरकत की

गुटबाजी की खबरों के बीच एक हेलिकॉप्टर से शादी में पहुंचे कमलनाथ और सिंधिया

मध्यप्रदेश में कांग्रेस के सभी नेता उस समय हैरान रह गए, जब मुख्यमंत्री कमल नाथ और पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया एक ही हेलिकॉप्टर में सवार होकर एक शादी में शामिल होने के लिए मुरैना पहुंचे। दोनों की यह एक साथ यात्रा उन अफवाहों के बीच आई है, जिनमें दोनों के बीच तनातनी होने और पार्टी के अंदर अपने-अपने गुट बनाने की बातें कहीं जा रही हैं।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, शनिवार को राज्य सरकार में मंत्री बनवारी शर्मा के परिवार के एक सदस्य के वैवाहिक समारोह में सिंधिया और कमल नाथ दोनों को शामिल होना था। सिंधिया इसके लिए ग्वालियर से सड़क मार्ग के जरिये मुरैना जाने वाले थे। लेकिन उन्होंने इससे पहले मुख्यमंत्री कमल नाथ को फोन किया तो उन्होंने सिंधिया को अपने हेलिकॉप्टर में साथ चलने का न्योता दिया। 

सिंधिया ने कमल नाथ की बात मान ली और दोनों एक ही हेलिकॉप्टर से विवाह स्थल पर पहुंचे। सूत्रों का कहना है कि इसके बाद दोनों नेता वापसी में भी एक साथ उसी हेलिकॉप्टर से ग्वालियर लौटे। अफवाहों के इस दौर में अपने दोनों स्थानीय दिग्गज नेताओं को एक साथ देखकर मध्यप्रदेश कांग्रेस के कार्यकर्ता शनिवार को बेहद खुश दिखाई दे रहे थे।

उड़ रही थी सिंधिया के अलग पार्टी बनाने की अफवाह

इस साल अपने पारिवारिक गढ़ गुना से लोकसभा चुनाव हार चुके सिंधिया को हालिया दिनों में कई बार पार्टी प्रबंधन से नाखुश घोषित किया गया है। दो दिन पहले एक कांग्रेस विधायक ने यह दावा भी कर दिया था कि सिंधिया जल्द ही अपनी पार्टी बनाने वाले हैं और वह इस पार्टी से जुड़ने वाले पहले व्यक्ति होंगे। हालांकि ग्वालियर राजघराना इन खबरों को महज अफवाहें बताकर खारिज करता रहा है।

वाराणसी, अमृतसर समेत 6 और हवाई अड्डों का होगा निजीकरण, AAI ने की सिफारिश

नई दिल्ली: भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (AAI) ने अमृतसर, वाराणसी, भुवनेश्वर, इंदौर, रायपुर और त्रिची (तिरुच्चिराप्पल्ली) हवाई अड्डों के निजीकरण की केंद्र से सिफारिश की है. केंद्र सरकार ने इस साल फरवरी में सार्वजनिक-निजी भागीदारी (PPP) मॉडल के तहत परिचालन , प्रबंधन और विकास के लिए पहले ही लखनऊ, अहमदाबाद , जयपुर , मंगलुरु , तिरुवनंतपुरम और गुवाहाटी में हवाई अड्डों का निजीकरण कर दिया है. 

एक सीनियर अधिकारी ने समाचार एजेंसी को बताया, “इस साल फरवरी में छह हवाई अड्डों का निजीकरण किया जा चुका है. AAI ने पांच सितंबर को निदेशक मंडल की बैठक में छह और हवाई अड्डों का प्राइवेटाइजेशन करने का फैसला किया है. इनमें अमृतसर , वाराणसी , भुवनेश्वर , इंदौर , रायपुर और त्रिची शामिल हैं.” अधिकारी ने कहा, “निदेशक मंडल के फैसला लेने के बाद नागर विमानन मंत्रालय को सिफारिश भेज दी गयी है.” 

उल्लेखनीय है कि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण देशभर में 100 से ज्यादा हवाई अड्डों का परिचालन करता है. इस साल फरवरी में निजीकरण के पहले दौर में अडाणी समूह को सभी 6 हवाई अड्डों के परिचालन का ठेका मिला था. AAI ने विजेता का चुनाव ‘प्रति यात्री शुल्क’ के आधार पर किया था. 

दिग्विजय बोले- देश में भय-आतंक का माहौल, राहुल बजाज ने दिखाया साहस

देश के जाने-माने बिजनेसमैन और बजाज समूह के चेयरमैन राहुल बजाज का बयान सुर्खियों में है. उनके बयान पर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘राहुल बजाज उस परिवार से हैं जिन्होंने आज़ादी की लड़ाई में ब्रिटिश हुकुमत का विरोध कर महात्मा गांधी का साथ दिया था. आज के उद्योगपतियों में जो भय और आतंक का वातावरण है उसको साफ शब्दों में कह कर साहस का परिचय दिया है. बधाई.’

दिग्विजय सिंह ने आगे कहा, ‘यह बयान अमित शाह और पीयूष गोयल के सामने दिया गया. राहुल बजाज जी के साहस को प्रणाम. जिस प्रकार का टैक्स टेररिज्म का माहौल मोदी-शाह सरकार ने बनाया हुआ है, उसके कारण अर्थव्यवस्था बिगड़ रही है.’

राहुल बजाज ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के सामने कहा था कि जब यूपीए सरकार सत्ता में थी, तो हम किसी की भी आलोचना कर सकते थे. अब हम अगर आपकी खुले तौर पर आलोचना करें तो इतना विश्वास नहीं है कि आप इसे पसंद करेंगे. राहुल बजाज के बयान पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था, ‘अपनी धारणा फैलाने की जगह जवाब पाने के और भी बेहतर तरीके हैं. ऐसी बातों से राष्ट्रीय हित पर चोट लग सकती है.’

BJP सांसद अनंत हेगड़े का दावा- केंद्र के 40 हजार करोड़ लौटाने के लिए फडणवीस ने किया ड्रामा, बने 80 घंटे के सीएम

भाजपा सांसद अनंत हेगड़े ने अपने एक बयान में चौंकाने वाला दावा किया है। दरअसल अनंत हेगड़े ने कहा कि ‘केन्द्र के 40 हजार करोड़ रुपए लौटाने के लिए महाराष्ट्र में 80 घंटे के लिए सरकार बनाने का ड्रामा किया गया।’ अनंत हेगड़े ने कहा कि सीएम देवेंद्र फडणवीस के नियंत्रण में 40 हजार करोड़ रुपए थे और यदि महाराष्ट्र में पहले ही शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की महा विकास अघाड़ी सरकार बन जाती तो इस रकम का दुरुपयोग हो सकता था। इसलिए देवेंद्र फडणवीस को दोबारा सीएम बनाया गया, ताकि 40 हजार करोड़ रुपए वापस केन्द्र सरकार के पास आ सकें।

भाजपा सांसद ने रविवार को उत्तर कन्नड़ इलाके में एक जनसभा को संबोधित करते हुए उक्त बातों का खुलासा किया। बीजेपी नेता ने अपने संबोधन में कहा कि आप सभी जानते हैं कि महाराष्ट्र में हमारा नेता सिर्फ 80 घंटे के लिए सीएम बना। इसके बाद फडणवीस ने इस्तीफा दे दिया। उन्होंने ये ड्रामा क्यों किया? क्या हमें नहीं पता था कि हमारे पास बहुमत नहीं है? इसके बावजूद वह सीएम बने! ये सवाल हर कोई पूछ रहा है।

हेगड़े ने आगे कहा कि “सीएम के पास केन्द्र से मिले 40 हजार करोड़ रुपए का नियंत्रण था। वह जानते थे कि यदि कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना की सरकार सत्ता में आ गई तो वह इस धनराशि का, जो कि विकास कार्यों के लिए थी, उसका दुरुपयोग कर सकते हैं। इसलिए फैसला किया गया कि यहां ड्रामा होना चाहिए। फडणवीस सीएम बने और 15 घंटों में उन्होंने वह 40 हजार करोड़ रुपए की रकम वापस केन्द्र सरकार के पास भेज दी।”

बता दें कि महाराष्ट्र में जब राष्ट्रपति शासन लगा हुआ था, तो इस दौरान शिवसेना-कांग्रेस और एनसीपी के बीच सरकार गठन को लेकर चर्चा चल रही थी और चर्चा के बाद तीनों ही पार्टियों के बीच सरकार गठन को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसी बीच अचानक से भाजपा ने अजित पवार के साथ मिलकर आनन-फानन में सीएम और डिप्टी सीएम पद की शपथ ली थी। हालांकि बाद में अजित पवार का समर्थन करने वाले विधायक भी शरद पवार के समर्थन वाले खेमें में पहुंच गए थे। इसके बाद भाजपा के पास बहुमत सिद्ध करने लायक सदस्यों का समर्थन नहीं रहा और पहले अजित पवार ने और फिर देवेंद्र फडणवीस ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया। इसके साथ ही फडणवीस सरकार शपथ लेने के सिर्फ 80 घंटे बाद ही गिर गई थी।

PAK मंत्री ने खोली करतारपुर पर खतरनाक प्लान की पोल, कैप्टन ने दी चेतावनी

पाकिस्तान सरकार के बड़बोले रेल मंत्री शेख रशीद के करतारपुर कॉरिडोर को लेकर दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ाने वाले विवादित बयान पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा कि अगर कॉरिडोर के जरिए पाकिस्तान ने कोई भी साजिश की तो उसे पूरी तरह बेनकाब कर देंगे.

दरअसल पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार में रेल मंत्री शेख रशीद ने करतारपुर कॉरिडोर को लेकर कहा था कि करतारपुर कॉरिडोर पाक आर्मी चीफ जनरल बाजवा के दिमाग की उपज है और आने वाले दिनों में ये भारत को सबसे बड़ी चोट पहुंचाएगा.

शेख रशीद के इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘इमरान के मंत्री के इस बयान ने करतारपुर कॉरिडोर को लेकर पाकिस्तान की साजिश को पूरी तरह से बेनकाब कर दिया है. भारत को उम्मीद थी कि करतारपुर कॉरिडोर खुलने से दोनों देशों के बीच शांति बहाल होगी.’ कैप्टन सिंह ने पाक को चेतावनी देते हुए कहा, ‘वो (पाकिस्तान) करतारपुर कॉरिडोर के जरिए भारत में कोई भी गलत हरकत करने की कोशिश न करें और कॉरिडोर खुलने को भारत की कमजोरी न समझें.

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा भारत करतारपुर कॉरिडोर के माध्यम से पाकिस्तान को अपने मंसूबे कभी पूरे नहीं करने देगा. उन्होंने कहा कि बतौर सिख वो करतारपुर कॉरिडोर खुलने का स्वागत कर चुके हैं लेकिन वो पहले ही आशंका जता चुके हैं कि पाकिस्तान इस कॉरिडोर का इस्तेमाल अपनी साजिशों को अंजाम देने के लिए भी कर सकता है. 

कैप्टन सिंह ने कहा कि ISI की तरफ से प्रायोजित रेफरेंडम 20-20 के एजेंडे को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान सिखों के साथ इस तरह की हमदर्दी दिखा रहा है. उन्होंने कहा यह पहले से ही साफ था कि करतारपुर कॉरिडोर को खोलने के पीछे जनरल बाजवा और पाक आर्मी की ही खतरनाक सोच है.

इस मामले को लेकर दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने भी पाकिस्तान के बड़बोले मंत्री को जवाब देते हुए कहा,  ‘शेख राशिद का ये बयान बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण है. जिस तरह से उन्होंने कहा कि जनरल बाजवा की साजिश के तहत ही करतारपुर कॉरिडोर खोला गया है और आने वाले दिनों में ये भारत को सबसे बड़ी चोट पहुंचाएगा तो ये हमारे लिए एक बड़ा आघात है. 

सिरसा ने कहा, अगर पाकिस्तान ने किसी साजिश के तहत ये कॉरिडोर खोला है तो ये सिखों की भावनाओं के साथ सबसे बड़ा खिलवाड़ है और श्री गुरु नानक देव जी के नाम का इस्तेमाल पाकिस्तान ने अपनी साजिश के लिए किया है. सिरसा ने कहा कि इमरान खान को अपने मंत्री के इस बयान पर सफाई देनी चाहिए. 

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पाकिस्तान के मंत्री के बयान के सामने आने के बाद पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को भी नसीहत दी और कहा कि पाकिस्तान की सरकार और इमरान खान के साथ उनकी दोस्ती को लेकर सावधान रहने की जरूरत है. अगर पाकिस्तान की ये सोच है तो ये देश के लिए काफी खतरनाक है. नवजोत सिंह सिद्धू को भी इमरान खान से अपनी निजी दोस्ती को लेकर सावधान रहना चाहिए.

महिला शिक्षकों को मानसिक प्रताडऩा दे रही कांग्रेस सरकार : सांसद केपी 

महिलाओं के तबादले को लेकर सांसद े जताई नाराजगी, हर संभव सहयोग का दिया आश्वासन

शिवपुरी- मप्र में कांग्रेस की सरकार जब से आई है वह केवल और केवल तबादला उद्योग ही चला रही है लेकिन अब तो हद हो गई कि इस सरकार ने तबादलों की आड़ में महिला शिक्षिकों को ही परेशान कर उन्हें मानसिक तनाव से ग्रसित कर दिया है, वर्तमान परिवेश में मप्र के शिवपुरी जिले और मेरे संसदीय क्षेत्र में ही थोकबंद महिलाओं के तबादले ऐसे स्थानों पर कर दिए गए जहां महिलाओं का जाना और अध्यापन कार्य कराना उन्हें असुरक्षा का भाव पैदा करता है ऐसे में इस मामले को लेकर मप्र कांग्रेस सरकार के इस तबादला उद्योग की हम कड़े शब्दों में निंदा करते है और महिला शिक्षकों को हर संभव सहयोग प्रदान करने का आश्वासन देते है। उक्त बात कही क्षेत्रीय सांसद डॉ.के.पी.यादव ने जिन्होंने पे्रस को जारी अपने बयान में मप्र कांग्रेस सरकार द्वारा तबादलों को लेकर निंदा की और स्थानांतरण के माध्यम से खासकर महिला शिक्षकों को मानसिक रूप से प्रताडि़त करने का आरोप लगाया। डॉ.के.पी.यादव ने अपने बयान में कहा कि विगत दिनों कांग्रेस के एक बड़े नेता ने बयान दिया था कि मुझे ट्रंासफर उद्योग की पूरी जानकारी है फिर शिवपुरी में ट्रांसफर उद्योग किसकी शह पर चलाया जा रहा है, इससे स्पष्ट होता है कि कांग्रेस की कथनी और करनी में अंतर है। सांसद ने बताया कि मैंने स्वयं जिलाधीश से शिवपुरी से बात की है और उनसे कहा है कि सबसे पहले अपने पोर्टल अपडेट कराऐं, वह जानकारी दें कि किस विद्यालय में कितने रिक्त पद है कितने शिक्षक और कितनी छात्र संख्या है तब तक यह स्थानांतरण पर रोक लगाई जावे। इस मामले को लेकर सांसद डॉ.के.पी.यादव ने कहा हैकि वह महिला शिक्षकों के इस तबादले को लेकर मैं कमलनाथ सरकार को आगाह करना चाहता हॅंू कि मेरे लोकसभा क्षेत्र में ट्रांसफर उद्योग बंद कर दें और इस तबादला उद्योग के विरोध में मैं स्वयं सभी शिक्षकों के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ कंधे से कंधा मिलाकर साथ खड़ा हुॅं।  

शिवपुरी पुलिस द्वारा नासिक से चली प्याज गिरोह सहित बरामद की

शिवपुरी। फरियादी नासिक के व्यापारी प्रेमचंद पुत्र शिआधार शुक्ला उम्र 54 साल निवासी आडगांव नासिक, महाराष्ट्र द्वारा पुलिस अधीक्षक शिवपुरी राजेश सिंह चंदेल को एक लेखी आवेदन प्रस्तुत किया तो जिसमें उसने बताया कि मेंनें जावेद नाम के ट्रांसपोर्टर को नासिक से गोरखपुर के लिए दिनांक 19.11.19 को ट्रक क्रमांक एमपी 09 एचएच 8318 में लगभग 39475 किलोग्राम प्याज कीमती 20 लाख रूपये की मय बिल्टी एवं भाड़ा 34000 रू के ड्रायवर सोनू जाटव एवं ट्रक मालिक जावेद पुत्र सलीम मुसलमान निवासी इमामबाड़ा पुरानी शिवपुरी, गोपाल उर्फ मामू एवं गोलू खान निवासी शिवपुरी को गोरखपुर के लिए रवाना किया गया था। किन्तु तय दिनांक 22.11.19 को गोरखपुर से प्याज खरीदने वाले व्यापारी का फोन आया कि फोन आया कि प्याज आज दिनांक तक मेरे पास नहीं पहुंची है। गाड़ी मालिक जावेद से फोनपर बात करने पर उसके द्वारा बताया गया कि गाड़ी का टायर फट गया है दूसरा टायर लगाकर गाड़ी कल तक पहुंच जायेगी परन्तु अगले दिन जावेद को कॉल करने पर उसका फोन बंद आया। फरियादी द्वारा शिवपुरी आकर विभिन्न ट्रांसपोर्टर्स से पूछताछ की तो उक्त ट्रक पाली तिराहा पड़ोरा रोड़ पर खाली लावारिस अवस्था मेें खड़ा पाया गया। एवं उसकी नंबर प्लेट मं फरेबदल किया गया है। उक्त सूचना पर से पुलिस अधीक्षक शिवपुरी द्वारा मामलें में आवेदन थाना प्रभारी तेन्दुआ को जांच हेतु दिया गया। थाना प्रभारी तेन्दुआ द्वारा आवेदन जांच के दौरान उक्त ट्रक क्रं. एमपी 09 एचएच 8318 को बरामद किया गया। मामला अपराध धारा 406, 120 भादवि पाया जाने से थाना तेन्दुआ में अपराध क्रमांक 125/19 धारा 406, 120 भादवि का आरोपीगणों जावेद पुत्र सलीम मुसलमान निवासी इमामबाड़ा पुरानी शिवपुरी, गोपाल उर्फ  मामू एवं गोलू खान निवासी शिवपुरी के विरूद्ध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

थाना प्रभारी तेन्दुआ उनि. अरविंद सिंह चौहान को मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि उक्त घटना के आरोपी कहीं बाहर भागने की फिराक में जवाहर कॉलोनी शिवपुरी में खड़े हैं, उक्त सूचना पर थाना प्रभारी तेन्दुआ द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में पुलिस टीम के साथ मुखबिर बताये स्थान पर पहुंचे तो तीन लोग पुलिस को देखकर भागने लगे जिन्हे घेराबंदी कर पुलिस टीम द्वारा दबोचकर नाम पता पूछा तो उन्होने अपना नाम जावेद पुत्र सलीम अहमद मुसलमान उम्र 25 साल निवासी पुरानी शिवपुरी, शौकत उर्फ गोपाल उर्फ मामू पुत्र लियाकत खान उम्र 25 साल, शकील कुर्रेशी पुत्र मोहम्मद अहमद कुर्रेशी उम्र 23 साल निवासी पुरानी शिवपुरी का होना बताया जो कि उक्त अपराध में फरार आरोपी हैं, घटना के सबंध में पूछताछ करने पर तीनों आरोपियों ने उक्त घटना को अंजाम देना स्वीकार किया बाद आरोपियों को विधिवत गिरफ्तार किया गया, पुलिस टीम द्वारा आरोपी जावेद खान के कब्जे से ग्राम जौरा मुरैना से 280 बोरी प्याज एवं आरोपियों शौकत उर्फ गोपाल उर्फ मामू पुत्र लियाकत खान उम्र 25 साल, शकील कुर्रेशी पुत्र मोहम्मद अहमद कुर्रेशी उम्र 23 साल निवासी पुरानी शिवपुरी के कब्जे से 154 बोरी प्याज ग्राम लखेरी से बरामद की। उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी तेन्दुआ उनि. अरविंद सिंह चौहान, सउनि अशोक कुमार शर्मा, सउनि. सुरेश कुमार शर्मा, प्रआर. राकेश सिंह, आरक्षक अतरसिंह, राजपाल, बलवंत, जागेश, अमरीश एवं आरक्षक विजय शर्मा की सराहनीय भूमिका रही।