Saturday, August 17, 2019

बुधवार को भोपाल पहुंची राधे मां ने कहा कि मनुष्य को अहंकार से दूर रहना चाहिए लेकिन कुछ ही पल में राधे मां अपने भक्तों पर ही भड़क गई खुद को देवी बताने वाली सुखविंदर कौर उर्फ राधे मां बुधवार को अपने ही समर्थकों पर भड़क गई. कहा कि मैंने तुम्हें जन्म दिया, तुमने मुझे […]

Read More

इस बार शनि जयंती के साथ ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष की सोमवती अमावस्या 3 जून को पड़ रही है. सोमवार को पड़ने वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या कहा जाता है. खास बात यह है कि आज ही के दिन वट सावित्री का भी विशेष संयोग जुड़ रहा है. ये सर्वार्थसिद्धि योग आज 149 वर्ष बाद बनने […]

Read More

यूपी के अमरोहा डिस्ट्रिक्ट का गांव – बावनखेड़ी. रात के लगभग डेढ़ दो बजे होंगे. एक लड़की ज़ोर-ज़ोर से चीखती है. उसकी चीख सुनकर आस पड़ोस वाले इकट्ठा हो जाते हैं. घर के अंदर घुसते हैं तो वहां के हालात देखकर दंग रह जाते हैं. अंदर सात लाशें पड़ी हैं. इस लड़की के परिवार के […]

Read More

कर्पूरगौरं करुणावतारं संसारसारं भुजगेन्द्रहारं। सदा वसन्तं हृदयारविन्दे भवं भवानी सहितं नमामि।। शास्त्रों में पूजा के पांच प्रकार बतलाए गए हैं–अभिगमन, उपादान, योग, स्वाध्याय और इज्या। भगवान के स्थान को साफ करना, पोंछा लगाना, निर्माल्य (चढ़ी हुई पूजा सामग्री) को हटाना, आदि को ‘अभिगमन’ कहते हैं। पूजा के चंदन, पुष्प आदि सामग्री तैयार करना ‘उपादान’ है। […]

Read More

कर्पूरगौरं करुणावतारं संसारसारं भुजगेन्द्रहारं। सदा वसन्तं हृदयारविन्दे भवं भवानी सहितं नमामि।। शास्त्रों में पूजा के पांच प्रकार बतलाए गए हैं–अभिगमन, उपादान, योग, स्वाध्याय और इज्या। भगवान के स्थान को साफ करना, पोंछा लगाना, निर्माल्य (चढ़ी हुई पूजा सामग्री) को हटाना, आदि को ‘अभिगमन’ कहते हैं। पूजा के चंदन, पुष्प आदि सामग्री तैयार करना ‘उपादान’ है। […]

Read More

हिन्दू धर्म में वेद, उपनिषद्, पुराण आदि ज्ञान के अथाह सागर हैं । मानव जीवन की हर समस्या का समाधान उनमें छिपा हुआ है । भगवान वेदव्यास जानते थे कि कलियुग में मानव नाना प्रकार के क्लेशों, चिन्ताओं व भयों से ग्रस्त रहेगा, इसलिए उन्होंने अपने पुराणों में मनुष्य के कल्याण के लिए विभिन्न स्तोत्रों […]

Read More

सात साल की बच्ची स्वरा ने पैदल नर्मदा परिक्रमा का बीड़ा उठाया है और अब तक सैकड़ों किलोमीटर का सफर तय भी कर लिया है. उसके साथ एक कुत्‍ता भी लगातार चल रहा है. आपने अभी तक कई प्रकार के भक्तों के बारे में देखा और सुना होगा, लेकिन हम जिन भक्तों के बारे में […]

Read More

महाभारत के प्रमुख पात्रों में से कर्ण भी एक है। कर्ण दुर्योधन का परम मित्र था। दुर्योधन ने कर्ण के भरोसे ही पांडवों से युद्ध करने का निर्णय लिया था। दुर्योधन ये अच्छी तरह से जानता था कि अर्जुन का कोई मुकाबला कर सकता है तो सिर्फ कर्ण है। लेकिन इसके बाद भी जब कौरवों […]

Read More

वाल्मीकि_रामायण यह सारी पृथ्वी पूर्वकाल में प्रजापति मनु से लेकर अब तक जिस वंश के विजयशाली नरेशो के अधिकार में रही है, , इसी वंश ने समुद्र को खुदवाया था, इस वंश में ऐसे राजा हुए है, जिनको उनके साठ हजार पुत्र घेर के चलते थे । कौशल नाम से प्रसिद्ध एक बहुत बड़ा जनपद […]

Read More
1 2 3 4