भारत के इस शहर में किराये पर मिलती हैं बीवियां, Stamp Paper पर होती है Deal

नई दिल्ली आज दुनिया में शायद ही कोई ऐसा क्षेत्र होगा जहां औरतों ने अपने हुनर से पहचान न बनाई हो। फिर भी भारत के कई जगहों में महिलाओं से जुड़ी कुप्रथाएं आज भी चली आ रहीं है। ऐसी ही कुछ प्रथाएं मध्यप्रदेश और गुजरात के कुछ गावों में मानी जाती हैं जिनके बारे में सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे। 

दरअसल, मध्यप्रदेश में एक ऐसी जगह है, जहां महिलाओं को किराए पर अपनी बीवी बनाने का रिवाज है। जी हां, यहां के शिवपुरी गांव में ‘धड़ीचा प्रथा’ काफी प्रचलित है, जिसके मुताबिक अमीर आदमी इस गांव की लड़कियों को बतौर बीवी किराए पर ले सकते हैं लेकिन यह बंधन जिंदगीभर का नहीं होता। यह सौदा महीने या साल के हिसाब से होता है।

यहां पुरूष और लड़की के घरवालों में पहले एक रकम तय की जाती है, जोकि 500 से 50,000 रुपए तक हो सकती है।वहीं रकम तय करने के बाद यह तय किया जाता है कि सौदा कब तक चलेगा। इसके बाद 10 रूपए के स्टांप पेपर पर शर्ते लिखकर दोनों पक्ष के साइन लिए जाते हैं और महिला को तय वक्त तक बीवियों वाली सारी जिम्मेदारियां निभानी पड़ती है। 

‘धड़ीचा प्रथा’ सिर्फ शिवपुरी गांव तक सीमीत नहीं, बल्कि गुजरात के कुछ गांव में भी निभाई जाती है। हैरानी की बात है कि किराए पर बीवी की कुप्रथा आज से नहीं बल्कि पिछले कई दशकों से लगातार यूं हीं चली आ रही है लेकिन आज तक किसी ने इसके खिलाफ आवाज उठाने की कोशिश नहीं की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!