कश्मीर में फिर गैर-मुस्लिमों को क्यों निशाना बना रहे हैं आतंकी? DGP ने बताया क्या है दहशतगर्दों का नापाक मंसूबा

अनुच्छेद 370 निष्प्रभावी किए जाने के बाद कश्मीर घाटी में लगातार बदलते माहौल और कश्मीरी पंडितों की वापसी के लिए बेहतर होती परिस्थितियों से बौखलाए पाक परस्त आतंकवादियों ने एक बार फिर यहां हिंदुओं और सिखों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है। जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह ने कहा है कि हाल में आम लोगों खासकर घाटी के अल्पसंख्यक समुदाय को निशाना बनाने के पीछे आतंकियों का मकसद डर का माहौल बनाने और सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ना है। 

सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश

डीजीपी ने कहा, ”कश्मीर में कुछ दिनों से आम नागरिकों को निशाना बनाने की घटनाएं बर्बर हैं। निर्दोष लोग जो समाज के लिए काम कर रहे हैं और जिनका किसी से कोई लेना-देना नहीं है, उन्हें निशाना बनाया जा रहा है। यह डर का माहौल बनाने और सांप्रदायिक रंग देकर सांप्रदाकि सद्भाव बिगाड़ने का प्रयास है।” डीजीपी पत्रकारों से गवर्नमेंट हायर सेकेंड्री सस्कूल संगम, ईदगाह में पत्रकारों से बात कर रहे थे जहां आज एक हिंदू और एक सिख शिक्षक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इनमें स्कूल के प्रिंसिपल भी शामिल हैं। पिछले 5 दिनों में घाटी में 7 आम नागरिकों की हत्या की जा चुकी है, जिनमें चार अल्पसंख्यक समुदाय के हैं। इनमें से छह शहर में ही मारे गए हैं। 

मिल गए हैं सुराग’

दिलबाग सिंह ने कहा कि जो लोग मानवता, भाईचारे, स्थानीय संस्कृति और मूल्यों को निशाना बना रहे हैं, उनका चेहरा जल्द ही उजागर किया जाएगा। उन्होंने कहा, ”हम एक के बाद एक हुए हमलों पर खेद जाहिर करते हैं, जिनमें आम लोग मारे गए हैं। हम पिछले केसों पर काम कर रहे हैं और श्रीनगर पुलिस को कई सुराग मिले हैं। हम इन बर्बर हमलों के पीछे लोगों तक पहुंच जाएंगे। मुझे विश्वास है कि पुलिस उनका चेहरा उजागर करेगी।”

दिलबाग सिंह ने जोर देकर कहा कि ये हमले कश्मीर के मुस्लिम समुदाय को बदनाम करने का प्रयास है। उन्होंने यह भी कहा कि आतंकी पाकिस्तान के निर्देशों पर काम कर रहे हैं और कश्मीर घाटी की शांति में बाधा डालना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ”आतंकवादी आतंकवादी हैं और वे सीमा पार पाकिस्तान में बैठी एजेंसियों के निर्देश पर काम कर रहे हैं। ताकि कश्मीर को अशांत रखा जाए और कश्मीर की शांति के रास्ते में बाधा डाली जाए। मुझे विश्वास है कि कश्मीर के लोग उन्हें साजिश में कामयाब नहीं होने देंगे। हम साथ मिलकर काम करेंगे और उनके मंसूबे नाकाम करेंगे।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!