मध्य प्रदेश उपचुनाव: वफादारी का ये कैसा इनाम, कांग्रेस ने दिया अरुण यादव के विरोधी को टिकट

अरुण यादव कहते रहे कि वह पाटी के वफादार हैं। लेकिन पार्टी ने उनकी नहीं सुनी। यादव हाईकमान से लगातार युवा और नए व्यक्ति को टिकट देने की मांग करते रहे लेकिन उनकी बात को नजरअंदाज कर दिया गया है। खंडवा लोकसभा सीट से कांंग्रेस ने पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और यहां से दावेदारी पेश कर रहे अरुण यादव के विरोधी राजनारायण पुरनी को टिकट दिया है। कांग्रेस ने मंगलवार की शाम को अंतत: खंडवा लोकसभा व रैगांव-जोबट विधानसभा सीटों के उपचुनाव के प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया।

मध्य प्रदेश में खंडवा लोकसभा क्षेत्र और पृथ्वीपुर, रैगांव व जोबट विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव होने जा रहे हैं। इनके लिए आठ अक्टूबर को नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख है। कांग्रेस ने प्रत्याशी चयन में भाजपा से बाजी मार ली है। पार्टी ने मंगलवार को आज खंडवा लोकसभा के लिए राजनारायण पुरनी व रैगांव के लिए कल्पना वर्मा, जोबट के लिए महेश पटेल की उम्मीदवारी की घोषणा की है। इसके पूर्व पार्टी ने पृथ्वीपुर से स्व. बृजेंद्र सिंह राठौर के पुत्र नितेंद्र सिंह को प्रत्याशी बनाए जाने पर मोहर लगाई थी। 

यादव की नहीं मानी गई बात
कांग्रेस ने खंडवा लोकसभा सीट पर बुजुर्ग नेता राजनारायण पुरनी को टिकट दिया है। यहां से चुनाव लड़ने के लिए अरुण यादव कई महीने से तैयारी कर रहे थे मगर कुछ दिनों से परिस्थितियां बदलीं। पुरनी यादव के घोर विरोधी हैं और उनके प्रदेश अध्यक्ष के रहते वे कांग्रेस में निष्क्रिय हो गए थे। कमल नाथ के अध्यक्ष बनते ही वे सक्रिय हुए। वे कांग्रेस सरकार के समय विधायक भी रहे हैं। 

भाजपा का प्रत्याशी चयन दिल्ली में अटका
प्रत्याशी चयन को लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में प्रत्याशियों के नामों पर विचार कर सूची राष्ट्रीय नेतृत्व को भेज दी है। केंद्रीय नेतृत्व जल्द ही फैसला लेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि नवरात्रि में भाजपा प्रत्याशी नामांकन पत्र दाखिल करेंगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!