कन्हैया के बाद अब बिहार के इस बड़े नेता पर दांव लगाने की तैयारी में कांग्रेस, तारापुर सीट से लड़वा सकती है चुनाव

पटना
बिहार में कुशेश्वरस्थान और तारापुर विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव को लेकर महागठबंधन में घमासान तेज होता जा रहा है। जिस तरह से आरजेडी ने दोनों सीटों पर कैंडिडेट का ऐलान किया, उससे कांग्रेस बेहद नाराज नजर आ रही है। यही नहीं पार्टी ने आरजेडी को खुली चुनौती देते हुए दोनों सीटों पर उम्मीदवार उतारने का ऐलान कर दिया है। खास तौर से कन्हैया कुमार की कांग्रेस में एंट्री के बाद अब पार्टी आगामी उपचुनाव में बिहार के इस दिग्गज नेता पर दांव लगाने की तैयारी कर रही है।

पप्पू यादव को कांग्रेस ने दिया तारापुर सीट से दावेदारी का ऑफर

जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस ने पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी के मुखिया पप्पू यादव को तारापुर सीट से दावेदारी का ऑफर दिया है। कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा ने कहा कि आरजेडी ने गठबंधन धर्म का पालन नहीं किया। अब पार्टी दोनों सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी। उन्होंने कहा कि पार्टी ने पप्पू यादव से संपर्क किया है। उन्हें तारापुर सीट से चुनाव लड़ने की बात कही है।

कांग्रेस ने इसलिए चला ये दांव, पर रखी ये शर्त
हालांकि, कांग्रेस नेता अजीत शर्मा ने कहा कि पप्पू यादव को दावेदारी के लिए खास शर्त भी रखी गई है। उन्हें कांग्रेस के सिंबल पर ही चुनाव मैदान पर उतरने की बात कही है। कांग्रेस नेता ने कहा कि पप्पू यादव जेल से रिहा हो गए हैं। बिहार में लालू यादव के बाद यादवों के बड़े नेता हैं। अगर वो चुनाव लड़ने पर सहमति जताते हैं तो पार्टी उन्हें कैंडिडेट बना सकती है। फिलहाल इस मामले में आगे क्या कुछ होता है ये देखना बेहद दिलचस्प होगा।

आरजेडी के रवैये से भड़की कांग्रेस
इस बीच अजीत शर्मा ने ये भी कहा कि बिहार कांग्रेस पूरे दमखम से चुनाव लड़ेगी। उन्होंने यह भी कहा कि कुशेश्वरस्थान सीट से पार्टी प्रत्याशी के रूप में अशोक कुमार का नाम लगभग तय है। उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में कांग्रेस के हिस्से कुशेश्वर स्थान और तारापुर आरजेडी के हिस्से आई थी। तारापुर से आरजेडी के प्रत्याशी 7225 मतों से जबकि कुशेश्वरस्थान से कांग्रेस के प्रत्याशी 7222 मतों से पराजित हुए थे।

कांग्रेस का भी आरजेडी की तरह दोनों सीटों पर उम्मीदवार उतारने का ऐलान
कांग्रेस नेता ने कहा कि विधानसभा चुनाव के नतीजों को देखें तो कुशेश्वरस्थान पर कांग्रेस का दावा पुख्ता था। इसके बावजूद आरजेडी ने गठबंधन धर्म का पालन नहीं किया और दोनों सीटों पर उम्मीदवार का ऐलान कर दिया। ऐसी स्थिति में कांग्रेस भी अब दोनों सीटों पर प्रत्याशी उतारने का फैसला लिया है।

30 अक्टूबर को उपचुनाव के लिए होगी वोटिंग
विधानसभा चुनाव 2020 में दोनों सीटों पर जेडीयू के कैंडिडेट विजयी हुए थे। कुशेश्वरस्थान से विधायक शशिभूषण हजारी और तारापुर के विधायक मेवालाल चौधरी के निधन के बाद दोनों सीटों पर उपचुनाव हो रहा है। इन दोनों विधानसभा क्षेत्रों में 30 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे, जबकि दो नवंबर को परिणाम घोषित होगा। इन सीटों पर आठ अक्टूबर तक नामांकन का पर्चा दाखिल कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!