पीएम मोदी ने जल जीवन मिशन ऐप किया लॉन्च, जल समितियों के सदस्यों से की बात

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के मौके पर पीएम मोदी ने जल जीवन मिशन ऐप लॉन्च किया. इस दौरान उन्होंने गांव की जल समितियों के सदस्यों से बातचीत भी की.

पीएम मोदी ने अपने संबोधन के दौरान  कहा कि आज दो अक्टूबर है देश के दो महान सपूतों को हम बड़े गर्व के साथ याद करते हैं. पूज्य बापू और लाल बहादुर शास्त्री जी के दिल में भारत के गांव भी बसे थे. पीएम मोदी ने कहा कि मुझे खुशी है कि आज के दिन देशभर के लाखों गांवों के लोग ग्रामसभाओं के रूप में जल जीवन संवाद कर रहे हैं.ऐसे अभूतपूर्व और राष्ट्रव्यापी मिशन को इसी उर्जा के साथ सफल बनाया जा सकता है.

पीएम मोदी ने कहा कि जल जीवन मिशन का विजन सिर्फ लोगों तक पानी पहुंचाने का ही नहीं है, ये डिसेंट्रलाइजेशन (विकेंद्रीकरण) का उसके भी एक बहुत बड़ा मूवमेंट है. ये विजेल ड्रिवेन, विमन ड्रिवेन मोमेंट है. इसका मुख्य आधार जनआंदोलन जनभागीदारी है और आज ये हम इस आयोजन में होते हुए ये देख रहे हैं.

पीएम मोदी ने कहा, जल संरक्षण हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए. इसके लिए हमें युद्ध स्तर पर प्रयास करने होंगे. उन्होंने कहा कि पानी को हमें प्रसाद की तरह इस्तेमाल करना चाहिए. हमें पानी को लेकर आदतें बदलनी होंगी. पानी बर्बाद करने से हमें बचना चाहिए, इसके अलावा किसानों को भी कम पानी वाली फसलों पर ज्यादा जोर देना चाहिए.

कांग्रेस पर कसा तंज

अपने वर्चुअल संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कांग्रेस का नाम लिए बिना ही निशाना साधा. पीएम मोदी ने कहा कि जो काम सात दशक में नहीं हुआ, वह दो साल में पूरा हो गया है लगभग 2 लाख गांवों ने कचरा प्रबंधन प्रणाली शुरू कर दी है और 40,000 ग्राम पंचायतों ने सिंगल यूज प्लास्टिक को छोड़ दिया है. आत्मनिर्भर कार्यक्रम के तहत देश आज तेजी से आगे बढ़ रहा है. गंगा नदी की सफाई के लिए युद्ध स्तर पर काम जारी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!