CIA प्रमुख के भारत दौरे के बाद अमेरिकी खुफिया एजेंसी में खलबली, टीम के एक सदस्य में हवाना सिंड्रोम के लक्षण दिखे

अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के डायरेक्टर बिल बर्न्स हाल में भारत के दौरे पर थे। सीएनएन की एक रिपोर्ट मुताबिक बर्न्स की टीम के एक सदस्य में हवाना सिंड्रोम के लक्षण दिखाई दिए हैं और ये जानकारी मामले से जुड़े तीन परिचित सूत्रों ने दी है। 

रिपोर्ट्स के मुताबिक इस घटना के बाद से अमेरिकी सुरक्षा अधिकारियों के बीच उथल-पुथल मच चुकी है और बर्न्स गुस्से में चल रहे हैं। सीआईए के टॉप अधिकारी इस घटना की सही से जांच में लगे हुए हैं। अधिकारियों को लगता है कि देश के टॉप जासूस के लिए काम करने वाले लोग भी सुरक्षित नहीं हैं। 

पिछले एक महीने में अमेरिकी खुफिया अधिकारियों में हवाना सिंड्रोम के लक्षण दूसरी बार दिखाई दिए हैं। इसके कारण बाइडन प्रशासन के टॉप अधिकारियों की अंतरराष्ट्रीय यात्रा प्रभावित हुई है। पिछले महीने उप राष्ट्रपति कमला हैरिस की वियतनाम यात्रा में इन्हीं कारणों से देरी हुई थी। 

मामले को लेकर सीआईए के प्रवक्ता ने बताया है कि हम ख़ास घटनाओं या अधिकारियों पर कमेंट नहीं करते। अगर कोई असामान्य घटना को रिपोर्ट करते हैं तो हमारे पास प्रोटोकॉल हैं। हम उन्हें तत्काल उचित मेडिकल ट्रीटमेंट देते हैं। हम अपने अधिकारियों की सुरक्षा की हर संभव कोशिश करते रहेंगे।

भारत की स्थिति के नाटकीय प्रभाव हो सकते हैं। सीआईए डायरेक्टर का कार्यक्रम बेहद सुरक्षित रखा जाता है। अमेरिकी अधिकारी इस बात को लेकर चिंतित हैं कि अपराधी को इस यात्रा और कार्यक्रम के बारे में कैसे पता चला। रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत दौरे पर बर्न्स के साथ आए खुफिया अधिकारी को अमेरिका लौटने के साथ तत्काल मेडिकल ट्रीटमेंट मिली है।

हालांकि अमेरिकी अधिकारी अब तक इसके पीछे कौन है कि जानकारी नहीं जुटा सके हैं। बता दें कि हवाना सिंड्रोम की घटनाएं 2016 के आखिर में क्यूबा में शुरू हुई थी। इसके बाद से रूस, चीन, ऑस्ट्रिया सहित कई देशों से ऐसे मामले सामने आए हैं। डॉनल्ड ट्रंप के कार्यकाल के दौरान अमेरिका में भी ऐसे कई मामले देखे गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!