सीक्रेट’ बैंक अकाउंट कैसे खुलता है, KYC में क्या देने होते हैं कागजात, इसे बंद कराने का नियम भी जानिए

सबसे पहले तो यह साफ कर देना जरूरी है कि सीक्रेट बैंक अकाउंट (secret bank account) का मतलब ‘स्विस बैंक’ अकाउंट नहीं है जिसमें लोग टैक्स बचाने के लिए पैसे जमा करते हैं. यहां सीक्रेट बैंक अकाउंट का अर्थ वैसे खाते से है जिसे अपने घर-परिवार के मेंबर की नजरों से बचाते हुए खोला जाता है और बिना जगजाहिर किए पैसे जमा किए जाते हैं. ऐसे खाते वैसे लोग खोलते हैं जिन्हें अपनी पूरी सैलरी घर में दे देनी होती है. ऐसे लोगों को लगता है कि अपने हिस्से कुछ पैसे न जोड़ पाएं तो उस नौकरी का क्या अर्थ जिसमें दिन-रात प्राण सुखाए जा रहे हैं.

भविष्य में कोई बड़ा काम करना हो या कोई बिजनेस शुरू करनी हो तो इसके लिए बड़े निवेश की जरूरत होगी. यह तभी हो पाएगा जब समय के साथ थोड़े-बहुत पैसे जोड़े जाएंगे. अगर परिवार की बाध्यताएं हैं तो आप कोई सीक्रेट अकाउंट (secret bank account) खोल सकते हैं. इस अकाउंट में बिना किसी को बताए पैसे जमा कर सकते हैं. सीक्रेट अकाउंट कोई अलग अकाउंट नहीं होता बल्कि यह भी एक सेविंग अकाउंट ही होता है. यह अन्य अकाउंट की तरह रेगुलर अकाउंट ही है. फर्क सिर्फ ये होता है कि इस अकाउंट के बारे में आपके घर के लोग नहीं जानते और चुपके-चुपके उसमें पैसे जमा करते हैं.

सीक्रेट बैंक अकाउंट की जरूरत क्यों

परिस्थिति के हिसाब से इस अकाउंट को खोला जाता है. मान लें आपको महीने का पूरा पैसा अपने घरवालों, माता-पिता या पति-पत्नी को देना पड़ता है और कुछ भी नहीं बचा पा रहे तो यह खाता खोल सकते हैं. इस खाता में अपने हिसाब से पैसे जमा कर सकते हैं. यही बचत का पैसा आगे चलकर काम आएगा. अगर अपने सामान्य बचत खाते में पैसे नहीं जोड़ पा रहे हैं तो सीक्रेट खाता खोलने में कोई बुराई नहीं है.

कैसे खोल सकते हैं सीक्रेट बैंक अकाउंट

सीक्रेट बैंक अकाउंट (secret bank account) को वैसे ही खोल सकते हैं जैसे रेगुलर बैंक अकाउंट खोला जाता है. इसके लिए बैंक में अपनी डिटेल और पहचान से जुड़े सबूत देने होते हैं. अगर आप चाहते हैं कि बैंक खाता घर-परिवार से सीक्रेट रहे तो इसे घर से दूर किसी ब्रांच में खोलना होगा. घर के नजदीक अगर अकाउंट खोलते हैं तो उसके बारे में सबको आसानी से जानकारी हो जाएगी. ऐसे में आप अपने परिवार में ही ‘एक्सपोज’ हो सकते हैं. फिर निवेश की सभी प्लानिंग धरी रह जाएगी. आप चाहते हैं कि सीक्रेट अकाउंट के बारे में किसी को पता न चले तो इस खाते को ऑनलाइन खोल सकते हैं.

कैसे होगा केवाईसी

आप जब भी कोई खाता खोलते हैं तो केवाईसी कराना जरूरी होता है. केवाईसी के लिए बैंक आपसे कुछ दस्तावेज मांगते हैं. आधार और पैन कार्ड इसमें जरूरी है. अगर सीक्रेट खाता खोलना है तो अच्छा रहेगा कि किसी बैंक के नुमाइंदे से बात करें. उससे टाइम फिक्स करें और बैंक में जाकर मिलें. उससे कहें कि केवाईसी का काम बैंक में करने के बजाय आपके ऑफिस में हो जाए तो ज्यादा अच्छा. केवाईसी में कुछ मिनट लगते हैं, इसलिए आपके काम पर इसका असर नहीं पड़ेगा.

कैसे करें बचत

यह थोड़ा मुश्किल काम है क्योंकि आपके परिवार को पता है कि आपकी सैलरी कितनी आती है. परिवार को यह भी पता है कि हर महीने घर के खर्च के लिए आप कितने रुपये देते हैं. नए अकाउंट में पैसे जमा करने के लिए आपको या तो अपनी कंपनी से बात करनी होगी ताकि सैलरी का कुछ हिस्सा सीक्रेट अकाउंट (secret bank account) में जमा किया जाए. दूसरा उपाय ये हो सकता है कि घरवालों को यह कहें कि आपने निवेश का कुछ प्लान बनाया है जिसके लिए वे पैसे बचा रहे हैं. इसमें यह नहीं कहना होगा कि आपने कोई सीक्रेट खाता खोला है. आप यहीं कहें कि हर महीने की सैलरी से कुछ पैसे बचा रहे हैं और उसे मौजूदा खाते में जमा कर रहे हैं.

कैसे बंद करेंगे खाता

बाकी खाते की तरह ही सीक्रेट अकाउंट को बंद करने का भी नियम है. इसके लिए आपको बैंक की शाखा में जाना होगा. हो सकता है कि बैंक के कर्मचारी बोलें कि उनके सामने ही चेक बुक को फाड़ दिया जाए और एटीएम कार्ड को तोड़ दिया जाए. यह भी कहा जा सकता है कि एक फॉर्म पर साइन करें जिसमें लिखा हो कि आपने चेक बुक और एटीएम कार्ड को डेस्ट्रॉय कर दिया है. कुछ बैंक ऐसे भी हैं जो यह इजाजत देते हैं कि उनकी किसी ब्रांच में खाता बंद कराया जा सकता है. सीक्रेट अकाउंट में इसका फायदा लिया जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!