बगैर अनुमति धरना देना महंगा पड़ा, पूर्व मंत्री सहित 1200 कांग्रेसियों पर एफआइआर दर्ज

ग्वालियर । ग्वालियर जिले के भितरवार नगर में पूर्व मंत्री सहित करीब आधा दर्जन विधायकों और कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने बिना अनुमति के विरोध प्रदर्शन और जनसभा आयोजित कर दी। जबकि जिले में कोरोना प्रोटोकाल प्रभावी है और भीड़ वाले कार्यक्रम प्रतिबंधित हैं। जिसे लेकर आदेश का उल्लंघन करने पर पूर्व मंत्री लाखन सिंह सहित करीब 1200 कांग्रेसियों पर एफआइआर दर्ज की गई है।

9 सितंबर 2021 गुरुवार को विधानसभा क्षेत्र 18 भितरवार के क्षेत्रीय विधायक व पूर्व मंत्री लाखन सिंह यादव द्वारा बाढ़ पीड़ितों की जन समस्याओं सहित क्षेत्र में व्याप्त बिजली की समस्या और मनमाने बिलों को लेकर करेरा तिराहे पर धरना प्रदर्शन एवं जनसभा की गई। जिसमें कांग्रेस के आधा दर्जन विधायकों एवं प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह शामिल हुए थे। ग्वालियर जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 महामारी के फैलाव को रोकने के लिए किसी भी प्रकार के बड़े आयोजन इत्यादि प्रतिबंधित किए गए हैंं। जिसके चलते पूरे जिले में धारा 144 लगाई गई है। वहीं उक्त धरना प्रदर्शन कार्यक्रम के आयोजकों द्वारा प्रशासन से आयोजन के संबंध में अनुमति नहीं ली गई, जिसके चलते नगर परिषद कर्मचारी अमित ओझा के आवेदन पर पुलिस थाना भितरवार में पूर्व मंत्री व क्षेत्रीय विधायक लाखन सिंह यादव, भितरवार ब्लाक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष महावीर सिंह यादव, दौलत सिंह कुशवाह सहित आयोजन में शामिल 1200 लोगों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 बी के तहत धारा 188,269,270 में मामला दर्ज किया गया है। गाैरतलब है कि इसके पहले ग्वालियर में भी कांग्रेसियाें पर मामला दर्ज किया जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!