हरतालिका तीज से शुरू होंगे पर्व त्योहार, एक क्लिक में यहां पढ़ें छठ पूजा तक की लिस्ट

 हिंदू धर्म में व्रत-त्योहार और अनुष्ठानों का विशेष महत्व होता है। पंचांग में हर वर्ष तिथि के अनुसार त्योहार मनाएं जाते हैं। सावन माह से व्रत और त्योहार का सिलसिला आरंभ हो जाता है। भगवान विष्णु जब चार महीने के लिए क्षीर सागर में योग निद्रा के लिए जाते हैं तब भगवान भोलेनाथ सृष्टि को संभालने की जिम्मेदारी अपने कंधों पर ले लेते हैं। इसके बाद से सावन सोमवार,नागपंचमी, रक्षाबंधन, कृष्णा जन्माष्टमी, गणेश चतुर्थी, विश्वकर्मा पूजा, श्राद्ध पक्ष से लेकर दीवाली जैसे प्रमुख त्योहार आते हैं। आइए जानते हैं आने वाले समय में कब और कौन सा त्योहार मनाया जाएगा।

हरितालिका तीज-  09 सितंबर 2021
हर वर्ष भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को हरतालिका तीज का त्योहार मनाया जाता है। इस बार 09 सितंबर को है।
गणेश चतुर्थी-  10 सितंबर 2021
10 सितंबर 2021 को गणेश चतुर्थी का पर्व है और पूरे देश में इसे गणेश उत्सव के रूप में मनाया जाएगा। महाराष्ट्र में इस उत्सव को बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। भाद्रपद शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को गणेश चतुर्थी है। मान्यता है भगवान गणेश का जन्म भाद्रपद शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को स्वाती नक्षत्र और सिंह लग्न में हुआ था।
विश्वकर्मा पूजा- 17 सितंबर 2021
17 सितंबर को विश्वकर्मा पूजा है। इस दिन देवताओं  के इंजीनियर भगवान विश्वकर्मा जी जयंती मनाई जाती है। इस दिन कारखानों और फैक्ट्ररी में विशेष पूजा आराधना होती है।
अनन्त चतुर्दशी-  19 सितंबर 2021
अनंत चतुर्दशी व्रत का काफी महत्व होता है, इसे अनंत चौदस के नाम से भी जाना जाता है। इसमें भगवान विष्णु के अनंत रूप की पूजा होती है। भाद्रपद मास में शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को अनंत चतुर्दशी कहा जाता है।
श्राद्ध पक्ष आरंभ – 20 सितंबर 2021
20 सितंबर से श्राद्ध पक्ष आरंभ हो जाएंगे। श्राद्ध पक्ष जिसे पितृ पक्ष भी कहा जाता है,इसमें 16 दिनों तक पितरों का तर्पण देकर उनको याद किया जाता है।
श्राद्ध पक्ष पूर्ण – 06 अक्तूबर 2021
6 अक्तूबर को श्राद्ध पक्ष की अंतिम तिथि है। इसके बाद से सभी तरह के शुभ कार्य आरंभ हो जाते हैं।
नवरात्रि आरंभ, अग्रसेन जयंती –  07 अक्तूबर 2021
7 अक्तूबर को शारदीय नवरात्रि आरंभ हो रहे हैं। नवरात्रि के नौ दिनों तक देवी के नौ अलग-अलग स्वरूपों की विधिवत पूजा अर्चना की जाती है। इसी दिन अग्रसेन जयंती भी मनाई जाएगी।
दुर्गा अष्टमी – 13 अक्तूबर 2021
13 अक्तूबर को दुर्गा अष्टमी है। इस दिन कन्या पूजन किया जाता है।
दुर्गा नवमी-  14 अक्तूबर 2021
14 अक्तूबर 2021 को दुर्गा नवमी है। इस दिन नवरात्रि का समापन भी हो जाएगा।
दशहरा विजयादशमी -15 अक्तूबर 2021
दशहरा पर्व जिसे विजयादशी भी कहा जाता है अश्विन माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को अपराह्न काल में मनाया जाता है। इस बार 15 अक्तूबर को है। दशहरा बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाने वाले पर्व है।
करवा चौथ-  24 अक्तूबर 2021
सुहागिन महिलाओं के लिए करवा चौथ का त्योहार बहुत खास होता है। इस विवाहित महिलाएं पूरे दिन बिना खाएं पिए व्रत रखती हैं। रात को चांद के दर्शन और पूजा के बाद व्रत तोड़ती हैं।
अहोई अष्ठमी-  28 अक्तूबर 2021
28 अक्तूबर को अहोई अष्टमी का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन अहोई माता की पूजा की जाती है।
धनतेरस –  02 नवंबर 2021
इस बार धनतेरस का त्योहार 2 नवंबर को मनाया जाएगा। धनतेरस कार्तिक माह में कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को मनाया जाने वाला पर्व है। धनतेरस के त्योहार को धन त्रयोदशी और धन्वंतरि जंयती के नाम से भी जाना जाता है।
रूप चौदस – 03 नवंबर 2021
नरक चतुर्दशी जिसे रूप चौदस भी कहते हैं कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाया जाता है।
दीपावली पूजा- 04 नवंबर 2021
इस वर्ष दीपावली का त्योहार 4 नवंबर को मनाया जाएगा। कार्तिक मास में अमावस्या के दिन प्रदोष काल में लक्ष्मी पूजन किया जाता है। दीपावली का त्योहार हिंदू धर्म का प्रमुख त्योहार है।
गोवर्धन पूजा – 05 नवंबर 2021
गोवर्धन पूजा जिसे अन्न कूट भी कहा जाता है, हिंदू कैलेंडर के अनुसार कार्तिक मास में शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि पर मनाया जाता है।
भाई दूज-  06 नवंबर 2021
06 नवंबर को को भाई दूज का पर्व है। भाई दूज के दिन बहनें अपने भाई के माथे पर तिलक करती हैं।
छठ पूजा- 10 नवंबर 2021
दिवाली के 6 दिनों के बाद छठ पूजा मनाई जाती है। इसे सूर्य षष्ठी के नाम से भी जाना जाता है।
देव उठनी एकादशी और तुलसी विवाह-  14 नवंबर 2021
दिवाली के बाद देवउठनी एकादशी 14 नवंबर को है। इस तिथि पर भगवान विष्णु चार महीने की निद्रा के बाद जागते हैं। इस दिन तुलसी विवाह भी होता 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!