डायबिटीज की वजह से भी आता है आंखों में धुंधलापन, बचाव के लिए ये तरीके अपनाएं

Eye problem: 35-40 साल के बाद आंखों से धुंधला दिखाई देना आम माना जाता है. लोग यही समझते हैं कि कम दिखाई देता है तो यह उम्र का प्रभाव है लेकिन कई बार इसके अलग-अdiabeticलग कारण हो सकते हैं. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक डॉ मल्लिकार्जुन वीजे कहते हैं, अगर आंखों से धुंधला दिखाई देता है तो यह डायबिटीज के भी कारण हो सकता है. उन्होंने कहा कि अक्सर जो लोग डायबिटिक होते हैं, वे आंखों से संबंधित शिकायत करते हैं. वह किसी भी चीज को साफ देखने में असमर्थ हो जाते हैं. लेकिन दुर्भाग्य से अधिकांश लोग इस तरह की समस्या के लिए डॉक्टर के पास नहीं जाते. उन्हें लगता है कि यह उम्र का प्रभाव है. डॉ मल्लिकार्जुन कहते हैं डायबिटिक लोगों में आंखों से धुंधलापन दिखाई देने की सबसे बड़ी वजह ब्लड शुगर के स्तर ( blood sugar levels) का अनियंत्रित होना है. यह रेटिना में मौजूद प्रकाश संवेदी उतकों तक पहुंचने वाले खून की नलिकाओं को क्षतिग्रस्त कर देता है. इसलिए यह जरूरी है कि डायबिटिक लोग ब्लड शुगर के स्तर को हमेशा संतुलित रखें.

डायबिटिक आंख की पहचान कैसे करें
डायबिटीज के कारण आंखों की समस्या को रेटिनोपेथी (diabetic retinopathy) कहा जाता है. इसके कारण आंखों का मसल्स फूल जाना (macular edema), मोतियाबिंद और ग्लूकोमा भी हो सकता है. डॉ मल्लिकार्जुन ने बताया कि डायबिटिक आई की पहचान इसके कुछ शुरुआती लक्षणों से की जा सकती है. ये हैं- आंखों से धुंधला दिखाई देना, रंग को पहचानने में दिक्कत, रात को देखने में दिक्कत, आंखों के पास डार्क धब्बे इत्यादि है. उन्होंने बताया कि कुछ ऐसे उपाय हैं जिसे अपना कर इसमें सुधार किया जा सकता है.

डायबिटिक आई से कैसे बचें

ब्लड शुगर का हमेशा टेस्ट कराएं और इसे संतुलित रखें. ब्लड शुगर का स्तर जैसे ही बढ़ेगा, आंखों की परेशानियां सामने आने लगेंगी.

यदि सिगरेट, शराब पीते हैं तो इसे तुरंत छोड़ दें क्योंकि स्मोकिंग ब्लड शुगर के स्तर को बढ़ाती है और यह आंखों की रोशनी के लिए बहुत नुकसानदेह है.

एक्सरसाइज से सिर्फ मोटापा ही कम नहीं किया जाता बल्कि यह आंखों की रोशनी को भी तेज करती है और ब्लड शुगर के स्तर को भी घटाती है.

अगर आप डायबिटिक हैं तो साल में एक बार आंखों का चेक-अप जरूर कराएं.

अपने भोजन में हरी पत्तीदार सब्जी और फाइबर वाले फूड्स का इस्तेमाल करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!