पंजशीर में फिर घमासान, तालिबान के ठिकानों पर विमानों से ‘बमबारी’, पाकिस्‍तान के खिलाफ प्रदर्शन

Panjshir Valley War Taliban: तालिबानी आतंकियों और पंजशीर घाटी के विद्रोहियों के बीच एक बार फिर से जोरदार संघर्ष हुआ है। दावा किया जा रहा है कि पंजशीर में तालिबान के ठिकानों पर बमबारी भी हुई है।

    

काबुल
अफगानिस्‍तान की पंजशीर घाटी में तालिबान और में अहमद मसूद समर्थकों के बीच फिर से भीषण जंग की खबरें आ रही हैं। बताया जा रहा है कि पंजशीर के पहाड़ों में मोर्चा संभाले विद्रोहियों ने सोमवार रात को तालिबानी के ठिकानों पर जोरदार हमला बोला। इस हमले के दौरान तालिबान के ठिकानों पर अज्ञात विमानों के बमबारी की भी खबरें आ रही हैं। हालांकि अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

अहमद मसूद समर्थक पंजशीर के उप गवर्नर क‍बीर वासिक ने दावा किया है कि पंजशीर और अंदराब में भीषण लड़ाई जारी है। मसूद के नैशनल रेजिस्‍टेंस फोर्स के हमले में तालिबान को भारी नुकसान उठाना पड़ा है। इस बीच सोशल मीडिया में कई ऐसे वीडियो वायरल हुए हैं जिसमें दिखाई दे रहा है कि भारी तादाद में तालिबान के लड़ाके पंजशीर और अंदराब की सड़कों पर मौजूद हैं।

पाकिस्‍तान के खिलाफ जोरदार नारेबाजी
इस बीच अज्ञात लड़ाकू विमानों के पंजशीर घाटी में तालिबान के ठिकानों पर हमला करने की भी खबरें आ रही हैं। कई विश्‍लेषकों का मानना है कि ये अफगान वायुसेना के पायलट हो सकते हैं जो तालिबानी हमले के बाद ताजिकिस्‍तान और उज्‍बेकिस्‍तान चले गए थे। हालांकि अभी तक इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है। स्‍थानीय लोगों का दावा है कि पंजशीर घाटी में रात को तीन फाइटर जेट उड़ते दिखाई दिए।

इस बीच अफगानिस्‍तान में पंजशीर घाटी में हुई तालिबान की खूनी हिंसा का भारी विरोध हो रहा है। सोमवार को लोग बड़े पैमाने पर सड़कों पर उतरे हैं और तालिबान के खिलाफ नारेबाजी की है। बताया जा रहा है कि इसमें बड़ी तादाद में महिलाएं भी शामिल थीं। इस दौरान पाकिस्‍तान के खिलाफ भी जोरदार नारे लगाए गए। पंजशीर में तालिबान कब्‍जे के पीछे पाकिस्‍तान और उसकी वायुसेना का हाथ बताया जा रहा है।

इससे पहले तालिबानी लड़ाकों ने दावा किया था कि वे पंजशीर की राजधानी बाजारक में दाखिल हो चुके हैं और अपना झंडा गाड़ दिया है। तालिबान के प्रवक्ता बिलाल करीमी ने ट्विटर पर ऐलान किया कि तालिबान ने सभी आठ जिलों पर कब्जा कर लिया और लड़ाई जारी है। इससे पहले उन्होंने दावा किया कि रुखाह जिले में और पुलिस हेडक्वार्टर पर कब्जा कर लिया और विद्रोही सेना के कई सैनिक मारे गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!