डेंगू-मलेरिया के मच्छरों से बचने के लिए कैसे करें तैयारी, जानें ये खास टिप्स

बीते साल 2020 में पूरी दुनिया में कोरोना महामारी ने दस्तक दी, जिसके बाद लोग कोरोना से बचने के लिए सभी प्रोटोकॉल मसलन मास्क, सैनिटाइजर का भरपूर इस्तेमाल कर रहे हैं. लेकिन इस बीच आपको ये नहीं भूलना चाहिए कि अगर आप घर में रहते हैं तो कोरोना का खतरा काफी कम हो जाता है. वहीं, डेंगू और मलेरिया ऐसी बीमारियां हैं जो घर में रहते हुए भी आपको अपना श‍िकार बना सकती हैं. इसलिए कोरोना से बचाव के साथ-साथ आपको डेंगू मलेरिया से बचाव रखना जरूरी है.  तो आइए जानते हैं कि इससे बचने के लिए घर पर रहते हुए कैसे तैयारी करें.

डेंगू की बात करें तो ये छोटी-मोटी बीमारी नहीं है. हर साल लाखों लोग इसकी चपेट में आ जाते हैं और उनमें से कई अपनी जान गंवा बैठते हैं इसलिए जरूरी है कि खुद को और अपने परिवार को इस खतरनाक बीमारी से बचाने के लिए हरसंभव सावधानियां बरती जाएं.

आपके घरों में छुपा हो सकता है डेंगू का मच्छर

अक्सर लोगों को लगता है कि डेंगू का मच्छर ऐसी जगहों में पनपता है जहां गंदगी हो या जहां गंदा पानी जमा हो. ये एक बड़ा भ्रम है. दरअसल डेंगू के मच्छर का गंदगी से कोई लेना-देना नहीं है. यह एक ऐसी बीमारी है जो एडीज इजिप्टी मच्छर के काटने से होती है. डेंगू फैलाने वाले ये मच्छर आपके घरों के भीतर रखे गमलों, कूलर, एसी में जमा साफ पानी में भी पैदा हो सकते हैं.

बस एक ही मच्छर काफी है

यह जरूरी नहीं कि आपको लगातार मच्छर काट रहे हों, या कई दिन तक मच्छर काटें, तभी डेंगू का संक्रमण होगा. एक एडीज मच्छर का काटना भी आपके लिए भारी पड़ सकता है. इसलिए अगर आपको अपने घर में एक मच्छर भी दिखे, तो उसे हल्के में ना लें और जितना जल्दी हो सके, उसे मार दें.

घर में घुस आए मच्छर को नजरअंदाज ना करें

आइए एक केस स्टडी से समझते हैं कि कैसे जरा सी लापरवाही आपको डेंगू का शिकार बना सकती है. 20 वर्षीय अलीना खान अपनी खराब इम्युनिटी के चलते अक्सर बीमार पड़ जाती थीं. इस साल अप्रैल में जब उन्हें तेज बुखार आया तो उन्हें लगा कि कहीं कोरोना तो नहीं हो गया. जब टेस्ट कराया तो पता चला कि उन्हें कोरोना नहीं था. लेकिन उनका बुखार उतरने का नाम ही नहीं ले रहा था और साथ ही उल्टियां भी शुरू हो गई थीं. दो दिन के अंदर उनकी हालत इतनी बिगड़ गयी कि उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ा. जब टेस्ट कराए गए तो पता चला कि उन्हें डेंगू था.

अलीना की प्लेटलेट काफी कम हो गई थीं और रक्तचाप भी गिर रहा था. उन्होंने दो दिन ICU में बिताए, जिसके बाद उनका बुखार उतरा और उनकी हालत में थोड़ा सुधार हुआ. हॉस्पिटल से घर वापस आने के बाद भी उन्हें 2-3 हफ्ते काफी कमजोरी रही. अलीना ने बताया कि उन्होंने कभी सोचा भी नहीं था कि डेंगू उन्हें इस तरह अपनी चपेट में ले लेगा, क्योंकि उन्होंने कभी भी अपने घर में एक-दो से ज्यादा मच्छर नहीं देखे थे.

डेंगू से ऐसे करें अपना बचाव

1. अपने घर में और आसपास कूलर, एसी, गमलों और टायर आदि में पानी जमा न होने दें.

2. पानी की टंकियों को सही तरीके से ढककर रखें.

3. खिड़की और दरवाजों में जाली लगवाएं.

4. दिन में दो बार घर के सभी कोनों में काले हिट का छिड़काव करें.

5. याद रखें कि एक मच्छर भी आपको डेंगू का मरीज बना सकता है. इसलिए मच्छर को मारने में देरी ना करें.

6. अगर लगातार बुखार आ रहा हो और डेंगू के लक्षण दिख रहे हों, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!