Feng Shui Tips : बड़े कारगर हैं फेंगशुई के ये उपाय, करते ही चमक जाता भाग्य

अक्सर आपने तमाम घरों में फेंगशुई से जुड़े कई चीजों को रखी हुई देखा होगा. फेंगशुई से जुड़ी ये चीजें गुडलक या फिर कहें सौभाग्य को बढ़ाने के लिए होती हैं. बात करें फेंगशुई की तो इसमें फेंग का अर्थ होता है वायु और शुई जल को कहते हैं. फेंगशुई के नियम इसी जल और वायु के आधार पर बने हुए हैं. यदि आपको लगता है कि आपके घर की खुशियों को किसी की नजर लग गई है या फिर कठिन परिश्रम करने के बाद भी आपकी आर्थिक स्थिति सही नहीं हो रही है तो आपको सुख-समृद्धि को बढ़ाने वाले फेंगशुई के वास्तु आधारित नियमों का पालन जरूर करना चाहिए.
1.फेंगशुई के नियमों के अनुसार किसी भी आवासीय मकान के पास मन्दिर नहीं बनाया जाना चाहिए और यदि कहीं कोई मंदिर बना हुआ हो तो उसके करीब मकान बनाने से बचना चाहिए.
2.फेंगशुई के अनुसार भगवान की प्रतिमा के सामने या मुख्य द्वार के सामने यदि कोई खम्भा हो तो उसको तुड़वाने की बजाय उस पर दर्पण लगा दीजिए.
3.फेंगशुई नियमों के अनुसार यदि मजबूरी में मंदिर के पास मकान बनाना ही पड़ जाए तो प्रयास करें कि मन्दिर की छाया मकान पर न पड़े. मान्यता है कि मंदिर के ऊपर लगाए जाने वाले ध्वज की छाया किसी मकान पर नहीं पड़नी चाहिए.
4.फेंगशुई नियमों के अनुसार यदि आपकी रसोई और शौचालय आमने-सामने हो या फिर मेन डोर के सामने रसोईघर हो तो आप इस दोष से छुटकारा पाने के लिए अपने द्वारों पर क्रिस्टल बॉल लटका सकते हैं.
5.फेंगशुई नियमों के अनुसार कभी भी अपने अपने घर के बीच में सीढ़ियां नहीं बनवाना चाहिए क्योंकि ऐसा करने पर घर के मालिक को दिल संबंधी रोग होने की आशंका बनी रहती है.
6.फेंगशुई नियमों के अनुसार आपके घर का अगला व पिछला द्वार एक सीध में नहीं होना चाहिए क्योंकि ऐसा होने पर सारी ‘ची’ अर्थात् प्राण ऊर्जा प्रवेश करने के साथ ही बाहर निकल जायेगी.

7.फेंगशुई के अनुसार घर में अपने फर्नीचर की सेटिंग्स कुछ ऐसे करें कि ‘ची’ सारे घर में प्रवाहित हो जाये.
8.फेंगशुई के अनुसार ऑफिस में हमेशा आपकी कुर्सी का पीछे का हिस्सा ऊँचा और बैठने के स्थान के पीछे की दीवार ठोस होनी चाहिए. इस उपाय को करने पर कार्यस्थल पर सीनियर्स और जूनियर्स का भरपूर सहयोग प्राप्त होता है.
9.फेंगशुई नियमों के अनुसार खिड़कियों के दरवाजे बाहर की ओर खुलने चाहिए, इससे ‘ची’ का प्रवाह अधिक होता है और उस भवन में निवास करने वाले व्यक्तियों को कभी आर्थिक समस्याएं नहीं आती हैं.

(यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं, इसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!