मानसून:भोपाल, गुना में मूसलधार बारिश; इंदौर, जबलपुर, होशंगाबाद और शहडोल के अधिकांश हिस्सों में पहुंचा मानसून

मध्यप्रदेश में गुरुवार को मानसून ने बैतूल की तरफ से दस्तक दे दी। भोपाल में मानसून सक्रिय हो गया है। इसी के चलते शुक्रवार दोपहर तेज हवाओं और गरज-चमक के साथ भोपाल में तेज बारिश शुरू हो गई। इसके अलावा गुना के बमौरी क्षेत्र में भी बारिश के साथ ओले गिरे हैं। इसके अलावा ग्वालियर, इंदौर, होशंगाबाद, खंडवा में मौसम साफ है। यहां सुबह से तेज धूप है। उमस से लोग बेहाल हैं। वहीं, सागर, छिंदवाड़ा में बादल छाए हुए हैं।

भोपाल में दोपहर होते ही बादलों ने डेरा डाला

भोपाल में सुबह से मौसम साफ था। दोपहर होते-होते बादलों ने पूरे शहर को घेर लिया। दोपहर करीब 3:30 बजे ही शाम जैसा मौसम हो गया। इसके बाद तेज हवाएं चलने लगी। करीब 15 मिनट बाद तेज बारिश शुरू हो गई। शहर के एमपी नगर, आनंद नगर, आयोध्या नगर, पिपलानी, रायसेन रोड, पुराना भोपाल, होशंगाबाद रोड आदि क्षेत्रों में तेज बारिश होने लगी।

विंध्य क्षेत्र में भी मानसून ने दस्तक दे दी है। यहां गुरुवार को रीवा और सतना जिले में शहर से लेकर गांव तक रिमझिम बारिश हुई है। रात करीब 8.15 बजे से चालू हुआ बारिश का सिलसिला देर रात 12 बजे तक रिमझिम बारिश के रूप में चलता रहा है। हालांकि शुक्रवार सुबह से लेकर शाम तक मौसम साफ रहा। 24 घंटों में ही मानसून जबलपुर, होशंगाबाद, शहडोल और इंदौर के अधिकांश संभागों में फैल गया, जबकि भोपाल और सागर के कुछ हिस्सों में यह सक्रिय हो चुका है।

तेज बारिश से धार नदी में आई बाढ़, 5 घंटे जाम रहा NH-69

बैतूल में मानसून की दस्तक के साथ तेज बारिश से शुक्रवार को बैतूल-इटारसी के बीच स्थित धार नदी में बाढ़ आ गई, जिससे अब्दुलागंज-नागपुर NH-69 पर जाम लग गया। करीब 5 घंटे नेशनल हाइवे बंद रहा। इस दौरान हाइवे पर पुल के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। जाम में बैतूल से भोपाल मरीज को ले जा रही एम्बुलेंस भी फंसी। पानी कम होने पर दोपहर 2 बजे केसला और बैतूल के भौंरा पुलिस ने वाहनों को निकलना शुरू हुआ। ​​​​​​​बैतूल में 10 जून से मानसून ने दस्तक दे दी है। गुरुवार से ही जिले में अलग-अलग हिस्सों में तेज बारिश हो रही। बारिश से पहाड़ी इलाकों में नदी-नाले ऊफान पर आ रहे।

20 जून से पहले मानसून के सक्रिय होने की उम्मीद

मौसम विभाग की मानें, तो अब इसके 20 जून से पहले ही इस बार मध्यप्रदेश में सक्रिय होने की उम्मीद है। दक्षिण पश्चिमी मानसून उत्तरी सीमा व सूरत, नंदूरबार, रायसेन, दमोह, उपरिया, पंड्रा रोड, बोलांगीर, पुरी से होकर गुजर रही है। यही कारण है कि एक जून से लेकर शुक्रवार सुबह तक पूर्वी मध्यप्रदेश में करीब दो इंच और पश्चिम मध्यप्रदेश में करीब सवा इंच बारिश हो चुकी थी।

यहां गरज चमक के साथ बारिश

मौसम विभाग ने होशंगाबाद, जबलपुर और सागर संभाग्र के अधिकांश जिलों, रीवा शहडोल संभागों के अनेक स्थानों और इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर और चंबल संभाग के कुछ जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना जताई है।

यहां यलो अलर्ट जारी

प्रदेश के अनूपपुर, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला, बालाघाट, सागर, सीहोर, होशंगाबाद, बैतूल और देवास जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश के साथ बिजली चमकने और गिरने का यलो अलर्ट जारी किया गया है। जबकि रीवा, इंदौर, ग्वालियर, एवं चंबल संभागों के जिलों में, शहडोल, उमरिया, डिंडोरी, कटनी, जबलपुर, पन्ना, दमोह, टीकमगढ़, छतरपुर, विदिशा, रायसेन, भोपाल, राजगढ़, हरदा, रतलाम, उज्जैन, शाजापुर, अगर नीचम और मंदसौर जिलों में कहीं-कहीं गरज के साथ बिजली चमकने और 40 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *