ग्वालियर में ब्लैक फंगस से हवलदार की मौत की आशंका

ग्वालियर । कंपू थाने में पदस्थ एक हवलदार की मौत स्थानीय निजी अस्पताल में हुई। हवलदार कोरोना पाजिटिव था। पाजिटिव होने के बाद उसका उपचार अस्पताल में चल रहा था। लेकिन बुधवार दौराने इलाज उसकी मौत हो गई। मौत के बाद आशंका जताई जा रही है कोरोना से वे रिकवर हो रहे थे। लेकिन ब्लैक फंगस ने चपेट में ले लिया। जिससे उसकी मौत हो गई। हालांकि अभी ब्लैक फंगस से मौत की बात प्रशासन ने पुष्टि नहीं की है।

कंपू थाने में पदस्थ हवलदार रमकुमार पिछले दिनाें कोरोना पाजिटिव हो गए थे। पाजिटिव होने के बाद जब उनकी हालत बिगड़ी तो उन्हें सिम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया। बताया जाता है कि उपचार के दौरान हवलदार रिकवर भी कर रहे थे। लेकिन बुधवार को उनकी तबियत बिगड़ी और उनकी मौत हो गई। उनकी मौत के बाद आशंका जताई जा रही है कि कोरोना के बाद वे ब्लैक फंगस की चपेट में आ गए। हालांकि यह खबर केवल इंटरनेट मीडिया पर ही वायरल है। इसकी पुष्टि प्रशासन या स्वास्थ्य विभाग ने नहीं की है।

इस दुर्लभ फफूंद संक्रमण को मेडिकल पारलेन्स में ‘ब्लैक फंगस’ या ‘म्यूकोर्मोसिस’ के रूप में जाना जा रहा है। यह बलगम नामक कवक के कारण होता है, जो गीली सतहों पर पाया जाता है। सीओवीआईडी -19 बचे लोगों में श्लेष्म के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, जिससे अंधापन या गंभीर बीमारी और यहां तक कि कुछ मामलों में मृत्यु भी हो सकती है, स्वास्थ्य अधिकारियों ने चेतावनी दी है।

मुख्यमंत्री ने भी ब्लैक फंगस को लेकर दिए बैठक में निर्देश: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने बैठक में कहा कि ब्लैक फंगस का इलाज संभव है, लक्षण दिखने पर समय पर अस्पताल पहुँचे, इलाज कराए। ब्लैक फंगस के संक्रमण की घटनाएं सामने आ रही हैं,जो बहुत भयानक है। यह चिंता का विषय है इसमें नाक,मुंह, दांत, आंख मस्तिष्क और बाकी अंग भी संक्रमित हो जाते हैं। अभी तक प्रदेश में 50 रोगियों की की पुष्टि हुई है। इसके इलाज के प्रोटोकॉल के अनुसार उपचार सुनिश्चित किया जाये। इस बीमारी के कारण, लक्षण और इलाज क्या हैं, क्या सावधानियां रखी जानी चाहिए। इन सभी बातों का प्रारंभिक अवस्था में ध्यान रखा जाए। उन्हाेंने कहा कि इसका उपचार उपचार महंगा होता है इंजेक्शन महंगे लगते है। इसलिए राज्य शासन ऐसे पेशेंट को भरपूर सहयोग करेगा। जो आर्थिक दृष्टि से कमजोर हैं, उनके नि:शुल्क इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित करने का पूरा प्रयास करेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!