कोरोना मरीज घबराएं नहीं, ये सावधानियां बरतें, 14 दिन में हो सकते हैं रिकवर 

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने देशभर में कोहराम मचा रखा है। रोजाना लाखों की संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं, जबकि हजारों लोगों की संक्रमण के कारण जान जा रही है। हालांकि हाल ही में आईसीएमआर (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि कोरोना की दूसरी लहर ने सिर्फ सांस की दिक्कत बढ़ाई है, यानी ऑक्सीजन की जरूरत ज्यादा महसूस हो रही है, मृत्यु दर में इजाफा नहीं हुआ है। विशेषज्ञों का यह भी कहना है कि कोरोना के 80 फीसदी से ज्यादा मरीज घर में यानी होम आइसोलेशन में ही ठीक हो रहे हैं। हल्के लक्षण वाले मरीजों को रिकवर होने में करीब दो हफ्ते का समय लगता है। इसलिए कोरोना मरीज घबराएं नहीं, अगर कोरोना के हल्के लक्षण हैं तो कुछ सावधानियां बरतें, वे 14 दिन में रिकवर हो सकते हैं।

विशेषज्ञ कहते हैं कि अगर आपको कोरोना के सामान्य लक्षण (सर्दी-जुकाम, बुखार, गले में खराश, मांसपेशियों में दर्द, गंध और स्वाद की क्षमता का चले जाना) दिखते हैं तो सबसे पहले तो आप आइसोलेट हो जाएं, यानी खुद को सबसे अलग कर लें और कोरोना की जांच करवाएं। अगर रिपोर्ट पॉजिटिव है तो कुछ बातों का ध्यान रखें और डॉक्टर की सलाह लें।

संक्रमण के शुरुआती चार दिनों में क्या करें?
दिनभर में तीन से चार लीटर गर्म पानी पिएं। पानी में अजवाइन डालकर तीन से चार बार भाप लें और गर्म पानी में नमक डालकर दिन में तीन से चार बार गरारे करें। इससे वायरस को कमजोर किया जा सकता है, जिससे वो शरीर पर गंभीर परिणाम न डाल सके।

सेहतमंद खाना खाएं
विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, अपने खाने में ताजे फल, अनप्रोसेस्ड फूड, दाल, बीन्स, मक्का, बाजरा, गेहूं, आलू, हरी सब्जियां, शकरकंद, एवोकाडो, आलू आदि को शामिल करें। इससे आपको जरूरी फाइबर, प्रोटीन, विटामिन, एंटीऑक्सीडेंट और खनिज मिलेंगे। इसके अलावा आप मछली, नट्स ऑलिव ऑयल, सोया, सूरजमुखी और कॉर्न ऑयल को भी अपने खाने में शामिल कर सकते हैं।

ये चीजें न खाएं
संक्रमण के दौरान आपको प्रोसेस्ड फूड, फास्ट फूड, फ्राइड फूड, फ्रोजन पिज्जा जैसी चीजों को खाने से बचना चाहिए। इससे आपकी परेशानियां बढ़ सकती हैं, खासकर पेट संबंधी परेशानियां।

इन चीजों का भी ध्यान रखें
संक्रमण के शुरुआत चार दिनों में अपना ऑक्सीजन लेवल, ब्लड प्रेशर और शरीर का तापमान नापना न भूलें। अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं तो अपना शुगर भी दिन में दो बार चेक करें। इसके अलावा सबसे जरूरी बात कि अपने फेफड़ों को दुरुस्त रखने के लिए व्यायाम और योग करें, साथ ही ज्यादा से ज्यादा आराम करें। वहीं डॉक्टर द्वारा बताई गई दवाइयां भी लेते रहें, खुद से कोई भी दवाई न लें।

डॉक्टर कहते हैं कि कोरोना की इस दूसरी लहर में संक्रमित मरीजों को कई दिनों तक बुखार रह सकता है, इससे घबराने की जरूरत नहीं है, बल्कि इस संबंध में डॉक्टर से सलाह लें। सबसे जरूरी बात ये कि अपना ऑक्सीजन लेवल चेक करते रहिए। अगर वह 96 से ऊपर है तो सबकुछ ठीक है, लेकिन अगर ऑक्सीजन लेवल लगातार कम हो रहा है तो डॉक्टर से बात करिए और अस्पताल में भर्ती हो जाइए।

संक्रमण के पांचवें से नौवें दिन के बीच में क्या करें?
इस दौरान बुखार कम होने लगता है, लेकिन इस बीच ज्यादातर मरीजों को पीठ दर्द या पूरे शरीर में दर्द की शिकायत रहती है। इससे घबराने की जरूरत नहीं है। आप प्रोटीन से भरपूर डाइट लेते रहें और नियमित रूप से व्यायाम करें। साथ ही पहले बताई गई सभी बातों को भी फॉलो करते रहें, जैसे ऑक्सीजन लेवल, ब्लड प्रेशर और शरीर का तापमान नापते रहें।

इन बातों का भी रखें ध्यान
अगर आप स्वस्थ महसूस कर रहे हैं, बुखार कम हो गया है या खत्म हो गया है तो इसका मतलब कि आप संक्रमण से ठीक हो रहे हैं। इस दौरान पौष्टिक खाना खाते रहिए और व्यायाम करते रहिए, जिससे शरीर को और मजबूती मिले और संक्रमण पूरी तरह खत्म हो जाए। लेकिन अगर इतने दिनों के बाद भी आपको बुखार है या बुखार खत्म होने के बाद वापस आ गया है तो यह ठीक संकेत नहीं है। आपको इस बारे में डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

संक्रमण के 10वें से 14वें दिन तक क्या करें?
अगर आपको कोई समस्या नहीं है, न बुखार-न सर्दी-जुकाम, ऑक्सीजन लेवल 96 से ऊपर है, तो इसका मतलब कि आप तेजी से रिकवर हो रहे हैं और खतरे से बाहर हैं। इस दौरान अच्छी डाइट लें, व्यायाम करें। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि आप लोगों से मिलें नहीं, बल्कि खुद को आइसोलेट ही रखें। आप डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही परिवार के अन्य सदस्यों से मिलें। यह भी ध्यान रखें कि कोरोना से ठीक होने के बाद भी आपको कमजोरी महसूस हो सकती है, इसलिए खाने-पीने पर विशेष ध्यान दें, जिससे शरीर अंदर से मजबूत बने।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!