आईसीयू में प्रतिदिन डी- डायमर टेस्ट अनिवार्य किया जाए – धैर्यवर्धन

शिवपुरी भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्य समिति सदस्य धैर्य वर्धन ने कहा कि शिवपुरी में कोविड वार्ड मे भर्ती मरीजो का प्रतिदिन अनिवार्य रूप से डीडायमर टेस्ट किया जाना चाहिए । यह टेस्ट खून मे आ रहे गा‌ढेपन और थक्कौ की जानकारी प्रदान करता है ।
भाजपा नेता धैर्यवर्धन ने कहा कि कोरोना वायरस के ज्यादा संक्रमण हो जाने पर फेफडों मे चिपचिपाहट बढ़ जाती है और इस गाढापन से फेफड़े और खून मे थक्के जमने लगते हैं ।‌अनेक डॉक्टर्स का मत है कि वेंटिलेटर पर अति गंभीर अवस्था मे पहुँचने वाले रोगियों मे लगभग एक चौथाई मे पॉल्म्नरी ईबोलिज्म नामक बीमारी हो सकती है जिस से फेफडों की धमनियों मे रक्त प्रवाह वाधित होने से ह्रदयाघात हो जाता है ।
धैर्यवर्धन ने कहा कि गंभीर अवस्था मे मरीजो को वायरल लोड कम करने के लिए वर्तमान मे रेम्दिसिविर इंजेक्शन दिया जा रहा है ।
यह इंजेक्शन तात्कालिक तौर पर लाभदायक है पर बाद मे इसके साइड इफेक्ट्स के कारण हृदय की गति तेज और अनियमित हो जाती है।यह लिवर, किडनी को समस्या उत्पन्न भी कर सकता है ।
खून के गाढापन के कारन डीडायमर प्रोटीन बढ़ने से थ्रोम्बोसिस की समस्या हो सकती है जिससे मरीज के पैर, हृदय, फेफड़े और मस्तिष्क मे थक्का जमने लगता है ।
भाजपा नेता धैर्य वर्धन ने कहा कि
चुंकि शिवपुरी के ज़िला चिकित्सालय और मेडिकल कॉलेज मे विद्वान् चिकित्सक हैं अतः वे डिडायमर का स्तर जानकर खून पतला करने वाले इंजेक्शन को रेम्देसिविर ट्रीटमेंट पीरियड मे लगातार दे सकेंगे ।सामान्य तौर पर शिवपुरी मे इलाज कर रहे डॉक्टर्स द्वारा ईको एस्पिरिन नामक इंजेक्शन लगाया भी जाता है लेकिन अब एनक्लेक्स आदि इंजेक्शन पेट की चमडी मे सीधे लगाकर उसके उपयोग से खून मे थक्के बनने से रोका जाता है । ये इंजेक्शन एन्टीकोग्लेन्ट होने से ब्लड क्लॉटिंग प्रोटीन्स को इनएक्टिव करते हैं । इस प्रकार की नवीन और ज्यादा असरदार वाली दवा और इंजेक्शन तत्काल प्रभाव से रोगी कल्याण समिति एवं रेडक्रॉस के फंड से खरीदी जानी चाहिए । यदि बजट की कोई समस्या है तो क्रायसिस कण्ट्रोल कमेटि या शांति समिति की बैठक बुलाकर जन सहयोग का आव्हान किया जाना चाहिए । इस आपात्काल मे लोग बढ़ चढ़ कर प्रशासन की मदद कर रहे हैं ।
भाजपा नेता धैर्यवर्धन ने कहा कि मरीज के ठीक हो जाने के बाद भी वह किसी साइड इफ्फेक्शन का शिकार ना हो उसके लिए भी यह टेस्ट उपयोगी होगा । इस टेस्ट की बदौलत आगामी दिनों के लिए भी आवश्यक दवाईयाँ देकर उसको आघात के खतरे से बचाया जा सकता है।
भाजपा नेता धैर्यवर्धन ने कहा कि सामान्य तौर पर यह टेस्ट किया ही जा रहा होगा । चुंकि केस शीट आम आदमी को पढ़ने को नहीं मिलती इसलिए हमको नहीं मालूम कि यह टेस्ट कितनी बार हो रहा है , हो भी रहा या नहीं हो रहा है । यदि टेस्ट हो रहा है तो इसको बढाकर आई सी यू मे रहने एवं रेम्देसिविर इंजेक्शन लगने के पाँच छ्ह दिनों तक हरेक दिन होना ही चाहिए । उन्होंने कहा कि वे हालांकि चिकित्सा व्यवस्था को बिलकुल नहीं समझते हैं पर विभिन्न मरीजो के परिजनों से चर्चा , न बचाये जा सके लोगों की मौत के हालत पर विचार करने के बाद इस सुझाव को देने के लिए बाध्य हुए हैं ।
भाजपा नेता धैर्यवर्धन ने कहा कि
मध्य प्रदेश सरकार के प्रयासों के फलस्वरुप हालांकि कोरोना के रोगीयों ला इलाज निशुल्क हो रहा है । शिवपुरी का प्रतिनिधित्व करने वाली और सरकार की मंत्री श्रीमंत यशोधरा राजे के निर्देश पर अब टेस्ट की संख्या मे भी बढोत्तरी होगी जिसके कारन समय पर रोगीयों को चिन्हित कर समय पर उनका उपचार किया जा सकेगा। परंतु यदि शिवपुरी मे अस्पताल और मेडिकल कॉलेज मे इतनी तदाद मे टेस्टिंग न हो पा रही हो तो लोग अपने व्यय पर भी यह टेस्ट प्राईवेट लैब मे करा सकते हैं । उन्होंने ज़िला कलेक्टर से कहा कि इस टेस्ट की न्यूनतम रेट निर्धारित कर प्राईवेट लैब के लॉगो को सैम्पल लेने की अनुमति प्रदान की जाए । इससे इलाज मे आसानी होगी और शायद मौत के आंकड़े मे भी कमी की जा सकेगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!