25 अप्रैल को ही आ चुका है मप्र में दूसरी लहर का पीक, कानपुर आईआईटी के प्रोफेसर मनिंद्र अग्रवाल का आकलन

आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर मनिंद्र अग्रवाल के महामारी के आकलन वाले गणितीय मॉडल ‘सूत्र’ के मुताबिक मप्र में कोरोना की दूसरी लहर का पीक आ चुका है। अब प्रतिदिन नए संक्रमित मरीजों की संख्या 25 अप्रैल को अपने अधिकतम स्तर 13601 पर पहुंचने के बाद लगभग थम गई है। छह दिन में मामूली उतार-चढ़ाव के साथ नए केसों की संख्या अब कम होना शुरू हो गई है। 30 अप्रैल को प्रदेश में 12400 और 1 मई को 12379 नए केस मिले हैं।

प्रो. अग्रवाल ने 30 अप्रैल तक प्रदेश में लगभग 14500 केस प्रतिदिन नए संक्रमितों की संख्या को पीक माना था। लेकिन 30 अप्रैल से पहले ही मप्र में संक्रमण दर घटती दिखाई देने लगी है। प्रदेश में यह स्थिति तब है जब रोजाना 55 से 60 हजार टेस्ट हो रहे हैं। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने भी शनिवार को बताया कि आईआईटी कानपुर के नेशनल और स्टेट केस प्रिडिक्शन के अनुसार प्रदेश अपने कोरोना पीक पर पहुंच गया है। इसलिए अब रोजाना संक्रमण के मामले कम हो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!