मध्यप्रदेश: अधिकारियों की मेहनत और इंजीनियरों के जुनून ने मात्र दो दिन में लगाया ऑक्सीजन प्लांट

कोरोना की इस दूसरी लहर में सबसे ज्यादा जानें ऑक्सीजन की कम से जा रही हैं। हर राज्य में ऑक्सीजन की भारी कमी है। लेकिन रीवा जिलें में अधिकारियों की मेहनत और इंजीनियरों की लगन ने मात्र दो दिन में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित कर दिया। वहीं प्लांट को चालू कराकर अब एक दिन में 100 सिलिंडर भरे जा रहे हैं।

दरअसल, ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल में केवल दो दिन में लगातार काम करके ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किया गया है। इस प्लांट से 29 अप्रैल से प्रतिदिन 100 सिलेंडरों में ऑक्सीजन भरने का काम शुरू हो गया है। इससे सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल में मांग के अनुसार ऑक्सीजन की शत-प्रतिशत आपूर्ति हो जाएगी। साथ ही संजय गांधी अस्पताल को आवश्यकता पड़ने पर ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जा सकेगी।

दिल्ली से मशीनें बाहर निकलने में कई बाधाएं आ रही थीं। विभिन्न स्तर पर प्रयास करके मशीनें प्राप्त की गईं। प्लांट स्थापित करने के लिए बिजली की लाइन, गैस लाइन और अन्य आवश्यक तैयारियां मशीन पहुंचने के पूर्व ही कर ली गई। मशीन को स्थापित करने में इंजीनियर नीरज सिंह और उनके सहयोगियों ने लगातार दो दिनों तक अथक परिश्रम किया। जिसके परिणामस्वरूप 27 अप्रैल को ऑक्सीजन प्लांट बनकर तैयार हो गया।

इसका परीक्षण करने में लगभग 30 घंटे का समय लगा। उसके 29 अप्रैल से प्लांट से सिलेंडरों में ऑक्सीजन भरने की प्रक्रिया शुरू हो गई। इसके बाद जिले के अधिकारियों ने राहत की सांस ली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!