कोरोना: ‘काट दिया जाएगा सिर’ के बाद पूनावाला बोले- तेज हुआ टीके बनाने का काम, जल्द लौटूंगा

सीरम संस्थान के सीईओ अदार पूनावाला एक बार फिर सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि पुणे में सीरम संस्थान ने कोविशील्ड का उत्पादन बढ़ा दिया है। टीके के उत्पादन में आई तेजी का असर जल्द ही देखने को मिलेगा और जब वह स्वदेश लौटेंगे तो इसकी समीक्षा की जाएगी

पूनावाला ने शनिवार देर रात एक ट्वीट कर कहा कि ब्रिटेन में अपने सभी साझेदारों और शेयरधारकों के साथ शानदार बैठक हुई। इस बीच यह बताते हुए खुशी हो रही है कि पुणे में कोविशील्ड का उत्पादन पूरे जोर से चल रहा है। कुछ दिनों में लौटने पर मैं काम की समीक्षा करने के लिए उत्साहित हूं।

बता दें कि इससे पहले पूनावाला ने देश में कोरोना की दूसरी लहर के कारण टीके की मांग बढ़ने पर उत्पादन बढ़ाने को लेकर दबाव बनाए जाने की बात कही थी। उन्होंने यहां तक कहा था कि कुछ प्रभावशाली लोग टीके उपलब्ध कराने के लिए उन पर दबाव बना रहे हैं साथ ही उन्हें धमकी भरे फोन कॉल आ रहे हैं। 

गौरतलब है कि पिछले दिनों धमकी भरे फोन कॉल की शिकायत के बाद गृह मंत्रालय ने पूनावाला को वाय श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई थी। सरकारी सुरक्षा दिए जाने के बाद अपनी पहली टिप्पणी में पूनावाला ने लंदन के अखबार ‘द टाइम्स’ के साथ बातचीत में शनिवार को कहा था कि कोविशील्ड वैक्सीन की आपूर्ति की मांग को लेकर भारत के सबसे शक्तिशाली लोगों में से कुछ ने उनसे फोन पर उग्रतापूर्वक बातें की हैं।

पत्नी और बच्चों के साथ लंदन में हैं पूनावाला

बता दें कि सीआईआई भारत में ऑक्सफोर्ड/ एस्ट्राजेनका की कोविड-19 वैक्सीन कोविशील्ड वैक्सीन का उत्पादन कर रही है। पूनावाला ने कहा है कि टीके का उत्पादन बढ़ाने के इसी दबाव के चलते ही वह अपनी पत्नी और बच्चों के साथ लंदन आ गए हैं।

भारत सरकार के अधिकारियों के अनुसार पूनावाला को संभावित खतरों को देखते हुए सुरक्षा दी गई। देश में किसी भी जगह उनके साथ केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवान उनकी सुरक्षा में होंगे। इनमें 4-5 कमांडो होंगे।

सब मेरे कंधों पर पड़ गया : पूनावाला

पूनावाला ने कहा कि मैं यहां (लंदन) तय समय से अधिक रुक रहा हूं, क्योंकि मैं उस स्थिति में वापस नहीं जाना चाहता। सब कुछ मेरे कंधों पर पड़ गया है, लेकिन मैं इसे अकेले नहीं कर सकता… मैं ऐसी स्थिति में नहीं रहना चाहता, जहां आप सिर्फ अपना काम करने की कोशिश कर रहे हों, और सिर्फ इसलिए कि आप हर किसी की जरूरत को पूरा नहीं कर सकते, आप अंदाजा नहीं लगा सकते कि बदले में वे क्या करेंगे।

उन्होंने कहा कि लोगों की उम्मीद और उग्रता का स्तर वास्तव में अभूतपूर्व है। यह बहुत अधिक है। सभी को लगता है कि उन्हें टीका लगना चाहिए। वे समझ नहीं सकते कि उनसे पहले किसी और को यह क्यों मिलना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!