BJP विधायक नारायण त्रिपाठी ने शिवराज को लिखा पत्र; कहा- वर्चुअल मीटिंग के तमाशे से कुछ नहीं होने वाला, बेड, ऑक्सीजन और दवाइयों का इंतजाम करें

मैहर से बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए हैं। विधायक ने कोरोना महामारी को लेकर सरकार को नसीहत दी है। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को एक पत्र लिखा है। इसमें कहा है कि वर्चुअल मीटिंग के तमाशे से कुछ होने वाला नहीं है। लोगों के लिए दवाई, वेंटिलेटर, बेड और आक्सीजन की व्यवस्था की जाए। अस्पतालों की हालत यह है कि डॉक्टरों व पैरामेडिकल स्टाफ के लिए पीपीई किट का इंतजाम तक नहीं है।

नारायण त्रिपाठी ने कहा है कि काेरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए एक माह के लिए टोटल लॉकडाउन कर दिया जाए। इस दौरान कोरोना टेस्टिंग, जांच और वैक्सीनेशन का काम घर-घर स्वास्थ्य कर्मियों को भेजकर कराया जाए ताकि प्रदेश के लोगों की जान बचाई जा सके।

हालांकि उन्होंने मुख्यमंत्री को संवेदशनशील बताया है। विधायक ने लिखा- सीएम चौहान संवेदनशील मुखिया हैं और प्रदेश की जनता से उनका सीधा रिश्ता है। महिलाओं को बहन, बच्चों को भांजे-भांजी बनाकर एक रिश्ता बनाया है तो बुजुर्गों को तीर्थयात्रा कराकर पुत्रधर्म का निर्वाह भी किया है। उन्होंने अपने क्षेत्र मैहर के हालातों को जिक्र करते हुए कहा कि यहां के मरीजों को न तो रीवा मेडिकल कालेज और न ही जबलपुर में लोगों को बेहतर उपचार मिल पा रहा है। इस संबंध में सख्त निर्णय लेने की जरूरत है।

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर कल भोपाल के हुजूर विधायक ने भी कलेक्टर को पत्र लिखकर बैरागढ़ सिविल अस्पताल में कोरोना मरीजों का उपचार नहीं होने पर नाराजगी जताई थी और 10 मई तक व्यवस्था न होने पर 11 मई को सिविल अस्पताल में धरना देने की बात कही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!