तुरंत बाद करें स्नान, वरना सेहत पर पड़ेगा बुरा असर


अर्थशास्त्र, राजनीति और कूटनीति के मर्मज्ञ ज्ञाता कौटिल्य जिन्हें पूरी दुनिया आचार्य चाणक्य के नाम से जानती है उन्होंने कई ऐसी गूढ़ बातें पूरी दुनिया को बताई हैं जिनको मानकर आप जीवन में कभी भी मात नहीं खा सकते। वैसे तो चाणक्य ने अर्थशास्त्र के संबंध पर काफी कुछ लिखा है, लेकिन उन्होनें खुशहाल जीवन और उन्नति के बारें में भी कई बातें बताई। जिनका पालन कर आप अपने जीवन में खुश रह सकते है। जानिए आचार्य चाणक्य की कही बातों को।

आचार्य चाणक्य ने कई गूढ़ बाते बताई है। जिनका अनुसरण करने से आपको हर जगह सफलता मिलती है। की बार हम ऐसे काम कर देते है जो कि हमें बाद में नुकसान पहुंचाते है। इसी तरह चाणक्य ने हमारी दिनचर्या के कामों को लेकर कई बातें बताई है। इन्हीं में से है नहाने से संबंधित बातें। चाणक्य ने बताया है कि किस समय हमें नहाना चाहिए और किस समय नही। इसी तरह आचार्य ने बताया कि किस परिस्थियों में हमें जरूर नहाना चाहिए।

आमतौर में तो हम रोज सुबह नहाते है, लेकिन आचार्य के अनुसार जब इन परिस्थियों में हो तो जरूर नहाएं। ऐसा न करने से हमारी सेहत में इसका असर पड़ सकता है, क्योंकि हमारे खान-पान के साथ-साथ दिनचर्या से ही हमारी सेहत में असर पड़ता है। जानिए इन स्थितियों के बारें में।

श्लोक

तैलाभ्यङ्गे चिताधूमे मैथुने क्षौरकर्मणि।
तावद् भवति चाण्डालो यावत् स्नानं न चाचरेत्।

इस श्लोक से मतलब है कि जब आप अपने शरीर में तेल की मालिश करें, या फिर किसी शवयात्रा से लौटकर आए हो, किसी स्त्री या पुरुष के साथ प्रसंग किया हो या फिर आपने अपने बाल कटवाएं हो। इन स्थितियों में आपको जरूर नहाना चाहिए। इससे आपकी सेहत सही रहेगी।

दाह संस्कार से वापस आने के बाद 
अगर किसी की मृत्यु हो गई है और आप उसकी शवयात्रा में जा रहे हैं तो वहां से वापस आकर तुरंत स्नान करना चाहिए। बिना स्नान करें घर के अंदर भी प्रवेश नही करना चाहिए। आचार्य चाणक्य के अनुसार जब आप श्मशान जाते है तो वहां पर अनेकों तरह के कीटाणु होते है जो आपके शरीर के साथ कही न कही चिपक कर चले आते है। इसलिए तुरंत आकर नहाना चाहिए जिससे वह कीटाणु आपके घर में न फैलें। इसके साथ ही आपके और परिवार के किसी सदस्य की सेहत पर बुरा अर न पड़े।

शरीर की तेल से मालिश

हमारें शरीर को तेल की अधिक मात्रा में जरूरत होती है, क्योकि इसी से हमारा शरीर चमकदार और सेहतमंद बनता है। इसलिए सप्ताह में एक दिन जरूर तेल से मालिश करनी चाहिए, लेकिन साथ में इस बात का ध्यान भी रखना चाहिए कि तेल मालिश के बाद तुरंत नहा ले। ऐसा करने से आपके शरीर की पूरी गंदगी बाहर निकल जाएगी जिससे आपकी त्वचा चमकदार और सेहतमंद हो हो जाती। इसके साथ ही मालिस करने के तुरंत बाद स्नान करे। इसके बाद ही घर से बाहर कदम निकाले।

बाल कटवाने के बाद 
आचार्य चाणक्य ने बताया कि जब हम अपने बाल कटवाते है तो वह हमारे शरीर में छोटे-छोटे बाल चिपक जाते है जो बिना नहाए नहीं हट सकते है। इसलिए हमें नहाना जरुर चाहिए। जिससे हमें सेहत संबंधी कोई भी समस्या न हो। और बाल हमारे शरीर से हट जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!