कोरोना संक्रमित ध्‍यान दें… खान-पान में इन चीजों का रखें ध्‍यान, बिना जरूरत अस्‍पताल में न हों भर्ती






Guidelines for Corona Patients कोरोना संक्रमित मरीज ऑक्सीजन लेबल चेक करते रहें। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए मांस मछली फलों का सेवन करें। पैकेट वाला खाद्य पदार्थ का इस्तेमाल कम से कम करें। खुद अपने घर पर ऑक्सीजन सिलिंडर रखें।

कोरोना के नये स्ट्रेन में जल्द बुखार अथवा खांसी ठीक नहीं हो रहा है। इससे घबराने की जरूरत नहीं है। चिकित्सक के संपर्क में रहें। इस समय प्रत्येक लोग अपने-अपने घरों में ऑक्सीमीटर, थर्मामीटर आदि जरूरी के समान रखें। अगर बुखार 100 डिगी सेल्सियस से ऊपर हो तो कालपोल खिलाये। भर दिन में कालपोल का चार ग्राम डोज ले सकते हैं। गर्भवती महिलाओं व बच्चों के लिए भी कालपोल सुरक्षित है। अगर परिवार का कोई सदस्य कोरोना संक्रमित हो गया है तो घबराने की जरूरत नहीं है। ऑक्सीमीटर से लगातार ऑक्सीजन लेबल जांचते रहे। ऑक्सीजन लेबल 94 से नीचे आ रहा है तो तुरंत किसी चिकित्सक से संपर्क करें। आप घर पर रहकर भी इलाज करा सकते हैं। ऑक्सीजन सिलसिंडर खरीदकर मरीज को लगाना सीख लें।

इमरजेंसी की स्थिति में ही अस्पताल में भर्ती हों

कई बार देखा गया है कि कोरोना संक्रमित मरीज की स्थिति ठीक रहने के बावजूद अपने प्रभाव के इस्तेमाल से अस्पताल में भर्ती हो जाते हैं। ये मानवता के खिलाफ है। ध्यान रखें कि किसी जरूरतमंद के लिए एक बेड घट गया। हालांकि, अगर जरूरत हो तो बेशक भर्ती में होना चाहिए।

कोरोना से बचना है तो खानपान रखें दुरुस्त, जमकर पीये पानी::::::::::::::::

कोरोना संक्रमण का अभी तक कोई खास दवा नहीं है। सर्दी, बुखार और अन्य संक्रामक रोग में काम आने वाला दवा ही चलाया जाता है। इसी से मरीज ठीक हो रहे हैं। ध्यान रखने योग्य बातें ये हैं कि कोरोना संक्रमण दवा से नहीं बल्कि हमारे रोग प्रतिरोधक क्षमता से ठीक होता है। ऐसे में जो संक्रमित हो वो या जो नहीं भी संक्रमित हुए हैं उन्हें भी अपने खान-पान पर ध्यान रखना होगा। हेल्दी भोजन करें। प्रोटीन, बिटामिनयुक्त भोजन करें। मांस, मछली, चिकेन, दाल, मशरूम, पनीर आदि का सेवन स्वास्थ्य के लिए अच्छा होगा। वहीं, बिटामिन सी के लिए संतरा, नीबू आदि लेते रहे। भरपूर पानी पीना लाभदायक होता है।

खांसी-सर्दी में भी ले सकते हैं संतरा, नींबू

एक धारणा है कि खांसी, सर्दी की स्थिति में फल खासकर खट्टे फल, नीबू आदि नहीं खाना चाहिए। ये तथ्यहीन बातें हैं। चिकित्सक की राय माने तो बीमार व्यक्ति दिन या रात जब चाहे फल खा सकते हैं। अगर गले में खसखस है तो फल पर नमक और काली मिर्च का पाउडर छिड़कर कर खा सकते हैं इससे बीमारी जल्द ठीक होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!