चुनाव आयोग भी कोरोना की चपेट में, अब बंगाल में नहीं होगी पीएम की बड़ी रैली

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के तीन चरण बाकी हैं। रैलियों में जुटती भारी भीड़ और तेजी से फैलते कोरोना संक्रमण के बीच आवाज उठ रही है कि चुनाव जरूरी है या जिंदगी। इस बीच, ताजा खबर चुनाव आयोग से आ रही है। कोरोना वायरस के प्रकोप से चुनाव आयोग भी नहीं बच सका है। खबर है कि मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा और चुनाव आयुक्त राजीव कुमार कोरोना संक्रमित हो हो गए हैं। फिलहाल दोनों अधिकारी होम क्वारंटीन हैं और घर से ही वर्चुअली मीटिंग में शामिल हो रहे हैं।

इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तय किया है कि अब वे बंगाल में कोई बड़ी रैली नहीं करेंगे। बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच भारतीय जनता पार्टी ने बंगाल में अपनी चुनावी रैलियों को सीमित रखने का फैसला किया है। पार्टी की तरफ से बंगाल में अब कोई भी बड़ी रैली नहीं होगी और प्रधानमंत्री व अन्य नेताओं की रैलियों में अधिकतम 500 लोग ही जुट सकेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब शेष बचे चरणों में एक ही दिन रैली करेंगे और बिहार चुनाव की तर्ज पर पीएम की रैलियां वर्चुअल तरीके से होंगी। कोरोना से लोगों को सुरक्षित रखने के लिए भाजपा बंगाल में छह करोड़ मास्क और सैनिटाइगर का वितरण भी करेगी।

इससे पहले कोरोना के चलते मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी अपने चुनाव प्रचार में कटौती और बड़ी जनसभा नहीं करने की घोषणा की है। राहुल गांधी ने अपनी सभी रैलियां कोरोना के चलते रद्द कर दी थीं। कोरोना के दौर में भी चुनाव प्रक्रिया जारी रखने के लिए केंद्र सरकार और चुनाव आयोग की आलोचना होती रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!