कोरोना पेशेंट के साथ दुष्कर्म का प्रयास आरोपी वार्ड बॉय गिरफ्तार

घटना लोटस हॉस्पिटल के कोविड सेंटर गोल्डन विलेज हॉस्पिटल की घटना

ग्वालियर में कोविड हॉस्पिटल में भर्ती महिला से दुष्कर्म के प्रयास का मामला सामने आया है। आधी रात वार्ड बॉय ने कमरे की कुंडी अंदर से लगाकर कोरोना पॉजिटिव महिला के चेकअप के नाम पर उसके कपड़ों में हाथ डालकर शरीर को छूता रहा। विरोध करने पर जबरदस्ती की। शोर मचाने पर वार्ड बॉय वहां भाग गया। घटना शनिवार रात 11 बजे से 12 बजे के बीच लोटस हॉस्पिटल के कोविड सेंटर गोल्डन विलेज होटल हॉस्पिटल की है। इतना ही नहीं महिला के बेटे व जेठ के साथ आरोपी ने मारपीट भी की है। घटना की शिकायत कंपू थाना में दर्ज कराई गई है। परिजन ने कोविड हॉस्पिटल के डॉ. प्रशांत अग्रवाल पर भी आरोपी को बचाने और भगाने का आरोप लगाया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ छेड़छाड़ व दुष्कर्म के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी को तत्काल गिरफ्तार कर लिया गया है।

शिवपुरी की विवेकानंद कॉलोनी निवासी 45 वर्षीय महिला को कोरोना पॉजिटिव होने पर 16 अप्रैल की शाम को लोटस हॉस्पिटल के कोविड सेंटर गोल्डन विलेज होटल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। जहां शनिवार सुबह महिला को ऑक्सीजन लगा दी गई थी। शनिवार रात 11 बजे वार्ड बॉय विवेक लोधी महिला के रूम में पहुंचा। उसने पूछा कैसा लग रहा है। तब महिला ने कहा कि कुछ ठीक नहीं लग रहा है। इस पर वार्ड बॉय ने महिला के कपड़े की चेन खोलकर सीने पर हाथ रख दिया साथ ही शरीर को गंदी नीयत से छूने लगा। पहले महिला को लगा कि यह किसी तरह की जांच होगी जो कोविड मरीज को दी जाती होगी, लेकिन जब वार्ड बॉय ने अलग तरह की हरकत शुरू कर दी तो उन्होंने उससे मना किया। इसके बाद वह रूम से चला गया। पर रात 12 बजे वह फिर से रूम में आया। इस बार उसके इरादे नेक नहीं थे। वार्ड बॉय ने रूम की अंदर से कुंडी लगा दी। इसके बाद महिला से पूछा कैसा लग रहा है। इस पर महिला ने उससे कहा वह ठीक है तुम जाओ, लेकिन आरोपी ने कहा कि हार्ट बीट तो नहीं बढ़ी है। यह कहते हुए उसने महिला के कपड़ों में हाथ डालना शुरू कर दिया जबरदस्ती की। उसके इरादे समझकर महिला ने शोर मचाया तो आरोपी भाग गया।

आरोपी ने महिला के बेटे, जेठ को भी पीटा

घटना से घबराई महिला ने फोन कर अपने बेटे को बुलाया। बेटा अपने ताऊ के साथ वहां पहुंचा। बेटे को महिला ने पूरी बात बताई। जब बेटा हॉस्पिटल के नीचे आया तो बाहर ही आरोपी विवेक लोधी खड़ा था। जिसे उसने पकड़ा तो उसने महिला के बेटे और जेठ के साथ भी मारपीट की। यहां हॉस्पिटल के डॉक्टर व स्टाफ आ गया और आरोपी को वहां से भगा दिया।

हॉस्पिटल संचालक पर भी गंभीर आरोप

पीड़ित महिला के बेटे ने इस मामले में कोविड हॉस्पिटल के संचालक डॉ. प्रशांत अग्रवाल पर भी आरोपी को बचाने और मौके से भगाने का आरोप लगाया है। पीड़ित के बेटे ने बताया कि जब आरोपी को उन्होंने पकड़ा तो डॉ. प्रशांत अग्रवाल वहां आ गए। विवेक लोधी को वहां से भगा दिया। जब पीड़ित के बेटे ने कहा कि यह तो आरोपी था पुलिस केस है आपने इसे भगा कैसे दिया। इस पर डॉक्टर का जवाब था कि आरोपी पकड़ना उनका काम नहीं है।

इस घटना से कई सवाल खड़े हो गए हैं

निजी कोविड सेंटर में वार्ड बॉय की यह घटना अपने आप में संकेत है कि कोविड पॉजिटिव के साथ अंदर क्या-क्या हो सकता है। आशंका है कि वार्ड बॉय ने यह पहली बार नहीं किया हो। पर बदनामी के डर से यह बात बाहर न आई हो। इसकी भी जांच की जा रही है।

कोविड वार्ड में पहुंचे पुलिसकर्मी

इस घटना के बाद महिला से पूरी घटना के संबंध में पूछताछ करने पुलिस की महिला ऑफिसर सहित अन्य पुलिसकर्मी कोविड वार्ड में अंदर तक पहुंचे। यहां बयान लेने के बाद वह थाने लौटे। ऐेसे उनको भी कोविड का खतरा पैदा होता है।

आरोपी को किया गिरफ्तार

आरोपी ने छेड़छाड़ और दुष्कर्म का प्रयास किया है। इस पर तत्काल मामला दर्ज करने के बाद दबिश देकर आरोपी विवेक लोधी को गिरफ्तार कर लिया है। डॉ. प्रशांत अग्रवाल पर लगाए गए आरोपों की जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!