शुगर के मरीजों के लिए हरी मिर्च, तो मोटे लोगों के लिए लाल मिर्च है रामबाण; जानें दोनों में कौन सी है ज्यादा फायदेमंद

भोजन में तीखापन लाने के लिए मिर्च का उपयोग होता है। मिर्च के बिना कोई भी भारतीय भोजन अधूरा है। बहुत से लोगों को भोजन में लाल मिर्च का तड़का पसंद आता है, तो कुछ लोगों को कच्ची हरी मिर्च खाने की आदत होती है। विटामिन और मिनरल्स से भरपूर मिर्च हमारे दैनिक आहार को स्वादिष्ट बनाती है। जहां लाल मिर्च पाउडर के रूप में इस्तेमाल होती है, वहीं हरी मिर्च को पीसकर या काटकार खाया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि किस प्रकार की मिर्च आपके स्वास्थ के लिए फायदेमंद है।

आमतौर पर भारतीय घरों में दो तरह की मिर्च इस्तेमाल होती है। लाल मिर्च और हरी मिर्च। दोनों के अलग-अलग स्वाद और स्वास्थ्य लाभ हैं। हरी मिर्च में मौजूद पानी के सूखने पर यह लाल रंग की हो जाती है और हरी मिर्च से ज्यादा तीखी भी। इस बात पर बहस छिड़ी हुई है कि दोनों में से कौन सी मिर्च ज्यादा बेहतर है। हर जगह से लोगों ने अपनी अलग-अलग राय दी है, जिसने लोगों को भ्रमित किया है। अस्पष्टता के बावजूद लोग लाल मिर्च की जगह हरी मिर्च का सेवन करने लगे हैं। तो चलिए इस आर्टिकल में हम बताते हैं कि कौन सी मिर्च आपके सेहत के लिए ज्यादा अच्छी है।

​सेहत के लिए लाल मिर्च या हरी मिर्च-

लाल मिर्च के मुकाबले हरी मिर्च आपकी सेहत के लिए अच्छी मानी जाती है। दरअसल, हरी मिर्च में पानी की मात्रा ज्यादा और कैलोरी न के बराबर है। यह उन लोगों के लिए बहुत फायदेमंद है, जो वजन घटाने की सोच रहे हैं। हरी मिर्च में बीटा कैरोटीन, एंटीऑक्सीडेंट और एंडोर्फिन पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है, जबकि लाल मिर्च पेट में सूजन का कारण बनती है,जो अल्सर का संकेत है। बाजार से खरीदी गई लाल मिर्च में आर्टिफिशियल कलर्स मिलाए जाने की वजह से यह नुकसान पहुंचाती है।

हरी मिर्च के फायदे-

,हरी मिर्च डायबिटीज के बेहतरीन उपचारों में से एक है। नियमित रूप से हरी मिर्च के सेवन से इंसुलिन लेवल कंट्रोल करने में मदद मिलती है। इससे हाई ब्लड शुगर लेवल को संतुलित करना बेहद आसान हो जाता है।

पाचन को बढ़ावा दे-

डाइट्री फाइबर से भरपूर हरी मिर्च बेहतर पाचन में मददगार है। मिर्च में विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा मल त्याग को आसान बनाने के साथ ही लार उत्पादन को बढ़ाती है।

बढ़े हुए वजन को कम करने के लिए हरी मिर्च खाना अच्छा तरीका है। इसमें कैलोरी को जलाने और मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने की क्षमता है। जिस वजह से वजन घटाने की आपकी मेहनत थोड़ी कम हो जाएगी।

दिल को स्वस्थ रखे-

हरी मिर्च में पर्याप्त बीटा कैरोटीन ह्दय के काम करने की क्षमता को बेहतर बनाए रखता है। इसके अलावा इम्यूनिटी में सुधार के लिए हरी मिर्च का सेवन लाभकारी है।

लाल मिर्च के फायदे-

ब्लड प्रेशर कंट्रोल करे- पोटेशियम जैसे तत्वों से भरपूर लाल मिर्च के सेवन से ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखने में मदद मिलती है।

कैलोरी बर्न- लाल मिर्च में कैप्साइसिन नामक एक यौगिक पाया जाता है, जिससे कैलोरी बर्निंग प्रोसेस में तेजी आती है। यह बॉडी के मेटाबॉलिज्म को बढ़ाकर सीधे कैलेारी बर्न करने में आपकी मदद करता है।

दिल की बीमारियों से निजात दिलाए- लाल मिर्च खाने से आप दिल की बीमारियों के खतरे को कम कर पाते हैं। इसे खाने से ब्लड क्लॉटिंग रुक जाती है और शरीर में ब्लड सकुर्लेशन ठीक रहता है।

खाने में स्वास्थ वर्धक क्या है हरी मिर्च या लाल मिर्च-

हरी और लाल मिर्च दोनों के अपने फायदे हैं। बड़ा अतंर ये है कि भोजन में इनका सेवन कैसे किया जाना चाहिए। हरी मिर्च लोग कच्ची ही खाते हैं, लेकिन लाल मिर्च के साथ ऐसा नहीं है। लाल मिर्च पाउडर के रूप में इस्तेमाल होती है।

लाल मिर्च में मिलावट की संभावना बढ़ जाती है, इसलिए यह शरीर के लिए हानिकारक है। हालांकि, कुछ रेस्तरां ने हरी मिर्च को सुखाकर इसका पाउडर बनाकर भोजन में डालने की शुरूआत की है। यह पूरी तरह से केमिकल फ्री होने के साथ स्वास्थ के लिए भी अच्छी है।

सूखी लाल मिर्च या फिर लाल मिर्च पाउडर बेहतर है-

लाल मिर्च पाउडर की तुलना में साबुत सूखे लाल मिर्च सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। मूल रूप से यह सूखी हरी मिर्च ही है। ये मसाले के लिए कम और स्वाद के लिए ज्यादा इस्तेमाल की जाती है। इसलिए लाल मिर्च पाउडर के बजाय सूखी लाल मिर्च का उपयोग ज्यादा सुरक्षित है।

मिर्च खाने का सही तरीका-

लाल मिर्च और हरी मिर्च का सेवन करने का सबसे अच्छा तरीका है इन्हें कच्चा खाना। यह पाउडर में सिंथेटिक कलर्स की मिलावट और मिश्रण से जुड़ी किसी भी समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद करेंगी। जब भी आप मिर्च खरीदें, तो इन्हें रेफ्रिजरेटर में स्टोर कर दें, ताकि यह फ्रेश बनी रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!